Yes ! 50 Scientifically proven ways to be persu… Noah J. Goldstein, Steve J. Martin, & Robert B. Cialdini Books In Hindi Summary

Yes ! 50 Scientifically proven ways to be persu… Noah J. Goldstein, Steve J. Martin, & Robert B. Cialdini Introduction क्या आपने अपने आप को किसी इंसान को सुनते हुए और उसके हर शब्द पर अच्छे से ध्यान देते हुए पाया है? जैसे कि उन को सुनते हुए आप कभी नहीं थकेंगे। Online बहुत सारे ऐसे videos हैं जिनमें आपको motivational speakers मिल जाएंगे। उनकी speech इतनी मन को छूने वाली होती है कि उनको सुनने वाले बहुत सारे लोग अपने जीवन में बदलाव लाने के लिए inspire हो जाते हैं। ऐसा सोचने वाले आप अकेले नहीं हैं कि किस तरह कुछ लोग दूसरों को influence कर सकते हैं। दुनिया में बहुत सारे शब्द हैं और उन शब्दों को arrange करने के कई सारे तरीके हैं, लेकिन कुछ लोग किस तरह, इतने अच्छे से उन्हें इस्तेमाल करते हैं कि वह बहुत सुंदर और inspire करने वाले बन जाते इससे यह सवाल उठता है कि वे ऐसा कैसे करते हैं। इस किताब में आप उन लोगों के तरीके सीखेंगे जो किसी भी deal, sale और job के लिए अपनी बातों से रास्ता बना लेते हैं। आपको अपने शब्दों में आसान से changes के बारे में भी जानकारी मिलेगी, जो किसी भी इंसान के मन से dollht को मिटा देंगे। जाता हाफ हमसबस जलगदिखना हजार पहा psychologists ने अपनी खोज में भी पाया है। इसे “Social Proof Appeal” के नाम से जाना जाता है, जिसका मतलब है अगर बाकी लोग कुछ करते हैं तो यह possible है कि आप भी वह करेंगे। अगर आपको थोड़ा सा भी लगता है कि बहुत सारे लोग इसे कर रहे हैं, तो आप अपने आपको वही करता हुआ पाएंगे जो वे कर रहे हैं। अगर आप किसी को एक event में आने के लिए persuade करना चाहते हैं यानी मनाना चाहते हैं, तो possible है अगर आप कहेंगे के कुछ दोस्त भी उस event में आएंगे तो वे आने के लिए मान जाएंगे। अगर आप उनसे सिर्फ आने के लिए कहेंगे, और इसके अलावा और कुछ नहीं कहेंगे तो हो सकता है कि वह आपके invitation को ना माने। सिर्फ अपने शब्दों के इस्तेमाल के तरीकों को बदलकर आप किसी को persuade कर सकते हैं। जिससे कि आप जो नतीजे चाहते हैं वह आपको मिल जाएगा। यह समझ लीजिए कि इंसान सोसाइटी में कई लोगों के साथ रहते हैं और वे वही करेंगे जो बाकी सब लोग करेंगे। जब अलग-अलग products जैसे कि एक्सरसाइज करने वाली machine से लेकर चाकू के set की बात आती है, तो Coleen Szot एक जाना माना नाम है। पिछले 20 सालों में सबसे ज्यादा sale के कारण Coleen एक popular नाम है। अब Coleen #Home Shopping Program की सभी चीजें शामिल हैं जैसे : Catchy headlines particinative audience wit नाम है। पिछले 20 सालों में सबसे ज्यादा sale के कारण Coleen एक popular नाम है। अब Coleen # Home Shopping Program की सभी चीजें शामिल हैं जैसे : Catchy headlines, participative audience, 3ike अच्छी deals| Coleenसिर्फ अपनी call-to-action को बदलकर sales के सबसे बड़े रिकॉर्ड को तोड़ पाए | याद है जब यह बताया गया था कि आप किसी भी इंसान को अपने शब्दों के इस्तेमाल से persuade कर सकते हैं ? Coleen ने यही किया और बहुत सारे कस्टमर्स दौड़े चले आए। अक्सर इस्तेमाल होने वाली call-to-action जैसे कि “operators wait कर रहे हैं, अभी कॉल करें”, की जगह Coleen ने “ऑपरेटर बिजी हैं दोबारा कॉल करें” का इस्तेमाल किया। यह बहुत ही छोटा और आसान लगेगा, परंतु यह असरदार है। यह social proof appeal की वजह से हुआ। अगर आप किसी चीज को खरीदने के लिए sure नहीं है और आपको अचानक सुनने को मिलता है कि बहुत सारे लोग इसे खरीद रहे हैं, तो संभव है कि आप भी उन्हीं की तरह उस चीज को खरीद लेंगे । आप दूसरों के कामों से इन्फ्लुएंस होते हैं और वहां से एक चैन रिएक्शन की शुरुआत हो जाती है । A . Yes ! 50 Scientifically proven ways to be persu… Noah J. Goldstein, Steve J. Martin, & Robert B. Cialdini Bandwagon effect:- यानि दूसरो के इफेक्ट में आकर खुद का डिसिजन चेंच करना। हर आदमी दूसरे से अलग behave करता है। सवाल यह है , कि किसे आप सबसे ज़्यादा follow करते हैं। यहीं पर similarity देखी जाती है। आइए, पिछली example use करते हैं। आप किसी इंसान को एक event में आने के लिए persude कर रहे हैं, लेकिन ये कहने के बाद भी कि आपके mutual friend आ रहे हैं वो अभी भी sure नहीं हैं. अब आप ये कर सकते हैं कि उस mutual friend को उन्हें convince करने दें। हम हमेशा उन लोगों को सुनते हैं, जो हमारे जैसी ही situation में हों या हमारे बीच में कुछ कॉमन हो । जब आप एक ऐसे इंसान से बात करते हैं जो आपको समझता हो, आपका उनको सुनने का मन करता है, चाहे आप पहले ऐसा नहीं चाहते हो। जैसे कि पहले बताया गया है, चाहे हम इसे ना मानना चाहें, हम पर दूसरों के behaviour का बहुत असर पड़ता है। इसे “social proof appeal” कहते हैं। अब, इस किताब के author ने इस appeal पर study की है कि कैसे strong similarities लोगो को किसी एक तरीके से काम करने के लिए पा २० SociaI PIOUlaPPeal पाल। ने हैं। अब, इस किताब के author ने इस appeal पर study की है कि कैसे strong similarities लोगो को किसी एक तरीके से काम करने के लिए move कर देती हैं। Persuation to as similarities pat use करने का दूसरा तरीका, testimonials को use करना होगा। अगर आप किसी को कोई चीज खरीदने के लिए convince करना चाहते हैं, तो किसी दूसरे इंसान को उनसे बात करने दें जो कि उनसे बिल्कुल मिलता हो। मान लीजिए आप किसी company के manager हैं। आप अपने काम करने के standard तरीके में बदलाव लाना चाहते हैं। आप अपने employees को नए system से intoduce करवाना चाहते हैं। अपने सभी employees को change अपनाने के लिए, आपको उन employees से testimonial दिलवाना होगा जो नए system के लिएalready मान गए हैं। लेकिन अगर फिर भी कोई ऐसा इंसान है जो इसे पसंद नहीं करता, तो एक ऐसे employee को उनसे बात करने दें जो उन्ही की तरह हो। कौन सी ऐसी common गलती है जिसके कारण एक message ख़ुद-ब-खुद डिस्ट्रॉय हो जाता है? हमारी reality बुरी चीज़ों से भरी है। चाहें हम अक्सर किसी चीज़ को highlight करने के लिए positivitv पर ध्यान देते हैं. दसरे लोग चीजों को कौन सी ऐसी common गलती है जिसके कारण एक message ख़ुद-ब-खुद डिस्ट्रॉय हो जाता है? हमारी reality बुरी चीज़ों से भरी है। चाहें हम अक्सर किसी चीज़ को highlight करने के लिए positivity पर ध्यान देते हैं, दूसरे लोग चीज़ों को अलग angle से देखने के लिए negative चीज़ों को use करते हैं। ये अक्सर backfire करता है, और जो message भेजा जाता है वह audiance तक नहीं पहुंचता। किसी negative चीज़ को highlight करना, जैसे कि यह कहना कि bus stop पर लोग हर रोज़ गंदगी फैलाते है, यह लोगों को गंदगी फैलाने से नहीं रोक सकता। इस तरह बताने से सिर्फ यह पता चलता है कि यह कितना होता है, ना कि यह के गंदगी फैलाना कितना गलत है। जब हम इस चीज़ पर spotlight डालते हैं के कोई negative चीज़ कितनी ज़्यादा हो रही है और इस पर नहीं के ये करने कि जरूरत नहीं है, इसे negative social proof कहते हैं। इस किताब के सभी author ने National Park के sign के साथ एक experiment करने के बारे में सोचा। वह यह जानना चाहते थे के कौन से sign की वजह से जंगल में लकड़ी की सबसे ज़्यादा चोरी होती थी। Sign में ये negative social proof मिला कि पिछले visitors ने पार्क से लकड़ी हटा दी है , जिसकी वजह से Forest की natural state बदल गई है”। इस sign के साथ एक image भी । A ९ Sign में ये negative social proof मिला कि पिछले visitors ने पार्क से लकड़ी हटा दी है , जिसकी वजह से Forest की natural state बदल गई है”। इस sign के साथ एक image भी थी जिसमें लोगों को लकड़ी ले जाते हुए दिखाया गया था। जिन signs में negative social proof नहीं था उनमें लिखा था, “Please park से लकड़ी ना लें ताकि हम forest को उसकी natural state में बचाकर रख पाएं”। एक दूसरी picture में एक आदमी लकड़ी चुरा रहा है, पर उसके हाथ में No sign है। Experiment करने वालों ने रास्ते में कुछ लकड़ियाँ भी बिछा दी ताकि वहां आने वाले लोगों को उससे ठोकर लगे। अगर हम घटना पर जोर दें ना कि उस पर जो हम चाहते है तो इससे बहुत फर्क पड़ेगा। Experiment में जिन रास्तों पर negative social proof sign थे वहां पर चोरी तीन गुना हो गई थी। उन रास्तों पर जहां पर आने वालों को सिर्फ लकड़ी चुराने से मना किया गया था, वहां पर चोरी काफी कम थी। Negative Social Proof sign at crime on? बढ़ाने की एक strategy बन गई थी। इसे बदलने का एक और तरीका है जिसमें यह ज़ोर दिया जाना चाहिए कि कितने लोगों ने लकड़ी नहीं चुराई। Yes ! 50 Scientifically proven ways to be persu… Noah J. Goldstein, Steve J. Martin, & Robert B. Cialdini जब persuation backfire करता है तो magnetic middle को कैसे avoid करें। Desirable behaviour को बढ़ावा देना हमेशा काम नहीं करता है जब लोगों को उसी same तरीके से समझाने की बात आती है। असल में, लोग Desirable behaviour से भटक जाते हैं जब वे देखते हैं कि सिर्फ वे ही ऐसा कर रहे हैं। हम हमेशा बीच में रहना चाहते हैं क्योंकि यह सेफ़ होता है। Ideal 31 Socially Desirable behaviour बनाए रखने के लिए, Positive Reinforcement की जानी चाहिए। Positive Reinforcement का मतलब है कोई रिवॉर्ड, मोटिवेशन या तोहफ़ा देकर अच्छे व्यवहार को बढ़ावा देना. Positive Reinforcement बोल कर की जा सकती है या attendence sheet में उनके नाम के साथ में एक smiley लगाकर। यह लोगों को सही काम करने के लिए motivate कर सकता है क्योंकि उनके पास motivation और तारीफ़ है। ऑथर ने positive reinforcement की effectiveness को साबित करने के लिए एक experiment किया। उन्होंने California में 200 घरों में पता कि क्या research करने वाले effectiveness को साबित करने के लिए एक experiment किया। उन्होंने California में 300 घरों में पूछा कि क्या research करने वाले उनके हर हफ्ते के energy के ख़र्च को record कर सकते हैं। उनके द्वारा record किया गया पहली रीडिंग energy meter के लिए एक baseline होगी जिसे वे अगले कुछ हफ्तों तक पढ़ते रहेंगे। यह baseline data बिलकुल surprising नही था क्योंकि कुछ परिवारों ने average से ज़्यादा एनर्जी consume किया जबकि दूसरों ने इससे कम। अगले कुछ हफ्तों तक, जो लोग ज़्यादा energy consume करते हैं, उन्होंने अपने consumption को कम करना शुरू कर दिया। हैरानी की बात यह है कि जो लोग average से कम consume कर रहे थे, actually उनकी energy consumption बढ़ गई। इसे “magnetic middle” कहा जाता है। हम खुद को number के बीच में रखते हैं क्योंकि number में ताकत होती है, और हम दूसरों से अलग नहीं होना चाहते हैं। हम उन परिवारों को कैसे encourage करें, जो शुरू में इस अच्छे बर्ताव की वजह से कम energy consume कर रहे थे? Researchers ने smiley और serious चेहरे का इस्तेमाल किया। उन परिवारों के लिए जिन्होंने average से कम energy consume की, उन्हें दिए गए कार्ड पर एक smiley बनाया गया था। जो लोग average से ज़्यादा consume उन्हें दिए गए कार्ड पर एक smiley बनाया गया था। जो लोग average से ज़्यादा consume कर रहे थे, उन्हें एक serious चेहरा मिला। जिन लोगों को एक स्माइली चेहरा मिला , उन्होंने अपनी consumption average से कम रखी। यह साबित करता है कि positive reinforcement सच में काम करती है और इससे फ़ायदा हो सकता है । कब लोगों को ज़्यादा offer देने तो वे कम चाहते हैं? जब आप किसी को मनाने की कोशिश करते हैं, तो उन्हें gift देना सही लगता है। जबकि, gift देने का भी negative side होता है। यह imagine कीजिए कि आपने mall से कुछ खरीदा है, और cashier ने उसे wrap कर दिया, उसने कहा कि उसने Hand sanitizer की एक छोटी बोतल भी इसमें डाल दी है। आप सोच रहे होंगे कि यह आपका lucky दिन है क्योंकि आपको मुफ्त में कुछ मिला है। यह thought जल्दी से आपके दिमाग से चली जाएगी और शायद एक और thought आपके दिमाग में आ सकती है कि हो सकता है कि sanitizer effective न हो इसलिए दुकान के मालिक ने उसे आपको दे दिया? Free में सामान मिलना कितना अच्छा लगता है ना, लेकिन कोई भी अपने आप को यह पूछने से नहीं रोक सकता कि Store owner इसे क्यों दे Free में सामान मिलना कितना अच्छा लगता है ना, लेकिन कोई भी अपने आप को यह पूछने से नहीं रोक सकता कि Store owner इसे क्यों दे रहा है। शायद कोई भी इसे खरीद नहीं रहा है और Product पर सिर्फ़ धूल जमा हो रही है? या हो सकता है कि दुकान के मालिक ने demand को overestimate किया हो, और supply को कम करने की ज़रुरत हो। किसी को उन चीजों को सोचने से रोकने के लिए, उस item पर एक value डालें जो आप उन्हें दे रहे हैं। आप किसी को Sunglasses खरीदने के साथ-साथ सनस्क्रीन की बोतल भी दे सकते हैं। यह ज़रूर बता दें कि Sunscreen की कीमत लगभग $15 है और उन्हें अपने wallet से $15 कम की payment करनी पड़ेगी। Social Scientist प्रिया रघुबीर ने इस सवाल का जवाब देने के लिए एक study की। क्या लोग बोनस गिफ्ट को बिना किसी value के देखेंगे क्योंकि यह gift के रूप में दिया गया है? प्रिया ने एक catalogue magazine का इस्तेमाल किया, जिसमें शराब की ऐड थी और शराब की हर purchase के लिए एक bracelet को free दिया जाना था। Participants के एक group को ब्रेसलेट को एक फ्री गिफ्ट के नहीं बल्कि सिर्फ़ bracelet के तौर पर उसकी कीमत का अनुमान लगाने के लिए कहा गया । तो वहीं दूसरी ओर, एक दूसरे group ने शराब के साथ फ्री गिफ्ट के 14411 Son Caldiogue idydzieci इस्तेमाल किया, जिसमें शराब की ऐड थी और शराब की हर purchase के लिए एक bracelet को free दिया जाना था। Participants के एक group को ब्रेसलेट को एक फ्री गिफ्ट के नहीं बल्कि सिर्फ़ bracelet के तौर पर उसकी कीमत का अनुमान लगाने के लिए कहा गया । तो वहीं दूसरी ओर, एक दूसरे group ने शराब के साथ फ्री गिफ्ट के रूप में bracelet की value का अनुमान लगाया। Result में देखा गया कि participants को Bracelet के लिए 35% कम payment करना होगा, जब यह शराब के साथ फ्री में दिया जाएगा। एक्सपेरिमेंट ने साबित कर दिया कि लोग गिफ्ट या मुफ्त के सामान को बेकार मानते हैं। इसलिए आपको हमेशा अपने द्वारा दिए जाने वाले हर bonus gift की value बतानी चाहिए। Imagine करें कि आप computer के लिए security software बेचने की कोशिश कर रहे हैं। आप अपने Software को test करने के लिए अपने दोस्तों और दोस्त के दोस्तों से कहते हैं। आप गर्व से “फ्री” शब्द को capital में लिखते हैं और जब उनमें से लगभग सभी आपके offer को मना कर देते हैं तो आप हैरान हो जाते हैं। जब भी आप उन्हें यह offer करते हैं तो security software की cost और value को बताना कभी न भूलें हैं। यह उन्हें समझने में मदद करेगा कि आपका product सच में कितना effective है। Yes ! 50 Scientifically proven ways to be persu… Noah J. Goldstein, Steve J. Martin, & Robert B. Cialdini एक नए superior product का मतलब एक inferior product से ज़्यादा sale कैसे हो सकता है? हम, इंसान, safe खेलना पसंद करते हैं, इसीलिए हम हमेशा बीच में रहना पसंद करते हैं। जब आपके दो दोस्त लड़ते हैं, तो आप किसी की भी side लेना पसंद नहीं करेंगे क्योंकि आप उनमें से किसी को भी खोना नहीं चाहते हैं। यह customers पर भी लागू होता है। जब कोई नया product offer किया जाता है, जैसे कि icecream का एक tub जिसमें तीन अलग-अलग flavours होते हैं और वो icecream के दूसरे tub के comparison में बड़ा होता है, एक customer इसके बजाय icecream के दूसरे tub को चुनता है, जिसमें सिर्फ दो flavour होते हैं और जो 3 flavours जितना मंहगा नहीं है। जब आपको option दिए जाते हैं, तो आप बीच वाले option को चुनते हैं : 2 फ्लेवर वाली आइसक्रीम आपके taste को satisfy तो करेगी, पर तीन स्वाद के जितना नहीं। यहां ये interesting हो जाता है। अगर स्टोर किसी दूसरे irerream को add करता है के जितना नहीं। यहां ये interesting हो जाता है। अगर स्टोर किसी दूसरे icecream को add करता है जिसमें 4 flavour हैं, तो possible है कि आप तीन flavour वाली icecream खरीद लेंगे। Compromise option या option जो आपको बीच में मिलता है वह शिफ्ट हो जाएगा क्योंकि यह ज़्यादा किफ़ायती और सस्ता होगा। यह कहने की ज़रुरत नहीं है कि यह अभी भी आपके sweet tooth को satisfy करने का काम करेगा। William Sonoma, gah kitchen retail store, अलग अलग bread बनाने की मशीन ऑफर करता है। Chuck Williams ने Paris की यात्रा की और France के खाना पकाने के मशीन देखे जो कि American मशीन से कहीं बेहतर थे। विलियम्स ने एक ज़्यादा महंगी Bread Maker Machine बनाई जिसे Williams Sonoma Kitchen outlet कहा जाता है जो कि फ्रांस में देखे गए मशीन से inspired थी। हालांकि, कंपनी को sale का एक अच्छा हिस्सा Williams Sonoma Kitchen outlet से नहीं मिला। यह नया मॉडल customers की ज़रूरतों को पूरा करता है। हालांकि, यह सस्ता नहीं था, इसलिए customers ने उस मशीन को चुना जिसने उनका कम खर्च करवाया। यह एक अच्छा ideaहै कि पहले अपने ज़्यादा महंगे सामानों को offer करना शुरू करें क्योंकि लोग यह एक अच्छा ideaहै कि पहले अपने ज़्यादा महंगे सामानों को offer करना शुरू करें क्योंकि लोग अक्सर middle range के products की तरफ ज़्यादा attract होते हैं । Secret उस product को बीच में डालना है जिसे आप actually में बेचना चाहते थे। ज़्यादा महंगा product सिर्फ persuation का एक element है। क्या डर persuade करता है, या यह paralysed बना देता है? पहले हमारे पूर्वज बहुत लंबे समय तक एक ही जगह पर settle नहीं होते थे। शिकारियों के डर ने और ज़्यादा resources की उम्मीद में वो आगे बढ़ते रहते थे। आज की generation के डर अलग हो गए हैं जैसे : accident, बीमारियाँ. Research से पता चला है कि जब हम डर पैदा करने वाली किसी चीज के सामने होते हैं, तो हम उस खतरे को कम करने के लिए हमेशा कुछ करते हैं। अगर हम कुछ भी नहीं करते हैं, तो हमें चोट लग सकती है या हम मर सकते हैं । इस आसान fact में एक exception है: अगर हमारे पास इससे छुटकारा पाने का एक clear तरीका नहीं है तो हम खतरे के मौजूद होने की बात को नकारने लगते हैं या उसे मानना ही नहीं चाहते। जब आप किसी को shape में लाने के लिए मनाने की कोशिश कर रहे हैं, तो regular exercise ना जब आप किसी को shape में लाने के लिए मनाने की कोशिश कर रहे हैं, तो regular exercise ना करने के risk के बारे में बताएं। जो लोग इस बात को सुन रहे हैं, वे सिर्फ़ आना कानी का सहारा लेंगे और आपको अपने काम से काम रखने के लिए कहेंगे। तो आप क्या कर सकते हैं? Risk को बताते हुए, possible solutions को शामिल करें जिस पर वे काम कर सकते हैं। इस तरह, वे hopeless feel नहीं करेंगे। Howard Levantle और उनके colleagues ने एक study किया कि कितना डरहमें काम करने के लिए motivate करता है। Student के एक group ने Tetanus infection के बारे में health से जुड़ा हुआ pamphlet पढ़ा। एक group ने वो pamphlet पढ़ा जिसमें Tetanus के डरावने नतीजों के साथ-साथ Tetanus injection लगवाने के plan के बारे में लिखा था। दूसरे group के पास कोई plan नहीं थी। जिसका result यह हुआ कि पहला ग्रुप टेटनस शॉट लेने के लिए motivated था क्योंकि वे pamphlet में बताए गए plan से Tetanus के अपने डर को कम कर सकते थे। जब हम अपने डर को कम करने के लिए कुछ करते हैं, तो हमें यह feel होता है कि यह लंबे समय तक नहीं चलेगा। इस बीच, डर को अपनी body में settle होने देने से हम निराश महसूस करेंगे और जो भी मदद offer करेगा उसे मना कर देंगे. क्योंकि हम इस बात A < injection लगवाने के plan के बारे में लिखा था। दूसरे group के पास कोई plan नहीं थी। जिसका result यह हुआ कि पहला ग्रुप टेटनस शॉट लेने के लिए motivated था क्योंकि वे pamphlet में बताए गए plan से Tetanus के अपने डर को कम कर सकते थे। जब हम अपने डर को कम करने के लिए कुछ करते हैं, तो हमें यह feel होता है कि यह लंबे समय तक नहीं चलेगा। इस बीच, डर को अपनी body में settle होने देने से हम निराश महसूस करेंगे और जो भी मदद offer करेगा उसे मना कर देंगे, क्योंकि हम इस बात को मान ही नहीं रहे। एक और example है कि आपकी पूरी टीम जिस product पर काम कर रही है, उसमें कोई गलती ढूँढ़ना । आपको लगता है कि इसका एक पहलू है जिसकी वजह से ये successful नहीं होगा; जैसे कि, जब ज़्यादा buyers तक इसकी पहुंच ना हो । सिर्फ़ facts ना बताते हुए, इसके solution को बताएं कि आपको ऑनलाइन invitation देना चाहिए ताकि ज़्यादा लोग इसके बारे में जानें। अगर आप जल्दी एक possible solution नहीं देते हैं, तो हो सकता है कि आपकी team आपके idea को block कर देगी और कहेगी कि आप अभी कुछ ज़्यादा ही सोच रहे हैं। Yes ! 50 Scientifically proven ways to be persu… Noah J. Goldstein, Steve J. Martin, & Robert B. Cialdini चेस हमें persuasive moves के बारे में क्या सिखा सकता है? जब कोई दोस्त आपके लिए कुछ अच्छा करता है, जैसे कि आपको अपने notes देना क्योंकि आप उस दिन बीमार थे, तो क्या आपमें भी उनके लिए कुछ अच्छा करने की चाह है? अगर आपने हां कहा है, तो आप उन लोगों में से हैं जो reciprocity को value देते हैं। हमारे लिए अगर किसी ने एक अच्छा काम किया हो तो हम भी उनके लिए वैसा करने के लिए oblige feel करते हैं क्योंकि यह goodwill बनाता है और उस इंसान के साथ हमारे connection को strong करता है। जब कोई हमारे लिए कुछ करता है, तो हम ऐसा feel करते हैं कि जब तक हम बदले में उनके लिए कुछ नहीं करेंगे, तब तक हमें अच्छा नहीं लगता। जब यह Reciprocity की बात आती है, तो आपको इसे लागू करने के लिए likeable होने की जरूरत नहीं है। जब हम एक-दूसरे के लिए favour करते जब यह Reciprocity की बात आती है, तो आपको इसे लागू करने के लिए likeable होने की जरूरत नहीं है। जब हम एक-दूसरे के लिए favour करते हैं तो एक social obligation होता है। यहां तककि अगर आप उस इंसान को पसंद नहीं करते जो आप से एक favour मांग रहा है, तो भी वे future में आपकी मदद करने के लिए obligated होंगे, क्योंकि reciprocity का लॉ ऐसे ही काम करता है। जब आप persuasive रहना चाहते हैं, तब लोगों के लिए favour करना लंबे समय में आपके लिए फ़ायदेमंद होगा, हम favour के बारे में नहीं भूलते हैं, और अगर कोई आपके द्वारा किए गए किसी काम के लिए एहसानमंद है तो वे इसे याद रखेंगे। Reciprocity के लॉ ने लोगों, कम्युनिटी और यहां तककि देशों के बीच मज़बूर रिश्ते बनाए हैं । Bobby fisher ich dea 377891 Chess grandmaster 3T US law enforcement का भगोड़ा था। Fisher ने 9/17 के हमलों के बारे में बात की, जिसने उनकी U.S. citizenship छीन ली। हालांकि, सबसे powerful देश के साथ अपने रिश्ते को खतरे में डालने के बावजूद, Iceland ने Fisher को अपने देश में एक घर दिया। Uniteda Fisher को अपने देश में एक घर दिया। United States of America का एक सहयोगी ऐसा क्यों करेगा? Chess खेलने में Fisher बहुत अच्छा था। उन्होंने cold war के समय chess खेला था जहाँ उन्हें “Chess Match of the century” कहा गया था। उनके घमंडी personality और हर खेल के दौरान उनकी अनगिनत मांगों के बावजूद, Fisher काफ़ी famous था। आइसलैंड ने ऐसा इसलिए किया क्योंकि भले ही उसकी पर्सनालिटी को झेलना मुश्किल था, पर Fisher ने आइसलैंड को कुछ fame दिलवाई थी। यह reciprocity के लॉ का बहुत अच्छा example है। Conclusion इस बुक में, आपने सीखा कि कैसे persuation सिर्फ़ एक कला नहीं है। यह कुछ ऐसा है जिसे आप अपने रोज़ के जीवन में use कर सकते हैं। जिस तरह से आप दूसरे लोगों से बात करते हैं, जिस तरह आप अपने शब्दों को phrase करते हैं, और यहां तककि आपके काम करने के तरीके पर भी persuasive होने की technique को apply किया जा सकता है। आपके काम करने के तरीके पर भी persuasive होने की technique को apply किया जा सकता है। जीवन की सभी अच्छी चीजों की तरह persuation master करना इतना आसान नहीं है, इसमें कुछ समय लग सकता है। इसमें trial और error करना पड़ेगा, और इससे थकावट हो सकती है, लेकिन एक बार जब आप इसे समझ लेते हैं, तो आप लोगों से “हां ‘जल्दी बुलवाने में कामयाब होंगे। आपने यह भी सीखा कि भले ही लोग सबसे अलग होना पसंद करते हैं, लेकिन हमारे behaviour पर दूसरे लोगों का असर पड़ता है, और यह आपको social proof, reciprocity के norms और favours के रूप में मदद कर सकता है। कौन नहीं चाहता कि वो जैसे चाहते हैं वैसे हो रहा है? हम हमेशा अपने गेम में सबसे ऊपर रहना चाहते हैं; इसीलिए persuasive होना सीखना हमारे पूरे जीवन के लिए फायदेमंद हो सकता है। पर इसे हमेशा ethically करना याद रखें। ये tips सिर्फ वो पाने के लिए नहीं हैं जो आप चाहते हैं। ये दूसरे लोगों के साथ अपने relation को बेहतर बनाने और nurture करने के भी तरीके हैं। यह जानने के लिए कि किसी को किस तरह persuade लेकिन एक बार जब आप इसे समझ लेते हैं, तो आप लोगों से “हां ‘जल्दी बुलवाने में कामयाब होंगे। आपने यह भी सीखा कि भले ही लोग सबसे अलग होना पसंद करते हैं, लेकिन हमारे behaviour पर दूसरे लोगों का असर पड़ता है, और यह आपको social proof, reciprocity के norms और favours के रूप में मदद कर सकता है। कौन नहीं चाहता कि वो जैसे चाहते हैं वैसे हो रहा है? हम हमेशा अपने गेम में सबसे ऊपर रहना चाहते हैं; इसीलिए persuasive होना सीखना हमारे पूरे जीवन के लिए फायदेमंद हो सकता है। पर इसे हमेशा ethically करना याद रखें। ये tips सिर्फ वो पाने के लिए नहीं हैं जो आप चाहते हैं। ये दूसरे लोगों के साथ अपने relation को बेहतर बनाने और nurture करने के भी तरीके हैं। यह जानने के लिए कि किसी को किस तरह persuade किया जा सकता है, उन्हें बेहतर तरीके से समझने में आपकी मदद करता है। यह आपको एक बेहतर बच्चा, भाई/बहन, partner, colleague या friend बना देगा।

Leave a Reply