YOU’RE BROKE BECAUSE YOU WANT TO BE -How t… Larry Winget Hindi Book Summary

  YOU’RE BROKE BECAUSE YOU WANT TO BE -How t… Larry Winget इंट्रोडक्शन क्या अभी आप पैसों की तंगी से जूझ रहे हैं? क्या आपने कभी रुककर सोचा है कि आपकी हालत इसलिए ऐसी है क्योंकि आप ऐसा चाहते हैं? यह बात सुनने में काफी कड़वी लग सकती है और ऑथर लैरी विंगेट इस समरी में यही सच बताना चाहते हैं. खुद की वजह से ही लोग इस हालत तक पहुँचते हैं. गरीब होना और दिवालिया होना, दो अलग बातें हैं. गरीब लोग ऐसे माहौल में रहते हैं जहाँ से ऊपर उठना मुश्किल और काफी हद तक नामुमकिन होता है. वे दिन रात सिर्फ किसी तरह अपनी जिंदगी जीने के लिए जद्दोजहद करते हैं. जबकी दिवालिया होना वह सिचुएशन है जिसमें आप या तो कम कमाते हैं या फिर आप इनकम से बहुत ज़्यादा खर्च करते हैं. इस समरी को समझकर, आप बहानेबाज़ी करना बंद कर देंगे और अपनी जिम्मेदारी लेना शुरू करना सीखेंगे. पहले आप जो करते थे, अगर आप आगे भी वही काम करते रहेंगे, तो आपकी जिंदगी में कुछ भी नहीं बदलेगा.   इसमें आप फाइनेंसियल तौर पर किस तरह से मज़बूत और कामयाब बन सकते हैं, आप उन तरीकों को भी सीखेंगे. ऐसा करने के लिए आपको अपने खर्चों को कम करना होगा और इनकम को बढ़ाना होगा. लैरी ने अपने कुछ दोस्तों की ऐसी कहानियां भी शेयर की हैं जो काफ़ी inspire करती हैं. उनके दोस्तों ने अपनी शुरुवात बिलकुल ज़ीरो से की थी, लेकिन अब उनके पास वह सब कुछ है जिसका उन्होंने सपना देखा था. हमें उम्मीद है कि ये कहानियाँ आपको आपकी ज़िंदगी को संभालने और नामुमकिन को मुमकिन करने के लिए इंस्पायर करेंगी. तो क्या आप एक बेहतर जिंदगी जीना शुरू करने के लिए तैयार हैं? यह समरी आपको सिर्फ मुश्किलों से जूझने के बजाय आगे बढ़ने में हेल्प करेगी. Money Matters ज्यादातर लोग अपनी जिंदगी से बहुत कम्फर्टेबल हो जाते हैं. कम्फर्टेबल का मतलब है कि आपको न बुरा लगता और न ही अच्छा. आप अपनी बेसिक ज़रूरतों को पूरा कर लेते हैं और आपको इनके बारे में डेली चिंता करने की ज़रूरत नहीं पड़ती हैं. लेकिन, जब आपको तुरंत एक कार खरीदने की इच्छा होती हैं, तो आप वह खरीद नहीं पाते. कम्फ़र्टेबल लोग अपनी लाइफ में कभी चेंज लाना नहीं चाहते हैं. इसलिए,   तो आप वह खरीद नहीं पाते. कम्फर्टेबल लोग अपनी लाइफ में कभी चेंज लाना नहीं चाहते हैं. इसलिए, उन्हें अडजस्टमेंट करने के लिए अंकम्फ़र्टेबल होने की ज़रूरत पड़ेगी. इन अडजस्टमेंट्स के कारण वे आगे बढ़ पाएंगे. पैसा आपकी पहचान बनाता है. यह बात कड़वी है पर सच है. पैसा आपकी जिंदगी की बहुत से बातों के बारे में तय करता हैं. यह तय करता हैं कि आप कैसी जगह रहेंगे, आपको कैसी एजुकेशन मिलेगी, आपके कैसे दोस्त बनेंगे. अगर आपकी तबियत खराब हो जाती हैं, तो आपका पैसा तय करता हैं कि आपको किस तरह का डॉक्टर मिलेगा. अगर कोई कानूनी प्रॉब्लम हो, तो पैसा यह तय करता है कि आप सबसे अच्छा लॉयर रख पाएंगे या नहीं. पैसा आपकी जिंदगी के रास्ते तय कर सकता हैं. अगर आप पैसों के बीच बड़े हुए हैं, तो हो सकता हैं कि आप एक बहुत ही आराम की जिंदगी जी रहे हैं और आपके आगे ढेरों अच्छे मौके हैं. लेकिन, अगर आप लिमिटेड चीज़ों के साथ बड़े हुए हैं, तो आपके लिए फाइनेंसियल आज़ादी हासिल करना थोड़ा मुश्किल होगा. पैसा आपकी जिंदगी के बारे में बहुत कुछ बयान कर सकता हैं, लेकिन एक इंसान के तौर पर आपकी पहचान पैसों से कहीं अलग और बहुत ज़्यादा हैं. ऐसी बहुत सी चीजें हैं जो पैसों से नहीं मिल सकती. पैसा आपको खुशी या दोस्त नहीं दे सकता. पैसा किसी से 1 से A   बहुत सा चाज ह जा पसा स नही मिल सकता. पसा आपको खुशी या दोस्त नहीं दे सकता. पैसा किसी जादू से आपके प्रॉब्लम को सॉल्व नहीं कर सकता. पैसा आपको कामयाब या फिर एक बेहतर इंसान नहीं बना सकता. तो पैसा क्या कर सकता है? पैसा आपको फाइनेंसियल सिक्योरिटी दे सकता है. ब्रोक यानी दिवालिया होने पर लोग अपनी सहूलियत के लिए अपने हालात का बहाना देना पसंद करते हैं. सबसे कॉमन यह देखा गया है कि कोई बहुत मेहनत करता हैं लेकिन कभी अमीर नहीं बन पाता. अमीर बनने के लिए सिर्फ़ मेहनत ही काफ़ी नहीं है बल्कि कुछ और भी है जिसकी जरूरत पड़ती है. बेशक, कड़ी मेहनत पहला स्टेप हैं. बाकी, आपमें आगे बढ़ने की इच्छा होनी चाहिए. 1 आइए, पैट्रिक का एग्जाम्पल लेते हैं. पैट्रिक एक ऐसा शख्स है जिसने अपने सारे पेंडिंग पेमेंट चुकाए और ज़िंदा रहने के लिए जो कुछ करना था वो किया और कर रहा था. वह एक फैशन डिजाइनर हैं, जिसने अपनी करियर की शुरुआत में ही, कुछ न होने के बावजूद, जीना सीख लिया था. पैट्रिक से 18 से 20 घंटे काम करता था. वह एक हफ्ते में अपने खाने के लिए सिर्फ 20 डॉलर खर्च करता था. आज वह सक्सेसफुल है और वह बहुत पैसा कमाता है. कामयाबी और खुशहाली कभी आसानी से नहीं मिलते. इसके लिए बहुत मेहनत और जुनून की ज़रूरत पड़ती हैं,   लिए सिर्फ़ मेहनत ही काफ़ी नहीं है बल्कि कुछ और भी है जिसकी जरूरत पड़ती है. बेशक, कड़ी मेहनत पहला स्टेप हैं. बाकी, आपमें आगे बढ़ने की इच्छा होनी चाहिए. आइए, पैट्रिक का एग्जाम्पल लेते हैं. पैट्रिक एक ऐसा शख्स है जिसने अपने सारे पेंडिंग पेमेंट चुकाए और ज़िंदा रहने के लिए जो कुछ करना था वो किया और कर रहा था. वह एक फैशन डिजाइनर हैं, जिसने अपनी करियर की शुरुआत में ही, कुछ न होने के बावजूद, जीना सीख लिया था. पैट्रिक से 18 से 20 घंटे काम करता था. वह एक हफ्ते में अपने खाने के लिए सिर्फ 20 डॉलर खर्च करता था. आज वह सक्सेसफुल है और वह बहुत पैसा कमाता है. कामयाबी और खुशहाली कभी आसानी से नहीं मिलते. इसके लिए बहुत मेहनत और जुनून की ज़रूरत पड़ती हैं. दिवालिया होने के कई कारण हो सकते हैं, लेकिन असली वजह सिर्फ आप होते हैं. आपको अपनी चॉइस और बर्ताव के लिए जिम्मेदारी लेना शुरू करना चाहिए. आपको उन वजहों को ढूंढ़ना चाहिए जो आपको आगे बढ़ने से रोकते हैं और उनका सोल्यूशन निकालना चाहिए.   YOU’RE BROKE BECAUSE YOU WANT TO BE -How t… Larry Winget Your Real Problem पैसे की प्रॉब्लम जैसी कोई बात होती ही नहीं हैं. आपके दूसरे प्रॉब्लम की वजह से पैसों की कमी होती है. ये प्रॉब्लम हैं आपकी सोच की, ऐटिटूड की, डिसिप्लिन की, और आत्म-सम्मान जैसी बातों की. प्रॉब्लम आपके वॉलेट या बैंक अकाउंट में नहीं होते, यह आपके अंदर होती है. आपकी बातों से ज़्यादा दमदार आपके काम होते हैं. अगर आपके काम आपके हिसाब से न हो, तो इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप क्या कहते हैं. अगर आप अपने पैसों को ट्रैक करेंगे, तो आपको पता चलेगा कि आप अपनी लाइफ में किस चीज को इम्पोर्टेस देते हैं. अपने पैसों को ठीक रखने के लिए आपको अपने प्रायॉरिटीज़ को ठीक करना होगा. प्रायॉरिटीज़ आपकी लाइफ के वह पहलु हैं, जो आपके लिए सबसे ज़रूरी होते हैं. अमीर बनने का सीक्रेट हैं अमीर बनने का फैसला करना. एक बार जब आप यह फैसला कर लेते हैं, तो उसे हासिल करने के लिए आपको अपनी पूरी ताकत लगा देनी चाहिए. खुद पर काम करना, अपनी लाइफ   पारा. एका पार जपजापपल पाता पार पाता उसे हासिल करने के लिए आपको अपनी पूरी ताकत लगा देनी चाहिए. खुद पर काम करना, अपनी लाइफ पर काम करना और आगे बढ़ने के लिए काम करना, इन सब के लिए बहुत मेहनत करनी पड़ती हैं. ऑथर लैरी विंगेट ने 13 साल की उम्र में अमीर बनने का फैसला किया था. उनके क्लास मेट्स उनका मजाक उड़ाते थे क्योंकि उनकी जींस पर छेद था. उन्होंने उनकी गरीबी का मज़ाक उड़ाया था क्योंकि उनके पास वही एक जींस थी, उससे ज़्यादा वह खरीद नहीं सकते थे. लैरी इस अपमान को सहन नहीं कर पाए और तभी से उन्होंने अमीर बनने का फैसला लिया था. उन्होंने कसम खाई थी कि फिर कभी उस तरह के दर्द से नहीं गुज़रेंगे. लैरी के पास तब कुछ नहीं था, लेकिन उनके पास आगे बढ़ने के लिए जुनून था, ज़िद थी और मज़बूत इरादा था. कॉलेज के दिनों में उन्होंने पैसे कमाने के लिए कई तरह के काम किए. उन्होंने हाउसप्लांट और गमले बेचे. वह रात में टेलीफोन ऑपरेटर का काम करते और दिन में कॉलेज जाते. यह उन्हें बहुत थका देता था, लेकिन लैरी को अपनी जिंदगी से ज़्यादा से ज़्यादा पाने के लिए जो कुछ करना था, उन्होंने वह किया. नौजवान लैरी के अमीर बनने का फैसला करने के तीस साल बाद, आखिरकार वह अमीर बने. वह एक ऐसे एग्जाम्पल हैं जिन्होंने अपनी प्रायॉरिटीज़ को अहमियत दी और उसे पूरा करने के लिए काम किया.   Know Where You Are आप अपनी जिंदगी में तब तक आगे नहीं बढ़ सकते, जब तक आपको यह मालूम न हो की आप कहाँ खड़े हैं, आपको किन पहलुओं पर काम करना हैं. कुछ ऐसे भी लोग होते हैं जिन्हें यह तक पता नहीं होता की वे कितना खर्चा करते हैं. इस तरह बिना जाने बिना सोचे खर्च करने पर फाइनेंसियल प्रॉब्लम खड़ी हो सकती हैं. अगर आप अपनी कमाई से ज़्यादा खर्च कर देते हैं, तो आपको अपनी चॉइस पर दुःख होना चाहिए. आपको इस बात की जिम्मेदारी लेनी चाहिए और इस सच को मान लेना चाहिए कि आप खुद की वजह से ही इस हालात में पहुंचे हैं. वैसे, खुशी से ज़्यादा दर्द इंस्पिरेशन का काम करता हैं. अगर आपको दर्द या तकलीफ महसूस होती हैं, तो यह आपके बुरे चॉइस से निकलने का पहला स्टेप हैं. सच्चाई कितनी भी कड़वी क्यों न हो, आपको इसका सामना करना चाहिए. अगर आप ऐसा कर पाए, तभी आप बदलाव ला सकेंगे. अपने शो के एक एपिसोड में, लैरी विंगेट ने जॉन नाम के एक लड़के के साथ काम किया था, जो पैसों के लिए अपने पेरेंट्स और मंगेतर पर डिपेंडेंट था. जॉन की कार उसकी मंगेतर के नाम पर थी और क्रेडिट कार्ड मां के नाम पर. वह अपने मंगेतर के घर में रहता था और घर के खर्चों में एक पैसा   मंगेतर के घर में रहता था और घर के खर्चों में एक पैसा का भी कंट्रीब्यूशन नहीं देता था. जॉन खाना खाने के लिए हर बार बाहर जाता था क्योंकि उसे खाना बनाना या बचा हुआ या फ्रिज का फ्रोजन फूड खाना पसंद नहीं था. जॉन को एहसास तक नहीं था कि उसकी वजह से उससे जुड़े हुए लोगों को कितनी तकलीफ पहुँच रही थी. जॉन रोने लगा और उसने कहा कि वह शो में रहना नहीं चाहता क्योंकि वह नेशनल टेलीविज़न पर बेवकूफ दिखाई देगा. लेकिन सच्चाई यह थी कि जॉन पहले से ही बेवकूफी भरा काम कर रहा था, और अब उसे उसके नतीजे का सामना करने की जरूरत थी. अगर लोग इस वजह से उसे जज करेंगे, तो करे. लेकिन आगे फ्यूचर में अगर वह बदल जाता हैं, तो कोई भी उसे दोबारा सख्ती से जज नहीं करेगा. फिलहाल तो उसने सबसे मुश्किल कदम उठाया था, वह था अपने काम की जिम्मेदारी लेना. जब लोगों के पास कोई प्लान नहीं होता, तब वे खुद को पैसों की तंगी से जूझता हुआ पाते हैं. आपको अपनी जिंदगी को एक मुसीबत बनने से बचाने के लिए हमेशा प्लान बनाना चाहिए. आपको अपनी जिंदगी से कैसी उम्मीदें हैं, आप क्या चाहते हैं, इसके लिए आपका नज़रिया साफ़ होना चाहिए. अपनी मंज़िल तक पहुँचने के लिए कौन सा रास्ता अपनाना हैं, आपको यह भी तय करना होगा. आपको अपने फ्यूचर में क्या चाहिए,   मंगेतर के घर में रहता था और घर के खर्चों में एक पैसा का भी कंट्रीब्यूशन नहीं देता था. जॉन खाना खाने के लिए हर बार बाहर जाता था क्योंकि उसे खाना बनाना या बचा हुआ या फ्रिज का फ्रोजन फूड खाना पसंद नहीं था. जॉन को एहसास तक नहीं था कि उसकी वजह से उससे जुड़े हुए लोगों को कितनी तकलीफ पहुँच रही थी. जॉन रोने लगा और उसने कहा कि वह शो में रहना नहीं चाहता क्योंकि वह नेशनल टेलीविज़न पर बेवकूफ दिखाई देगा. लेकिन सच्चाई यह थी कि जॉन पहले से ही बेवकूफी भरा काम कर रहा था, और अब उसे उसके नतीजे का सामना करने की जरूरत थी. अगर लोग इस वजह से उसे जज करेंगे, तो करे. लेकिन आगे फ्यूचर में अगर वह बदल जाता हैं, तो कोई भी उसे दोबारा सख्ती से जज नहीं करेगा. फिलहाल तो उसने सबसे मुश्किल कदम उठाया था, वह था अपने काम की जिम्मेदारी लेना. जब लोगों के पास कोई प्लान नहीं होता, तब वे खुद को पैसों की तंगी से जूझता हुआ पाते हैं. आपको अपनी जिंदगी को एक मुसीबत बनने से बचाने के लिए हमेशा प्लान बनाना चाहिए. आपको अपनी जिंदगी से कैसी उम्मीदें हैं, आप क्या चाहते हैं, इसके लिए आपका नज़रिया साफ़ होना चाहिए. अपनी मंज़िल तक पहुँचने के लिए कौन सा रास्ता अपनाना हैं, आपको यह भी तय करना होगा. आपको अपने फ्यूचर में क्या चाहिए,   जॉन को एहसास तक नहीं था कि उसकी वजह से उससे जुड़े हुए लोगों को कितनी तकलीफ पहुँच रही थी. जॉन रोने लगा और उसने कहा कि वह शो में रहना नहीं चाहता क्योंकि वह नेशनल टेलीविज़न पर बेवकूफ दिखाई देगा. लेकिन सच्चाई यह थी कि जॉन पहले से ही बेवकूफी भरा काम कर रहा था, और अब उसे उसके नतीजे का सामना करने की जरूरत थी. अगर लोग इस वजह से उसे जज करेंगे, तो करे. लेकिन आगे फ्यूचर में अगर वह बदल जाता हैं, तो कोई भी उसे दोबारा सख्ती से जज नहीं करेगा. फिलहाल तो उसने सबसे मुश्किल कदम उठाया था, वह था अपने काम की जिम्मेदारी लेना. जब लोगों के पास कोई प्लान नहीं होता, तब वे खुद को पैसों की तंगी से जूझता हुआ पाते हैं. आपको अपनी जिंदगी को एक मुसीबत बनने से बचाने के लिए हमेशा प्लान बनाना चाहिए. आपको अपनी जिंदगी से कैसी उम्मीदें हैं, आप क्या चाहते हैं, इसके लिए आपका नज़रिया साफ़ होना चाहिए. अपनी मंज़िल तक पहुँचने के कौन सा रास्ता अपनाना हैं, आपको यह भी तय करना होगा. आपको अपने फ्यूचर में क्या चाहिए, में इसका पता होना चाहिए. आपको अभी से अपने plan पर काम करने के लिए अपनी एनर्जी लगाना शुरू करना होगा.   YOU’RE BROKE BECAUSE YOU WANT TO BE -How t… Larry Winget How to Cut Your Expenses and Increase Your Income आप अपनी जिंदगी में आगे तब तक नहीं बढ़ सकते जब तक आप उन चीजों को छोड़ने को तैयार नहीं होंगे जो आपके पैसों की तंगी के लिए ज़िम्मेदार हैं. सबसे पहले, आपको बेकार की चीज़ों पर खर्च करना बंद करना होगा. पैसों को ज़रूरी चीजें जैसे बिजली, गैस के बिल, पानी और खाने पर खर्च करना चाहिए. अपने खर्चों को ट्रैक करने के लिए आपको एक जर्नल या डायरी रखनी चाहिए, ताकि आपको यह मालूम हो कि आप डेली कौन से केटेगरी में कितना खर्च करते हैं. अगर महीने के आखिर में आप देखते हैं कि आपने कुछ गैर ज़रूरी चीज़ों पर खर्च किया हैं, तो आप आइंदा आने वाले महीने से वह नहीं करेंगे. बदलाव लाने के लिए कोई भी बात छोटी नहीं होती. आपके मंज़िल तक आपको पहुंचाने में हर कोशिश फायदेमंद होता हैं. कुछ काम हैं जिन्हें आप कर सकते हैं, जैसे कि केबल टेलीविजन और हाई-स्पीड इंटरनेट कनेक्शन छोड़ दीजिए. सस्ती गाडी लीजिए, एक सस्ते घर में रहिए, अक्सर बाहर खाना बंद कर दीजिए. जिम मेम्बरशिप या सैलन जाना छोड दीजिए. स्मोक करना   हैं, जैसे कि केबल टेलीविजन और हाई-स्पीड इंटरनेट कनेक्शन छोड़ दीजिए. सस्ती गाडी लीजिए, एक सस्ते घर में रहिए, अक्सर बाहर खाना बंद कर दीजिए. जिम मेम्बरशिप या सैलून जाना छोड़ दीजिए. स्मोक करना छोड़ दीजिए. यह कुछ छोटे-छोटे स्टेप्स हैं लेकिन यह आपके फाइनेंस पर बड़ा असर डालेंगे. जब आप कुछ चीज़ों को छोड़ देंगे तो उनकी जगह आपको अपनी जिंदगी की वैल्यू बढ़ाने के लिए कुछ चीजें जोड़नी भी चाहिए. अगर आप केबल टीवी छोड़ते हैं, तो उसकी जगह आप अच्छे सेल्फ-इम्प्रूवमेंट बुक्स ला सकते हैं. अगर आपने बाहर जाना छोड़ दिया हैं, तो आप अपने घर पर ही एंटरटेनमेंट के लिए कुछ तरीके अपना सकते हैं जैसे कि आप फैमिली के साथ कुछ गेम खेल सकते हैं. आपको आगे बढ़ चढ़कर उन खाली जगहों को भरने के लिए अपना मनचाहा तरीका अपनाना चाहिए लेकिन सोच समझकर कुछ प्रोडक्टिव चुनें, ऐसा कुछ ना चुनें जिससे आपका नुक्सान हो. खर्चों में कटौती करने के साथ-साथ आपको अपना इनकम भी बढ़ाना चाहिए. ज़्यादातर लोगों के लिए इसका मतलब होता है दूसरी जॉब करना. दो जॉब करने का मतलब हैं रेस्ट करने के लिए कम टाइम और फन करने लिए कोई मौका नहीं. लेकिन, आगे जाकर इसकी वजह से आपको एक सैलरी की तंगी में दिन गुज़ारने की ज़रूरत नहीं पड़ेगी. लेकिन, अक्सर लोग पैसे बनाने के लिए मेहनत नहीं करना चाहते हैं. वे बस   तो करना ही पड़ेगा. आराम की जिंदगी जीने के लिए आपको शुरू में कुछ तकलीफों का सामना करना ही होगा. ” अपना इनकम बढ़ाने के लिए दूसरी जॉब करने के अलावा, आप कुछ और भी कर सकते हैं. जैसे कि आप कुछ सामान बेच सकते हैं. आपके पास महंगे या अनचाही चीजें जैसे बाइक, बैग, जूते हों तो आप उसे बेच सकते हैं. आपको इन चीज़ों से ख़ुशी तो मिलती हैं, पर फाइनेंसियल सिक्योरिटी से आपको ज़्यादा ख़ुशी और मन की शांति हासिल होगी. ज़्यादातर लोग अपनी चीज़ों को बेच नहीं पाते क्योंकि उन्हें अपनी चीज़ों से अटैचमेंट होता हैं, लेकिन यह सही नहीं हैं, हेल्थी नहीं जब लोगों के पास ज़्यादा पैसा आना शुरू हो जाता है, तो वे लक्ज़री आइटम खरीदना चाहते हैं ताकि वे दिखा सके कि उन्होंने कुछ हासिल किया हैं. लेकिन, यह आइटम शायद ही उनकी ज़रूरतों को पूरा करने के लिए खरीदे जाते हैं. यह बस उनकी चाहत होती हैं. मेहनत करने के बाद रिवॉर्ड मिलना तो जायज़ हैं, लेकिन जब यह आइटम प्रैक्टिकल नहीं होते, तो यह परेशानी बन जाते हैं. एग्जाम्पल के लिए लैरी विंगेट को ही लीजिए. उन्होंने रिवॉर्ड के तौर पर अपने लिए कन्वर्टिबल पोर्श कैरेरा र वीटा गट नरवाल काटीं श्री गट   रिवॉर्ड के तौर पर अपने लिए कन्वर्टिबल पोर्श कैरेरा कार खरीदा. यह एक प्रैक्टिकल कार नहीं थी. यह सिर्फ़ शो ऑफ कार थी जिसे लोगों को दिखाने के लिए लिया जाता है. इसलिए, लैरी को अपने और अपनी पत्नी के लिए तीन और कार खरीदने पड़े, टोटल मिलाकर उनके पास चार कार थीं. इससे उनके लिए मुश्किल खड़ी हो गई. यह कार कामयाबी की निशानी नहीं बल्कि सर दर्द बन गई. वह इसे शायद ही कभी चला पाते थे क्योंकि उन्हें हमेशा ट्रेवल करना होता था. इस कार के टायर खराब होने लगे, उसकी बैटरी भी बिगड़ने लगी. अब यह कार बेवकूफी की निशानी बन गई थी. लोगों को यह समझना चाहिए कि किसी ऐसी चीज़ को उन्हें कामयाबी के यादगार के तौर पर रखने की ज़रूरत नहीं हैं, खासकर तब जब यह चीज़ उन्हें फायदा कम और नुकसान ज़्यादा पहुँचाए. आपको अपनी लाइफ को कचरे और बेकार की चीज़ों से दूर रखना चाहिए और उन चीज़ों से छुटकारा पाना चाहिए जो आपके लिए परेशानी का कारण बन गए हों. ऐसा करने पर, आप नई आदतों और सोचने के तरीकों के लिए जगह बना पाएंगे जो आपको अपनी जिंदगी में आगे बढ़ाएंगे.   YOU’RE BROKE BECAUSE YOU WANT TO BE -How t… Larry Winget How to Cut Your Expenses and Increase Your Income आप अपनी जिंदगी में आगे तब तक नहीं बढ़ सकते जब तक आप उन चीजों को छोड़ने को तैयार नहीं होंगे जो आपके पैसों की तंगी के लिए ज़िम्मेदार हैं. सबसे पहले, आपको बेकार की चीज़ों पर खर्च करना बंद करना होगा. पैसों को ज़रूरी चीजें जैसे बिजली, गैस के बिल, पानी और खाने पर खर्च करना चाहिए. अपने खर्चों को ट्रैक करने के लिए आपको एक जर्नल या डायरी रखनी चाहिए, ताकि आपको यह मालूम हो कि आप डेली कौन से केटेगरी में कितना खर्च करते हैं. अगर महीने के आखिर में आप देखते हैं कि आपने कुछ गैर ज़रूरी चीज़ों पर खर्च किया हैं, तो आप आइंदा आने वाले महीने से वह नहीं करेंगे. बदलाव लाने के लिए कोई भी बात छोटी नहीं होती. आपके मंज़िल तक आपको पहुंचाने में हर कोशिश फायदेमंद होता हैं. कुछ काम हैं जिन्हें आप कर सकते हैं, जैसे कि केबल टेलीविजन और हाई-स्पीड इंटरनेट कनेक्शन छोड़ दीजिए. सस्ती गाडी लीजिए, एक सस्ते घर में रहिए, अक्सर बाहर खाना बंद कर दीजिए. जिम मेम्बरशिप या सैलन जाना छोड दीजिए. स्मोक करना   मेम्बरशिप या सैलून जाना छोड़ दीजिए. स्मोक करना छोड़ दीजिए. यह कुछ छोटे-छोटे स्टेप्स हैं लेकिन यह आपके फाइनेंस पर बड़ा असर डालेंगे. जब आप कुछ चीज़ों को छोड़ देंगे तो उनकी जगह आपको अपनी जिंदगी की वैल्यू बढ़ाने के लिए कुछ चीजें जोड़नी भी चाहिए. अगर आप केबल टीवी छोड़ते हैं, तो उसकी जगह आप अच्छे सेल्फ-इम्प्रूवमेंट बुक्स ला सकते हैं. अगर आपने बाहर जाना छोड़ दिया हैं, तो आप अपने घर पर ही एंटरटेनमेंट के लिए कुछ तरीके अपना सकते हैं जैसे कि आप फैमिली के साथ कुछ गेम खेल सकते हैं. आपको आगे बढ़ चढ़कर उन खाली जगहों को भरने के लिए अपना मनचाहा तरीका अपनाना चाहिए लेकिन सोच समझकर कुछ प्रोडक्टिव चुनें, ऐसा कुछ ना चुनें जिससे आपका नुक्सान हो. खर्चों में कटौती करने के साथ-साथ आपको अपना इनकम भी बढ़ाना चाहिए. ज़्यादातर लोगों के लिए इसका मतलब होता है दूसरी जॉब करना. दो जॉब करने का मतलब हैं रेस्ट करने के लिए कम टाइम और फन करने लिए कोई मौका नहीं. लेकिन, आगे जाकर इसकी वजह से आपको एक सैलरी की तंगी में दिन गुज़ारने की ज़रूरत नहीं पड़ेगी. लेकिन, अक्सर लोग पैसे बनाने के लिए मेहनत नहीं करना चाहते हैं. वे बस पैसे कमाना चाहते हैं. लेकिन, जिंदगी इस तरीके से नहीं चलती हैं. आपको कुछ हासिल करने के लिए कुछ तो करना ही पड़ेगा. आराम की जिंदगी जीने के लिए   तो करना ही पड़ेगा. आराम की जिंदगी जीने के लिए आपको शुरू में कुछ तकलीफों का सामना करना ही होगा. अपना इनकम बढ़ाने के लिए दूसरी जॉब करने के अलावा, आप कुछ और भी कर सकते हैं. जैसे कि आप कुछ सामान बेच सकते हैं. आपके पास महंगे या अनचाही चीजें जैसे बाइक, बैग, जूते हों तो आप उसे बेच सकते हैं. आपको इन चीज़ों से ख़ुशी तो मिलती हैं, पर फाइनेंसियल सिक्योरिटी से आपको ज़्यादा ख़ुशी और मन की शांति हासिल होगी. ज़्यादातर लोग अपनी चीज़ों को बेच नहीं पाते क्योंकि उन्हें अपनी चीज़ों से अटैचमेंट होता हैं, लेकिन यह सही नहीं हैं, हेल्थी नहीं हैं. जब लोगों के पास ज़्यादा पैसा आना शुरू हो जाता है, तो वे लक्ज़री आइटम खरीदना चाहते हैं ताकि वे दिखा सके कि उन्होंने कुछ हासिल किया हैं. लेकिन, यह आइटम शायद ही उनकी ज़रूरतों को पूरा करने के लिए खरीदे जाते हैं. यह बस उनकी चाहत होती हैं. मेहनत करने के बाद रिवॉर्ड मिलना तो जायज़ हैं, लेकिन जब यह आइटम प्रैक्टिकल नहीं होते, तो यह परेशानी बन जाते हैं. एग्जाम्पल के लिए लैरी विंगेट को ही लीजिए. उन्होंने रिवॉर्ड के तौर पर अपने लिए कन्वर्टिबल पोर्श कैरेरा कार खरीटा टाकौस्टिकल कार नहीं थी गाट   एग्जाम्पल के लिए लैरी विंगेट को ही लीजिए. उन्होंने रिवॉर्ड के तौर पर अपने लिए कन्वर्टिबल पोर्श कैरेरा कार खरीदा. यह एक प्रैक्टिकल कार नहीं थी. यह सिर्फ़ शो ऑफ कार थी जिसे लोगों को दिखाने के लिए लिया जाता है. इसलिए, लैरी को अपने और अपनी पत्नी के लिए तीन और कार खरीदने पड़े, टोटल मिलाकर उनके पास चार कार थीं. इससे उनके लिए मुश्किल खड़ी हो गई. यह कार कामयाबी की निशानी नहीं बल्कि सर दर्द बन गई. वह इसे शायद ही कभी चला पाते थे क्योंकि उन्हें हमेशा ट्रेवल करना होता था. इस कार के टायर खराब होने लगे, उसकी बैटरी भी बिगड़ने लगी. अब यह कार बेवकूफी की निशानी बन गई थी. लोगों को यह समझना चाहिए कि किसी ऐसी चीज़ को उन्हें कामयाबी के यादगार के तौर पर रखने की ज़रूरत नहीं हैं, खासकर तब जब यह चीज़ उन्हें फायदा कम और नुकसान ज़्यादा पहुँचाए. आपको अपनी लाइफ को कचरे और बेकार की चीज़ों से दूर रखना और उन चीज़ों से छुटकारा पाना चाहिए जो आपके लिए परेशानी का कारण बन गए हों. ऐसा करने पर, आप नई आदतों और सोचने के तरीकों के लिए जगह बना पाएंगे जो आपको अपनी जिंदगी में आगे बढ़ाएंगे.   YOU’RE BROKE BECAUSE YOU WANT TO BE -How t… Larry Winget Proof That It Can Be Done इस चैप्टर में, लैरी ने अपने कुछ अमीर दोस्तों का ज़िक्र किया है जिन्होंने अपने सफर के बारे में और उन्होंने जो कुछ भी सीखा हैं, उसके बारे में शेयर किया हैं. उन सभी ने गरीबी से अपनी शुरुवात की थी, लेकिन अब वे करोड़पति हैं. उनके एक दोस्त, जोई ने गरीबी में दिन गुज़ारे थे. जब जोई 5th क्लास में थे, तो उन्हें जेम्स बॉन्ड की किताबें पढ़ने का मन हुआ, और उन जगहों ने उनका मन मोह लिया जहाँ जेम्स बॉन्ड घूमे थे. हाई स्कूल में, जोई क्लास से गायब होकर नैशविल तक जाते थे ताकि वह बड़े-बड़े और महंगे घरों को देख सके. वह एक रियल एस्टेट एजेंट बन गए , लेकिन उन्हें अपनी जॉब बहुत पसंद नहीं आई. एक दिन, जोई ने एक सेल्स सेमिनार में हिस्सा लिया और स्पीकर टॉम हॉपकिंस को देखकर उनके काम के बारे में सोचा. टॉम पूरी दुनिया में घूमकर सेमिनार कंडक्ट करते थे. इसलिए, जोई ने अपनी जॉब छोड दी, और घर-घर जाकर लोगों से पछना शुरू   छोड़ दी, और घर-घर जाकर लोगों से पूछना शुरू किया कि वे सेमिनार में क्या-क्या सुनना चाहते हैं. जोई बड़ी मुश्किलों से अपनी ज़रूरतों को पूरा कर पाते थे. लेकिन, वे अपने रास्ते पर बिना रुके चलते रहे, और धीरे धीरे सब कुछ ठीक होने लगा. उनकी एक बात थी जिन्हें वे हमेशा मानकर चलते थे, जिसने उन्हें कामयाबी हासिल करने में हेल्प की थी, वह था कॉम्पिटिशन में खुद को दूसरों से बेहतर मानना. जोई हमेशा अपने क्लाइंट्स के लिए बढ़ चढ़कर काम करते, इसलिए दूसरों के मुकाबले उन्हें हमेशा चुना जाता था. जब उन्होंने ज़्यादा पैसे भी कमाना शुरू कर दिया था, तब भी उन्होंने पढ़ना-लिखना नहीं छोड़ा. आखिरी बात, जोई के पास कभी भी कोई बिज़नस प्लान नहीं था, लेकिन उन्हें साफ़ पता था कि उन्हें कैसी लाइफ चाहिए. वे इस सोच पर तब तक टिके रहे जब तक उनके सपने हकीकत में नहीं बदल गए. अगली कहानी ब्रैड की है. ब्रैड छह लोगों की फैमिली के साथ, एक छोटे से घर में पले-बढ़े थे. उन्हें पैसों की कमी का सामना करना पड़ा था. एक बार उन्हें तीन दिनों तक खाना नहीं मिला और यही उनकी जिंदगी का टर्निंग पॉइंट साबित हुआ. उन्हें लगा इस तरह पैसे   फसाप,एफ घातपरपण-40 4. UP पत्ता का कमी का सामना करना पड़ा था. एक बार उन्हें तीन दिनों तक खाना नहीं मिला और यही उनकी जिंदगी का टर्निंग पॉइंट साबित हुआ. उन्हें लगा इस तरह पैसे बचाकर उनकी फैमिली एक बेहतर क्रिस्टमस मना पाएगी. उसी पल उन्होंने फैसला किया कि उनकी लाइफ में फिर कभी पैसों की कमी नहीं होगी. ब्रैड ने कंस्ट्रक्शन में काम किया और रेंट बचाने के लिए अंतिम संस्कार के लिए रखे गए कमरे के ऊपर रहने लगे. फिर वह रिटेल फील्ड में चले गए. सक्सेस और दौलत के बारे में लिखे गए बुक्स को खरीदने में पैसे लगाए. करोड़पति बनने के बाद भी, ब्रैड लेक्चर्स अटेंड करते हैं ताकि उन्हें दुनिया के बड़े बड़े लोगों की सोच के बारे में पता चले. वह अपने गोल को लेकर बहुत स्ट्रिक्ट थे. हर न्यू ईयर में, ब्रैड अपनी लाइफ के हर पहलू के बारे में अपने सभी गोल की लिस्ट बनाते और वक्त गुज़रने के साथ इन गोल्स को रिव्यू करते. कम उम्र में ही उन्होंने अपनी लाइफ के बारे में साफ़ साफ़ पिक्चर बना लिया था और, बाद में जाकर उनकी लाइफ वाकई में वैसी बन भी गई जिसके लिए उन्होंने मेहनत की थी. वे कहते हैं कि उनके सपने इतने क्लियर थे कि वे किसी आर्टिस्ट से उन सपनों के स्केच बनवा सकते   इस तरह की कई इंस्पिरेशनल कहानियों वाले बहुत से लोग हैं, आप भी उन जैसे लोगों से घिरे हो सकते हैं, जिन्होंने अपनी लाइफ को बेहतर करने के लिए कई मुश्किलों का सामना किया हैं. इन सभी की कहानियों में जो बात एक जैसी हैं, वह यह है कि इन लोगों की शुरुआत ज़ीरो से हुई थी. उन्होंने मुश्किलों का सामना किया. वे चाहते तो जिंदगी भर बस रो धोकर गुज़ार सकते थे और पैसे न होने का बहाना बना सकते थे, लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया. उन्होंने अमीर बनने का सोच-समझकर फैसला लिया था. उन्होंने कड़ी मेहनत की और स्मार्ट होकर काम किया. उनके पास क्लियर गोल्स और एक्शन प्लान थे. सबसे ज़रूरी बात यह हैं कि मुश्किलों के बावजूद वे अपने गोल्स पाने के रास्ते पर टिके रहे. आपको लग सकता हैं कि अमीर होना और आगे बढ़ना नामुमकिन हैं, लेकिन यह ‘नामुमकिन’ शब्द आपकी डिक्शनरी में नहीं होना चाहिए. अगर आपको यह नामुमकिन लगेगा, तो यह वाकई में नामुमकिन साबित होगा. इसके लिए बस डिसिप्लिन की ज़रूरत है. आपको अपनी मंज़िल हासिल करने के लिए रोज़ मेहनत करनी पड़ेगी.   जब लैरी विंगेट छोटे थे, उनके फार्म में एक प्यारा सा नया बछड़ा था. उनके पिता ने कहा था कि अगर वह हर रोज़ उस छोटे बछड़े को उठाएंगे और एक दिन भी नहीं चूकेंगे, तो जब बछड़ा पूरी तरह से बड़ा हो जाएगा तब भी लैरी उसे उठा पाएंगे. एक हफ्ते तक, लैरी बिना किसी प्रॉब्लम के हर दिन बछड़े को उठाने में कामयाब रहे. लेकिन वह बाद में बिज़ी हो गए और कुछ दिन भूल भी गए. जब वह वापस गए, तो वह बछड़े को नहीं उठा पाए. यहां उनके पिताजी ने जो सीख दी थी, वह यह हैं कि अगर आपको नामुमकिन को मुमकिन करना हैं, तो आप एक दिन भी मिस नहीं कर सकते. यह रोज़ की मेहनत और डिसिप्लिन का ही नतीजा होता हैं जो नामुमकिन को मुमकिन बनाता है. कन्क्लूज़न इस समरी में, आपने उन आम बहानों के बारे में जाना जो लोग खुद से कहते हैं. ऐसा वे उस हकीकत का सामना करने से बचने के लिए कहते हैं जिनकी वजह से वे दिवालिएपन के दौर से गुज़र रहे हैं. आपने अपने फाइनेंस के हाल के बारे में जानना सीखा. हालात चाहे कितने भी बुरे क्यों न हो, लेकिन इसे   से वे दिवालिएपन के दौर से गुज़र रहे हैं. आपने अपने फाइनेंस के हाल के बारे में जानना सीखा. हालात चाहे कितने भी बुरे क्यों न हो, लेकिन इसे बेहतर करने के लिए अवेयर होना ही पहला स्टेप है. आपने अपने खर्चों में कटौती करने के बारे में और इनकम को बढ़ाने के तरीके सीखे. आपने यह भी जाना कि बजट का मतलब है ज़्यादा खर्च करने के बजाय अपने इनकम के अंदर रहकर ख़र्च करना. आपको इस बात का यकीन होना चाहिए कि आप नामुमकिन को मुमकिन कर सकते हैं क्योंकि आपमें बहुत काबिलियत है. जब आप इसे हासिल करने के लिए कुछ भी करने को तैयार होंगे, तब आप तेज़ी से अपनी जिंदगी में आगे बढ़ना शुरू कर देंगे. अगर आप अमीर बनना चाहते हैं, तो आप बिल्कुल बन सकते हैं.

Leave a Reply