WHY DIDN’T THEY TEACH ME THIS IN SCHOOL? Cary Siegel Books In Hindi Summary

WHY DIDN’T THEY TEACH ME THIS IN SCHOOL? Cary Siegel Introduction financially सिक्योर होना कितना अच्छा लगता है, है ना? जब आपके पैसा होता है, तो आप पावरफुल और खुश महसूस करते हैं। लेकिन ये फीलिंग जल्दी से फीकी पड़ जाती है, खासकर तब जब आपके पास पैसे खत्म हो जाते हैं। तब आप दुखी हो जाते हैं। ऐसा क्यों होता है कि पैसा आपकी उंगलियों से रेत की तरह फ़िसल जाता है? अगर आप ज़रुरत से ज़्यादा खर्च नहीं कर रहे हैं तो आखिर प्रॉब्लम है क्या? प्रॉब्लम है पैसों के साथ आपका रिश्ता। आपको बेहतर फाइनेंसियल हैबिट सीखने की जरूरत है। पैसा खर्च करना बड़ा आसान है लेकिन इसे कमाने के लिए कितना संघर्ष करना पड़ता है। इसलिए आपको पाई-पाई की अहमियत का पता होना चाहिए। इस समरी में, आप आसान फाइनेंसियल टिप्स और ट्रिक के बारे में जानेंगे जो आपके हज़ारों डॉलर बचा सकती हैं। आप सीखेंगे कि आप जिस तरह पैसे खर्च करते हैं वो आपके पूरे जीवन पर असर डालता है। जब पैसों को संभालने की बात आती है तो आप सीखेंगे कि कैसे ज़्यादा समझदार बनें। कैसे ज़्यादा समझदार बनें। Marry the “Financially Right” Person हो सकता है कि आपको पहले से ही अंदाजा हो कि आप किससे शादी करना चाहते हैं। हो सकता है कि आपके दिमाग में उन qualities की लिस्ट हो जो उस शख्स में होनी चाहिए। लेकिन फिर भी अपनी लिस्ट में “वह फाइनेंसियल रूप से सही होना चाहिए” ये जोड़ना न भूलें। ऑथर कैरी ये नहीं कह रहे हैं कि आपको किसी अमीर इंसान से शादी करनी चाहिए। लेकिन आपको किसी ऐसे इंसान की तलाश करनी चाहिए जिसकी फाइनेंसियल हैबिट अच्छी हों। लेकिन आपको कैसे पता चलेगा कि किसी इंसान की फाइनेंसियल हैबिट अच्छी है या नहीं ? तो इसके लिए नोटिस करें कि वो शख्स date पर कितना खर्च करता है। Date एक अच्छा इंडिकेटर है कि कोई इंसान अपना पैसा कैसे खर्च करता है। मान लीजिए आप हैरी नाम के लड़के के साथ डेट पर जाते हैं। हैरी एक जेंटलमैन हैं। वह बात करने में पोलाइट और बड़ा दयालु है। अब, डेट पर हर इंसान अपना बेस्ट behave करने कि कोशिश करता है। लेकिन अगर हैरी हर बार हद से ज़्यादा खर्च करता है तो सावधान हो जाएँ। आप सोच सकते हैं कि उसके पास बहुत पैसा है। लेकिन बाद में वह आपको बताता है कि वह कर्ज में डूब रहा है। जब date कि बात आए तो प्रैक्टिकल तरह से सोचें, जरूरत से ज्यादा खर्च न करें। अगर आप डेट के दौरान इतना खर्च अफोर्ड नहीं कर सकते हैं, तो आप शादीशुदा होने पर इसे afford नहीं कर पाएंगे। लेकिन प्रॉब्लम ये है कि बहुत सारे लोग ये गलती करते हैं। वो अपनी खराब फाइनेंसियल हैबिट के बारे में शादी हो जाने के बाद में बताते हैं। इसे ही लेकर बाद में अक्सर कपल्स में लड़ाई होती है। कई बार तो तलाक तक की नौबत आ जाती है। अगर आप किसी को डेट कर रहे हैं, तो उनसे मनी philosophy के बारे में बात ज़रूर करें। माना बात करने के लिए ये थोड़ी अजीब सी conversation है लेकिन यह बेहद जरूरी भी है। खासकर तब जब आप एक दूसरे को लेकर सीरियस हो रहे हैं तो। क्या आपका पार्टनर हर महीने पैसे सेव करता है? वह assests के बारे में क्या सोचता है? क्या वह कर्ज में डूबा हुआ है? आपको अपने फाइनेंसियल लाइफ के प्रति ईमानदार रहना होगा। यह आपको यह देखने में मदद करता है कि क्या आपमें और आपके साथी में लंबे समय तक बनेगी या नहीं। Principle 2 – Having and Raising Children Costs Lots of Money बच्चे बड़े ही प्यारे और मासूम होते हैं लेकिन एक बच्चे की ज़िम्मेदारी उठाना बहुत बड़ी ज़िम्मेदारी है. इसके A < बच्चे बड़े ही प्यारे और मासूम होते हैं लेकिन एक बच्चे की ज़िम्मेदारी उठाना बहुत बड़ी ज़िम्मेदारी है. इसके साथ ही एक बच्चे को पालने के लिए बहुत पैसों की भी ज़रुरत होती है. Harriett अपने शुरुआती 20’s में है। उसके लगभग सभी दोस्तों के बच्चे हैं। Harriett भी एक बच्चा चाहती है। वह अपने बच्चे को बहुत सारा और खुशियाँ देना चाहती है। लेकिन Harriett जानती है कि यह आसान नहीं है। अपने पति को यह बताने से पहले वह खुद को एक साल देती है यह सोचने के लिए कि वह क्या चाहती है। इस दौरान Harriett एक बच्चे की परवरिश के खर्चों के बारे में सोचती है। इसमें Health, education, खाना, कपडे सभी चीजें आती हैं।उसके आने के बाद Electricity के बिल भी बढ़ेंगे। एक बच्चे की भी अपनी इच्छाएँ होती हैं जैसे वो किसी hobby या activity में शामिल होना चाहेगा उसमें भी पैसे खर्च होंगे। अगर आप पैरेंट बनना चाहते हैं, तो आप selfish नहीं हो सकते । एक साल तक सोचने के बाद, Harriett ने फैसला किया कि वह अभी एक बच्चे की ज़िम्मेदारी उठाने के लिए तैयार नहीं है। वो अभी उस खर्च को नहीं उठा पाएगी और उसकी lifestyle भी बच्चे को पालने के लायक नहीं है। एक बच्चे की परवरिश एक ऐसी चीज है जिसके बारे में आपको और आपके partner को बहुत सारी बातें करनी चाहिए। आप दोनों को एक बच्चे के लिए physically, mentally ir financially तैयार होना चाहिए। Principle 3 Always Live Below Your Means पैसों को successfully मैनेज करने में टाइम और प्रैक्टिस दोनों की ज़रुरत होती है. क्या आप जानते हैं कि ऐसा करना मुश्किल क्यों लगता है? इसका कारण है तुरंत संतुष्ट हो जाना. लोग तुरंत उस चीज़ को खरीदना चाहते हैं जिसे खरीदने का उनका मन करता है। भले ही वे जानते हों कि वे इसे afford नहीं कर सकते। Jeremy इसका परफेक्ट example है। Jeremy पर वीडियो गेम खरीदने का जुनून सवार हो गया है। मार्केट में जब कोई नया गेम release होता तो वह तुरंत उसे खरीद लेता । जबकि वह जानता है कि वह इसे afford नहीं कर सकता। Jeremy ये भी जानता है कि उसे अपने पैसे सावधानी से खर्च करने चाहिए । लेकिन ये उसे गेम खरीदने से नहीं रोक पाता है। जब Jeremy अपने दोस्तों या परिवार वालों से पैसे मांगता है तो उन्हें हैरानी नहीं होती। वीडियो गेम की लत के कारण Jeremy कर्ज में डूबता जा रहा था। का उनका मन करता है। भले ही वे जानते हों कि वे इसे afford नहीं कर सकते। Jeremy इसका परफेक्ट example है। Jeremy पर वीडियो गेम खरीदने का जुनून सवार हो गया है। मार्केट में जब कोई नया गेम release होता तो वह तुरंत उसे खरीद लेता । जबकि वह जानता है कि वह इसे afford नहीं कर सकता। Jeremy ये भी जानता है कि उसे अपने पैसे सावधानी से खर्च करने चाहिए । लेकिन ये उसे गेम खरीदने से नहीं रोक पाता है। जब Jeremy अपने दोस्तों या परिवार वालों से पैसे मांगता है तो उन्हें हैरानी नहीं होती। वीडियो गेम की लत के कारण Jeremy कर्ज में डूबता जा रहा था। अपने इनकम को ध्यान में रखते हुए उससे कम पैसा खर्च करने से आपके पास हमेशा कुछ पैसा बचा रहेगा। आप emergency में अपने extra पैसे use कर सकते है। आप इसे invest करने के लिए भी use कर सकते हैं। Instant satisfaction के आगे न झुकें यानी आपका जो मन करे उसे खरीदने की इच्छा से बचकर रहे । अगर आप अपनी मनचाही चीज खरीदते रहेंगे तो आप कभी भी financially secure नहीं होंगे। कभी कभी अपनी पसंद की चीजे खरीदना ठीक है। लेकिन इसके बारे में होशियार रहें। WHY DIDN’T THEY TEACH ME THIS IN SCHOOL? Cary Siegel Principle 4 You Take Away from your First Couple of Jobs Than You Give क्या आपको अपनी पहली जॉब याद है? क्या आपको याद है कि आपने कितनी सारी गलतियां की थी? अपनी गलतियों को एक्सेप्ट करने में कोई बुराई नहीं है. हम सभी कभी ना कभी गलती ज़रूर करते हैं. पहला जॉब एक लर्निंग एक्सपीरियंस होता है. आप कंपनी में नए होते हैं और शायद इसलिए employers को इससे ज़्यादा फायदा नहीं होता है. सुनने में यह बुरा लगता है, लेकिन यह सच है। कंपनी कैसे काम करती है, यह जानने के लिए employer आपको salary दे रहे हैं। Productiveऔर efficient बनने में समय लगता है। यही कारण है कि जो young लोग उम्मीद से ज़्यादा अच्छा परफॉर्म करते हैं, उन्हें रिवॉर्ड भी दिया जाता है. कारा एक business firm में नई employee है। वह सिर्फ उतना ही काम करती है जो उससे expect किया जाता है। दूसरे शब्दों में, Cara अपनी तरफ से कोई एक्स्ट्रा एफर्ट या एक्स्ट्रा परफॉर्म नहीं करती | Alexandra भी उस business firm में तरफ से कोई एक्स्ट्रा एफर्ट या एक्स्ट्रा परफॉर्म नहीं करती | Alexandra भी उस business firm में नई है। लेकिन वह हमेशा minimum से आगे जाकर एक्स्ट्रा परफॉर्म करती है। Alexandra एक नए employee के रूप में हर opportunity को खुद को improve करने के लिए use करती है । वह company द्वारा ऑफर किए गए सेमिनार को अटेंड करती है और उसका फायदा उठाती है क्योंकि वह जानती है कि यह उसके career के development के लिए अच्छा होगा। इसे अपनी financial mindset पर अप्लाई करें। जितना ज्यादा आप सीखते हैं, आप उतने ही समझदार होते जाते हैं। सिर्फ़ पैसे बचाने में ही ध्यान न दें बल्कि इस पर ध्यान दें कि कैसे आप अपने पैसे को बढ़ा सकते हैं। principle 5 Spend Just One Hour Each Week Learning About Personal Finance पैसों को मैनेज करना सिरदर्द हो सकता है. लेकिन अगर आप financially स्मार्ट बनना चाहते हैं तो आपको इसे ज़रूर समझना चाहिए. अपने नए साल के resolution के तौर पर, Ryan ने कुछ नया सीखने का फैसला किया। उसने अभी एक TI नामनि । उनी अपने नए साल के resolution के तौर पर, Ryan ने कुछ नया सीखने का फैसला किया। उसने अभी एक नया जॉब ज्वाइन किया था और वह अपने पैसों को स्मार्टली मैनेज करना चाहता था। इसलिए, Ryan ने finance के बारे में जानने के लिए रोज एक घंटा का टाइम निकाला । उसने इसके बारे में online articles में पढ़ा, कुछ Youtube वीडियो भी देखे। Ryan ने अपने चाचा से उनके खर्च करने की आदतों के बारे में भी पूछा। उनके चाचा जल्दी ही retire हो गए थे और उनका लाइफस्टाइल काफी हाई क्लास था। ऐसा नहीं था कि Ryan एक finance specialist बनने का गोल बना रहा था। नहीं, वह सिर्फ informed रहना चाहता था। दिन में एक घंटे ने उनके money managing skills को बहुत बढ़ा दिया था. Ryan ऐसा सालों तक करता रहा । वह न सिर्फ अपने पैसे के बारे में informed था बल्कि उसने यह भी सीखा कि इसे कैसे grow किया जाए। Principle 6: Develop a Written Budget and Evaluate It Every Single Month आपने शायद पहले बजट बनाने की कोशिश की होगी लेकिन फिर आपने ऐसा करना बंद कर दिया क्योंकि आप इसे फॉलो नहीं कर पाए। लेकिन यह एक सिग्नल है कि फिर से बजट बनाना चाहिए और उस पर टिके रहना चाहिए। बहुत से लोग बजट क्यों बनाते हैं क्योंकि यह सच में काम करता है और बहुत इफेक्टिव रहना पाहिए। परासपा पार पपा पगारा. क्योंकि यह सच में काम करता है और बहुत इफेक्टिव भी है. monthly बजट का मतलब होता है एक estimated बजट बनाना, उसे ट्रैक करना और अंत में एनालाइज करना कि आपका पैसा कहाँ और कैसे खर्च हो रहा है। यह आपको finance management skills develop करने में मदद करता है। budget बनाना यानी develop करने का मतलब है अपने महीने भर की income को लिखना । यह आपकी salary, bonus या gift हो सकता है। उसके बाद अपने खर्चों को लिखना जिसमें rent , बिल्स , car maintenance, खाने का खर्च वगैरह शामिल हो सकते हैं। अब, बजट develop करने के दो version होने चाहिए: estimated बजट और actual बजट। Estimated बजट वह है जो आपको लगता है कि आप एक महीने में कितना खर्च करेंगे। इसे आप महीने की शुरुआत में बनाते हैं | Actual बजट वह है जो आप actual में खर्च करते हैं। आप इसे महीने के अंत में बनाते हैं। अपने बजट को ट्रैक करना सिंपल है। यह compare करता है कि आपने इस महीने और पिछले महीने में अपने बजट को ट्रैक करना सिंपल है। यह compare करता है कि आपने इस महीने और पिछले महीने में कितना अच्छा परफॉर्म किया। यह बताता है कि आप बजट बनाने में better हो रहे हैं या नहीं। अपने बजट को track करना यह देखना होता है कि आपने सबसे ज्यादा पैसा कहाँ खर्च किया है। अगर यह एक जरूरी खर्च नहीं है, तो इस पर ध्यान देना समझदारी होगा । आपको हमेशा यह ध्यान रखना चाहिए कि आप हमेशा अपने बजट से नीचे रहे। Analysing और tracking से आपको अपने estimated और actual बजट के बीच फ़र्क देखने में मदद मिलती है। आप देख पाएँगे कि आपका पैसा कहां जाता है। क्या आपने इस महीने समझदारी से पैसा खर्च किया है? क्या आप खुश हैं कि आपने बिना सोचे समझे शॉपिंग नहीं की? Principle 7: Save 90% of Every Bonus or Non-Planned Income आपको बोनस की उम्मीद नहीं करनी चाहिए । बहुत सारे लोग ये गलती करते हैं जिससे उनका मंथली बजट गड़बड़ हो जाता है. बोनस गारंटीड इनकम नहीं है. हो सकता है कि आपको आज बोनस मिल जाए लेकिन दो सालों तक कोई बोनस ना मिले Example के लिए, Sara अपने estimated ममदद मिलता हा जापदप पाए कि जापका पता कहां जाता है। क्या आपने इस महीने समझदारी से पैसा खर्च किया है? क्या आप खुश हैं कि आपने बिना सोचे समझे शॉपिंग नहीं की? Principle 7: Save 90% of Every Bonus or Non-Planned Income आपको बोनस की उम्मीद नहीं करनी चाहिए । बहुत सारे लोग ये गलती करते हैं जिससे उनका मंथली बजट गड़बड़ हो जाता है. बोनस गारंटीड इनकम नहीं है. हो सकता है कि आपको आज बोनस मिल जाए लेकिन दो सालों तक कोई बोनस ना मिले Example के लिए, Sara अपने estimated बजट में बोनस पर ध्यान नहीं देती है। जबकी उन्हें पता होता है की बोनस जरूर मिलेगा। यह उनके बजट को cross न करने का उनका तरीका है। जब Sara को बोनस मिलता है, तो वह इसका सिर्फ़ 10% लेती है। उससे वह वो अपनी मनपसंद चीज़ खरीदती है फिर, वह अपने बोनस का 90% सेव करके invest कर देती है। बोनस के साथ वैसा ही behave करें जैसे वे हैं: unexpected लेकिन permanent नहीं। अपने estimated बजट में बोनस को add ना करें. WHY DIDN’T THEY TEACH ME THIS IN SCHOOL? Cary Siegel Principle 8: Drop “Unhealthy” Spending Habits ज़्यादातर लोगों की तरह, आप शायद इस टिप को सुनकर मुहं बना रहे होंगे। ऐसा आपके मम्मी पापा ने भी कभी-ना-कभी कहा ही होगा। शायद आपके teachers और professors ने भी कहा हो । सिर्फ इसलिए कि यह लाखों बार कहा गया है, इसका मतलब ये नहीं है कि इसमें कोई सच्चाई नहीं है। Unhealthy चीजें unhealthy खर्च करने की आदतों की ओर ले जाती हैं। Martin ने हाई स्कूल में smoke करना शुरू कर दिया था । ऐसा करना कूल समझा जाता था इसलिए वो भी स्मोक करने लगा था। Martin ने इसके result के बारे में कभी नहीं सोचा। जब आप young होते हैं, तो आप बेपरवाह होते हैं | Martin भी अपनी लत छोड़ नहीं पाया था. अब सिचुएशन ऐसी हो गई थी कि Martin एक दिन में एक पैकेट सिगरेट पिए बिना नहीं रह पाता था. अब अक्सर उसे चलने के बाद सांस लेने में दिक्कत होने लगी थी. स्मोकिंग ना सिर्फ़ हेल्थ खराब करती है बल्कि बहुत पैसा भी बर्बाद ककर देती है. सिगरेट के अलावा उसे जलाने के लाइटर और अपनी स्मेल को WHY DIDN’T THEY TEACH ME THIS IN SCHOOL? Cary Siegel Principle 8: Drop “Unhealthy” Spending Habits ज़्यादातर लोगों की तरह, आप शायद इस टिप को सुनकर मुहं बना रहे होंगे। ऐसा आपके मम्मी पापा ने भी कभी-ना-कभी कहा ही होगा। शायद आपके teachers और professors ने भी कहा हो । सिर्फ इसलिए कि यह लाखों बार कहा गया है, इसका मतलब ये नहीं है कि इसमें कोई सच्चाई नहीं है। Unhealthy चीजें unhealthy खर्च करने की आदतों की ओर ले जाती हैं। Martin ने हाई स्कूल में smoke करना शुरू कर दिया था । ऐसा करना कूल समझा जाता था इसलिए वो भी स्मोक करने लगा था। Martin ने इसके result के बारे में कभी नहीं सोचा। जब आप young होते हैं, तो आप बेपरवाह होते हैं | Martin भी अपनी लत छोड़ नहीं पाया था. अब सिचुएशन ऐसी हो गई थी कि Martin एक दिन में एक पैकेट सिगरेट पिए बिना नहीं रह पाता था. अब अक्सर उसे चलने के बाद सांस लेने में दिक्कत होने लगी थी. स्मोकिंग ना सिर्फ़ हेल्थ खराब करती है बल्कि बहुत पैसा भी बर्बाद ककर देती है. सिगरेट के अलावा उसे जलाने के लाइटर और अपनी स्मेल को A < पर अक्सर हमारा ध्यान नहा जाता लाकन जिनका वजह से हमारा बजट बिगड़ ज़रूर जाता है. कैरी हर महीने के अंत में इन सभी बिल्स को रिव्यु करते थे. हाई ticket बिल में कैरी उन बिल्स को रखते थे जो 100$ से ज़्यादा होते थे जैसे उनके क्रेडिट कार्ड का बिल. इन बिल्स को रिव्यु करने से उन्हें अपने खर्चों पर कंट्रोल रखने में मदद मिलती थी. आपका पैसा कहां जाता है यह देखकर आपको अपने खर्च को ट्रैक करने में मदद मिलती है। जब आप इसे रिव्यु करेंगे तो आपको आश्चर्य होगा कि आप कितना पैसा बर्बाद कर रहे हैं। इस सिस्टम को अपनाने के बाद आपको सोचना नहीं होगा कि आपका पैसा कहां गया। Principle 10: Spend Now to Save Later ऐसे कई मौके होते हैं जहां अपना पैसा खर्च करना ठीक होता है। हालांकि इसे बहाना बनाकर अपना सारा पैसा बर्बाद ना करें. इस principle के भी अपने कुछ रूल हैं जिसे आपको फॉलो करना चाहिए तो “अभी खर्च करें, बाद में सेव करें” कब अप्लाई होता है? तो पहला है car का maintenance। जब अपनी कार को चेक करवाने की बात आती है तो Becky बहुत सावधानी बरतती है। वो इस चीज़ को कभी कल के लिए नहीं टालती। ऐसा इसलिए है क्योंकि उसने अपना सबक सीख लिया है। कुछ साल पहले Becky की कार से अजीब सी आवाज़ आ रही थी। उसने इसे हफ्तों तक नजरअंदाज किया। इस ढिलाई के कारण उसकी कार खराब हो गई। बाद में रेरितननामा नि. तो थानान न IIrrnina रुपा राप गणराणपापा। इस ढिलाई के कारण उसकी कार खराब हो गई। बाद में मैकेनिक ने बताया कि वो आवाज़ एक warning थी। बेकी की कार इतनी damage नहीं होती अगर उसने पहले इसे चेक करवा लिया होता। दूसरा है fitness equipmentI Best quality के fitness equipment में invest करना फायदेमंद होता है | Ryan ने सस्ते मशीन खरीदने का फैसला किया था । लेकिन कुछ हफ्ते बाद ही उसका मशीन खराब हो गया। इस वजह से Ryan को normal से double पैसा खर्च करना पड़ा। इसके बजाय अगर वो शुरुआत में ही best quality के equipment खरीद लेता, तो उसके पैसे बच जाते। तीसरा healthcare है। हर साल अपना चेक up ज़रूर करवाना चाहिए। फिर चाहे वह फुल बॉडी चेक अप हो, , eye चेक अप हो या दांतों का check up। अगर कहीं कोई ज़रा सी भी परेशानी है, तो आप उसे जल्दी रोक सकते हैं। यह ठीक उसी तरह है जैसे Becky अपनी कार को खराब होने से रोक सकती थी। आप किस चीज़ पर खर्च करना चाहते हैं उसे priority दें यानी ख़ुद से सवाल करें कि अगर आपने अभी किसी चीज़ पर पैसा खर्च किया है, तो क्या यह फ्यूचर में आपके पैसे बचाएगी? Principle 11: It’s Okay to Buy Generic Grocery/Drug Products, and Doing so Saves You Lots of Money आप किस चीज़ पर खर्च करना चाहते हैं उसे priority दें यानी ख़ुद से सवाल करें कि अगर आपने अभी किसी चीज़ पर पैसा खर्च किया है, तो क्या यह फ्यूचर में आपके पैसे बचाएगी? Principle 11: It’s Okay to Buy Generic Grocery/Drug Products, and Doing so Saves You Lots of Money जेनेरिक यानी ordinary जिसमें किसी बैंड का नाम ना हो, सामान खरीदने में कोई शर्म की बात नहीं होनी चाहिए। असल में ज़्यादातर जेनेरिक प्रोडक्ट बड़े brands द्वारा बनाए जाते हैं. ये उन्हें ज़्यादा प्रॉफिट कमाने में मदद करता है. Soniya हमेशा branded सामान खरीदती थी ।वो हमेशा इस बात का ध्यान रखती थी कि वो जो भी खाने का सामान ले रही है वो किसी ना किसी बड़े ब्रैड का ही हो। दूसरी तरफ, Linda थोडा research करती है और उसे पता चलता है कि कुछ जेनेरिक सामान बिलकुल branded प्रोडक्ट जैसे हैं। इस information के कारण Linda के बहुत सारे पैसे बच गए। इस पैसे से अब वो अपना मनपसंद एक्स्ट्रा प्रोडक्ट भी खरीद सकती थी। दूसरी ओर, Soniya हमेशा अपने बजट से ज़्यादा पैसा खर्च कर देती थी । वह सिर्फ ब्रैड के नाम के लिए पैसा बर्बाद कर रही थी। WHY DIDN’T THEY TEACH ME THIS IN SCHOOL? Cary Siegel Principle 12: Learn How to Fix “Things” । क्या आप भी ऐसा कुछ कहते हैं – “मैं कुछ भी ठीक नहीं कर सकती” या “मैं: ठीक करने के लिए किसी से कहूँगी”। मैं कोशिश नहीं करूंगा क्योंकि मेरे पास इसे ठीक करने की एबिलिटी नहीं है”? जब आप किसी को कुछ रिपेयर करने देते हैं तो जो पैसा खर्च करते हैं, वह आपके बजट को बिगाड़ देता है। Ronny भी कोई चीज़ खराब हो जाने पर किसी ना किसी को उसे ठीक करने के लिए बुला लिया करता था. Ronny अमीर नहीं था लेकिन वो इन छोटे-छोटे रिपेयर पर बहुत पैसा खर्च करता था। फिर एक दिन, Ronny को एक YouTube वीडियो मिला। यह एक tutorial था कि बाइक के टायर को कैसे बदला जाए। Ronny को अचानक पिछले साल खरीदी गई महंगी बाइक की याद आ गई। उसके गैरेज में धूल जम रही थी। Flat टायर होने की वजह से उसने इसका इस्तेमाल नहीं किया था। वीडियो देखने के बाद Ronny हैरान रह गया। उसने सीखा कि महंगी बाइक के टायर को कैसे रिपेयर किया जाता है और यह उसकी सोच से ज्यादा आसान था। रसने cirreccfi ill/ .आानी ताटक का टायर बटल साखा क महगा बाइक क टायर का कस रपयर किया जाता है और यह उसकी सोच से ज्यादा आसान था। उसने successfully अपनी बाइक का टायर बदल दिया। इस experience ने Ronny को और tutorial देखने के लिए encourage किया। उसने सीखा कि वह चीजों को अपने आप ठीक कर सकता है। सीखने की इस इच्छा ने उसका बहुत सारा पैसा बचा लिया था। Principle 13: Use Cash as often as Possible अगर पैसा cash के form में ना हो तो उसे खर्च करना और भी ज़्यादा आसान लगने लगता है . जैसे Rey किसी भी चीज़ के पैसे भरने के लिए क्रेडिट कार्ड use करता था. लेकिन उसकी यही आदत उसके लिए परेशानी का कारण बनती जा रही थी. रे को कभी इस बात का एहसास ही नहीं हुआ कि वो कितनी ज़्यादा फ़िजूलखर्ची कर रहा था. वो ज़रुरत से ज़्यादा और बेवजह पैसे खर्च करता था. उसे ये बात तब समझ में आती थी जब क्रेडिट कार्ड का बिल उसे मिलता था. इसलिए जितना ज़्यादा हो सके cash ही use करें. जब आप कुछ खरीदने जाएंगे तब आपको समझ में आएगा कि आपके मेहनत की कमाई कितनी आसानी से आपके हाथ से निकल रही है। यह आपको अपने लापरवाह खर्च के लिए अलर्ट करता है। अपने monthly बजट को देखने के बाद, Ray को भी अपनी गलती का एहसास हुआ और उसमें बदलाव आना शरू हो गया। वह अब सिर्फ cash का इस्तेमाल भी अपनी गलती का एहसास हुआ और उसमें बदलाव आना शुरू हो गया। वह अब सिर्फ cash का इस्तेमाल करने लगा था । यह उसे ये ट्रैक करने में मदद करता है कि वह कितना पैसा खर्च कर रहा है। Principle 14: Approach Your Job Following the Three P’s: Passion, Politeness, and Persistence अपने काम में लगन, पैशन और politeness ही आपको सक्सेसफुल बनाती है. एक सक्सेसफुल इंसान के पास अक्सर जिंदगी भर के लिए एक कमाई का ज़रिया बना रहता है. एक जॉब आपको स्टेडी इनकम की गारंटी देता है इसलिए कोशिश करें कि आप जो भी काम करते हैं उसमें अपना बेस्ट दें. Passionate होना अक्सर employer के लिए जरुरी होता है। पैशन से भरा इंसान सक्सेसफुल होने के लिए सब कुछ करने के लिए तैयार रहता है। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि उसे किस चीज का शौक है। Passionate लोग इस energy को अपने काम में बदल सकते हैं। Polite होना आपको जीवन में बहुत आगे तक ले जा सकता है। एक normal सा “please” और “thanks” मैजिक की तरह काम करता है। यह आपके co workers को appreciated महसूस कराता है। यह आपको अच्छा महसूस कराता है कि आप लोगों की respect कर रहे हैं । Passionate होना अक्सर employer के लिए जरुरी होता है। पैशन से भरा इंसान सक्सेसफुल होने के लिए सब कुछ करने के लिए तैयार रहता है। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि उसे किस चीज का शौक है। Passionate लोग इस energy को अपने काम में बदल सकते हैं। Polite होना आपको जीवन में बहुत आगे तक ले जा सकता है। एक normal सा “please” और “thanks” मैजिक की तरह काम करता है। यह आपके co workers को appreciated महसूस कराता है। यह आपको अच्छा महसूस कराता है कि आप लोगों की respect कर रहे हैं । आजकल, proffesionals इसे अनदेखा करते हैं। किसी भी इंसान में Politeness होना एक बहुत important quality होती है। Persistence यानी लगातार पूरे लगन के साथ काम करते रहना इस बात की गारंटी देता है कि आपको कभी जॉब से नहीं निकाला जाएगा। हर दिन, काम में आने वाले challenges को फेस करने की पूरी कोशिश करें। आपके बॉस आपके लगन पर ध्यान ज़रूर देंगे और वे आपको अपनी कंपनी में हमेशा बनाए रखना चाहेंगे। इसके साथ ही, दूसरे लोग भी आपकी लगन से inspire होंगे। WHY DIDN’T THEY TEACH ME THIS IN SCHOOL? Cary Siegel Conclusion तो आपने सिंपल लेकिन इफेक्टिव मनी मैनेजमेंट टिप्स के बारे में सीखा. स्टूडेंट्स बेहतर फाइनेंसियल डिसिशन ले पाएं इसलिए स्कूल के सिलेबस में इन टिप्स को शामिल किया जाना चाहिए. सबसे पहले, आपने सीखा कि आपको एक ऐसा पार्टनर चुनना चाहिए जो पैसे को संभालने में अच्छा हो। अगर आप दोनों पैसों के बारे में बहुत अलग तरीके से सोचते हैं तो ये आपकी शादी को तलाक की ओर ले जाता है। दूसरा, आपने जीवन के main decision के बारे में ध्यान से सोचना सीखा। बच्चे की ज़िम्मेदारी उठाना कोई छोटी बात नहीं है। इसके लिए physical, emotional, mental 3iR financial stability की जरूरत होती है। तीसरा, आपने बिना सोचे समझे पैसों को खर्च करने की आदत को control करने के importance के बारे में सीखा। पैसों को मैनेज करना आसान नहीं पा जात पा COTILIUI परत || IIPUILDI ICE के बारे में सीखा। पैसों को मैनेज करना आसान नहीं है। लेकिन यह और भी मुश्किल हो जाएगा अगर आप अपने earning को ध्यान में रखकर अपने खर्चों को मैनेज नहीं करेंगे तो। चौथा, आप जितना ज्यादा फाइनेंस के बारे में सीखेंग, आप उतने ही समझदार होते जाएँगे। पांचवां, आपने छोटे छोटे एफर्ट के इम्पोर्टेस के बारे में जाना। दिन में एक घंटे के लिए financial टिप्स के बारे में पढ़ें। साल के अंत तक आप financially educated होने लगेंगे। छठा, आपने सीखा कि monthly बजट कैसे बनाया जाता है। यह एक estimated और actual बजट रखने में मदद करता है। फिर, analyze करें और आपके द्वारा खर्च किए जाने वाले हर पैसे को track करें। सातवां, आपने बोनस को सिर्फ़ बोनस के रूप में देखना सीखा। इसे अपने बजट में शामिल न करें। बोनस stable income नहीं हैं। अगर आप इसे बजट में शामिल करते हैं तो आपका बजट गड़बड़ हो जाएगा। आठवां, आपने अपनी unhealthy आदतों पर ध्यान देना सीखा। Unhealthy आदतें अक्सर unhealthy खर्च की वजह बनती हैं। आपका पैसा कहां जाता है, इसके बारे में होशियार रहें। कहां जाता है, इसके बारे में होशियार रहें। नौवां, आपने बिल रखने की आदत बनाना सीखा। छोटी छोटी खरीदारी खर्चों को बढ़ा देती है। बिल रखना आपके खर्च करने की आदतों पर नज़र रखने में आपकी मदद करती हैं। दसवां, आपने सीखा कि बुद्धिमानी से अपना पैसा कहां invest करना है। ग्यारहवें, आपने आसान ट्रिक्स के बारे में सीखा जो आपके काफी पैसे बचा सकते है। जितनी बार हो सके cash का use करें। इससे आपको यह समझने में मदद मिलेगी कि आप कितना खर्च कर रहे हैं। एक और hack यह सीखना है कि एक handyman कैसे बनें यानी अगर आप चीजों को repair करना जानते हैं, तो आप बहुत सारा पैसा बचा पाएंगे। बारहवां, हमेशा 3 P याद रखें: passion, politeness और persistencel हर काम में इन qualities को अप्लाई करें और सबसे अच्छे employee बनें। ये tips आसान लगते हैं, ये आसान हैं भी और सबसे ज़रूरी बात कि ये बहुत effective हैं। अच्छी financial management skills को develop होने में समय लगता है। ये tips उस process को speed देने में मदद करेंगे। और hack यह सीखना है कि एक handyman कैसे बनें यानी अगर आप चीजों को repair करना जानते हैं, तो आप बहुत सारा पैसा बचा पाएंगे। बारहवां, हमेशा 3 P याद रखें: passion, politeness और persistencel हर काम में इन qualities को अप्लाई करें और सबसे अच्छे employee बनें। ये tips आसान लगते हैं, ये आसान हैं भी और सबसे ज़रूरी बात कि ये बहुत effective हैं। अच्छी financial management skills को develop होने में समय लगता है। ये tips उस process को speed देने में मदद करेंगे। याद रखें कि सीखना स्कूल में नहीं रुकना चाहिए। अपने आप को उस knowledge या skills तक limited न रखें जो आप जानते हैं। जीवन भर एक स्टूडेंट की तरह सीखते रहे। किताबें पढ़ते रहे और नए skills की practice करें। ये ऐसी चीजें हैं जो स्कूल ने आपको नहीं सिखाईं। लेकिन यह आप पर depend करता है कि आप अपनी capabilities को बढ़ाएं और अपने समय को ठीक से use करें, उसे waste ना करें।

Leave a Reply