The Launch Books Summary In Hindi

The Launch
Jeff Walker
परिचय

क्या आपको बस एक ही हफ्ते में वन हंड्रेड thousand डॉलर कमाने का सीक्रेट जानना है. अगर आपका कोई ऑनलाइन बिजनेस है तो इसका सीक्रेट बस ये है कि आपके इस बिजनेस की लौन्चिंग सक्सेसफुल हो. आप जो भी नया प्रोडक्ट निकाले वो एक ज़ोरदार धमाके के साथ स्टार्ट हो. यही ख़ास तरीका है एक धाँसू ऑनलाइन बिजनेस करने का जिससे आपको ढेर सारा प्रॉफिट कमाने का मौका मिल सकता है . इस बुक में आप जितने भी एंट्प्रेन्योर्स के बारे में पढ़ेंगे उनकी स्टोरीज़ पढके आपको इस बात की पोसिबिलिटी समझ आएगी.जो फार्मूला आपको बताया जाएगा अगर आप उसे फॉलो करते है तो आपके सारे प्रोडक्ट लांच सक्सेसफुल होंगे. इसे प्रोडक्ट लांच फार्मूला बोलते है. पीएलऍफ़ में 3 सिक्वेन्सेस है. ये है प्री प्री-लांच, प्री-लांच और लांच. ये तीनो का आपके प्रोडक्ट की सक्सेस में बड़ा इम्पोर्टेन्ट रोल है. इस बुक में आपको बताया जाएगा कि कैसे अपनी इमेल लिस्ट और सेल्स लेटर्स क्रियेट करे. आपको प्रीलांच कंटेंट और मेंटल ट्रिगर्स के बारे में भी बताया जाएगा.ये सब एक पॉवरफुल लांच की जरूरी एलीमेंट्स है. अगर आपके पास अभी कोई भी प्रोडक्ट नहीं है तो भी आप ऑनलाइन बिजनेस स्टार्ट कर सकते है. ये सीड लांच के श्रू होता है जिसके बारे में आप लास्ट के चैप्टर में सीखेंगे. जो चीज़ आपको सबसे पहले सीखनी है वो ये है कि प्रोडक्ट लांच फार्मूला से कोई रातो-रात रिच नहीं बन जाता. ये आपको हार्ड वर्क और इंटेंसिव प्लानिंग करना सिखाता है. ये आपको ग्रेट कंटेंट और गुड रिलेशनशिप के ज़रिये अपने कस्टमर्स को ग्रेट वैल्यू देना सिखाता है. तो अब इसे शुरू करते है.

स्टे एट होम डैड से सात दिनों में सेवेन फिगर कमाई फ्रॉम स्टे एट होम टू सिक्स फिगर्स इन सेवन डेज़
क्या आप ऑनलाइन बिजनेस करने का सोच रहे है ? आप शायद लाइफ में थोडा चेंज चाहते है ? हो सकता
है कि वही रेगुलर एम्प्लोयी की जॉब से आप थक गए हो या फिर पैसे कमाने के कोई अच्छा सोर्स ढूंढ रहे हो.
हर किसी में कोई ना कोई टेलेंट या स्किल होता है, आप में भी होगा जो आप दुनिया को दिखा सकते है. अगर
आप अपने जैसे लोगो की हेल्प करना चाहते हो जो आपकी ही तरह सेम स्ट्रगल्स से गुज़र रहे हो तो ये आप
बुक आपके लिए एकदम सही है. अगर आप आलरेडी कोई ऑनलाइन बिजनेस चला रहे है और उसे ज्यादा
इम्प्रूव करना चाहते है तो भी इस बुक से आपको काफी हेल्प मिलेगी. चाहे प्रोडक्ट कितना भी अमेजिंग क्यों ना हो फिर भी उसे एक सक्सेसफल लौन्चिंग की जरुरत पडती है. लांच आपने बिजनेस के लिए एक मोमेंटम क्रियेट करता है. इससे आपकी सेल्स तो बढ़ेगी ही साथ ही आपको लॉयल कस्टमर भी मिलेंगे. इसके लिए एक प्रोडक्ट लांच फार्मूला है जिसे फॉलो करके आप अपना लांच सक्सेसफुल बना सकते है. इस बुक के लेखक जैफ वाकर एक स्टे एट होम डैड थे जो सात सालो से अनएम्प्लोयेड बैठे थे.

एक दिन उनकी वाइफ घर आई और कहा कि उसने अपनी जॉब छोड़ दी है. ये जैफ के लिए एक वेक-अप
काल था क्योंकि अब उन्हें कुछ ना कुछ तो करना था. जैफ ने ऑनलाइन बिजनेस के बारे में सोचा. अपने
बेसमेंट में बनाये गए डेस्क से उन्होंने एक इमेल सेंड किया जिसने उनकी लाइफ ही चेंज कर दी. ये शोर्ट
इमेल उस प्रोडक्ट के बारे में था जिसे उन्होंने उसी टाइम क्रियेट किया था.जैफ का प्रोडक्ट था एक न्यूज़ लैटर जो लोग स्बसक्राइब कर सके. इस न्यूज़ लैटर में उन्होंने स्टॉक मार्किट में अपने एक्स्पिरियेश की नॉलेज शेयर की थी. उन्होंने अपने इमेल में आर्डर फॉर्म के लिए एक लिंक भी डाला था. इमेल भेजने के बाद जैफ अपने कंप्यूटर स्क्रीन में आँखे गड़ाये बैठे रहे. उन्हें टेंशन हो रही थी कि कोई भी उनका ये प्रोडक्ट नहीं खरीदेगा.

मगर एक ही मिनट बाद उन्हें अपना पहला आर्डर मिला. उसके बाद और भी आर्डर आये. एक घंटे बाद
जैफ के पास $8,000 आ चुके थे. अगले दिन उनके पास $18,000 थे. और एक हफ्ते बाद $34,000
तक की कमाई हुई. वैसे ये जैफ का पहला प्रोडक्ट लांच नहीं था. मगर इस लांच ने उन्हें यकीन दिला दिया कि उनका ये ऑनलाइन बिजनेस उनकी फेमिली को सपोर्ट कर सकता है. उसके बाद उन्होंने कई और प्रोडक्ट निकाले. और उनका हर लांच पहले वाले से बैटर होता था. और फिर 2003 जैफ ने इन्टरनेट मार्केटिंग का एक सेमिनार अटेंड किया जिसमे वे कई सारे नए लोगो से मिले. उन सबसे मिलकर उन्हें पता चला कि कोई भी उनकी तरह प्रोडक्ट लांच नहीं करता है. जैफ को यकीन नहीं हुआ कि उन्होंने तो एक नयी मार्केटिंग अप्रोच इन्वेंट कर दी है. और ये अप्रोच थी प्रोडक्ट लांच फार्मूला. वे बराबर अपने फिनेंशियल न्यूज़ लेटर्स लिखते रहे. लेकिन ज्यादातर लोग उन्हें अपने प्रोडक्ट लांच के लिए हेल्प माँगा करते थे. तब जैफ को आईडिया आया कि क्यों ना वे लोगो को अपनी तरह प्रोडक्ट लांच करना सिखा दे.

उन्होंने प्रोडक्ट लांच फार्मूला का एक ट्रेनिंग प्रोग्राम शुरू कर दिया. हैरानी की बात तो ये थी कि उनका
ये आईडिया काम आकर गया और सिर्फ एक ही वीक में उन्होंने अपने इस पीएलऍफ़ ट्रेनिंग लांच से
$600,000 कमाए. उनका प्रोडक्ट लांच फार्मूला किसी भी टाइप के प्रोडक्ट या बिजनेस पर काम
कर सकता है. चाहे जो भी आपका प्रोडक्ट हो कोई ऑनलाइन कोर्स हो सॉफ्टवेयर या आर्ट एंड क्राफ्ट
का बिजनेस, पीएलएफ आपके काम ज़रूर आयगा. हालांकि इसमें काफी एफर्ट्स और प्लानिंग भी इन्वोल्व
है. मगर जैफ वाकर ने पहले ही क्लियर कर दिया है कि ये कोई “गेट रिच क्विक” फार्मूला नहीं है. अगर
आपको भी ‘सिक्स फिगर्स इन सेवन डेज़” चाहिए तो आपको मेहनत भी करने पड़ेगी. इस फार्मूला को अच्छे
से समझने की कोशिश करे ताकि इसका पूरा बेनिफिट ले सके, फिर देखो, ये कैसे आपके ऑनलाइन बिजनेस के हिसाब से फिट होता है. आप भी जैफ जैसे ही बन सकते है या हो सकता है उससे भी ज्यादा सक्सेसफुल हो सकते है.

The Launch
Jeff Walker
फूड स्टैम्प्स तो सिक्स फिगर्स : प्रोडक्ट लांच फार्मूला एक्स्प्लेंड

आपको ज्यादा पैसे की ज़रुरत नही पड़ेगी. जैफ वाकर ने जैसे किया था आप भी घर से ही शुरू कर
सकते है. आज इन्टरनेट की वजह से बिजनेस की दुनिया बड़े अमेजिंगली चेंज हुई है. आज कोई भी
अपना ऑनलाइन बिजनेस सक्सेसफुली चला सकता है. आप अपना कोई भी नया प्रोडक्ट चीपर, ईजीयर
और फास्टर लांच कर सकते है. प्रोडक्ट लांच फार्मूला तीन सिक्वेंसेस में कम्पोज़ड है. इसमे शामिल है प्री
लांच, प्रेलांच और लांच. स्टेज प्रोडक्ट की सक्सेस के लिए क्रिटिकल है. पीएलएफ का की-प्रिंसिपल है लोगो
से प्रोडक्ट खरीदने के लिए रिक्वेस्ट किये बिना ही अपना प्रोडक्ट सेल करना. इसमें पहले कस्टमर को
एक बढ़िया प्रेलांच कंटेंट दिया जाता है ताकि उनके साथ एक रिलेशनशिप बिल्ड हो सके. इस प्रिंसिपल में
मेंटल ट्रिगर्स है जिससे आपको एक वीक में ही सिक्स फिगर्स वाला प्रॉफिट होने लगेगा. क्या आप के पास
पहले से एक प्रोडक्ट है ? क्या आपने इसके सैम्पल्स बनाये है ? क्या आपका ये प्रोडक्ट लर्निंग बेस्ड है या
ये कोई फिजिकल प्रोडक्ट है ? अगर आपका प्रोडक्ट फिजिकल है तो आपको जॉन गालाघर की स्टोरी से
शायद कछ सीखने को मिल सकता है जिनका प्रोडक्ट था एक यूनिक बोर्ड गेम.

जॉन गालाघर और उनकी फेमिली फूड असिस्टेंस पर डिपेंड थी. अपनी वाइफ और किड्स को सपोर्ट करने
के लिए उससे जो बने वो करता था. हालांकि वो अपनी फेमिली के खाने के लिए फूड स्टैम्प्स पर डिपेंड था
लेकिन जॉन को पता था कि ये सिचुएशन टेम्परेरी है क्योंकि उसके माइंड में एक ग्रेट बिजनेस आईडिया
था. जॉन शुरू से ही हर्बल मेडिसिन में इंट्रेस्टेड रहा था. उसने सोचा क्यों ना एक ऐसा बोर्ड गेम बनाया जाए
जिससे बच्चो को हर्ड्स के नेचुरल बेनेफिट्स के बारे में सीखने को मिले.उसने ये गेम बनाया और इसका नाम रखा”वाइल्ड क्राफ्ट: एन हर्बल एडवेंचर गेम”. मगर इस गेम को बनाने के लिए उसे कम से कम कुछ आर्डर तो चाहिए थे. उसने प्रोड्क्शन कोस्ट भरने के लिए अपने पिता से $20,000 उधार लिए जिससे वो 1,500 वाइल्डक्राफ्ट बोर्ड गेम सेट्स बना सकता था. जॉन इस प्रोडक्ट को लेकर काफी कॉफिडेंट और एन्थूयास्टिक था. उसे पूरा यकीन था कि प्ल्येर्स इस बोर्ड गेम का एडवेंचर और आईडिया बहुत एन्जॉय करेंगे. जब उसे 1,500 वाइल्डक्राफ्ट बोक्सेस डिलीवरी मिली तो उसका पूरा घर उनसे भर गया. फिर भी जॉन ने अपने फ्रेंड्स और पड़ोसियों को एक लांच पार्टी पे बुलाया. उस दिन उसके बस 12 बोक्सेस ही बिक पाए जिससे जॉन बड़ा डिसअपोइन्ट हुआ.ऐसे कई एंटप्रेन्योर्स है जो जॉन की तरह खूब पैसा खर्च करके प्रोडक्ट
तो बना लेते है पर उनका पोडक्ट फेल हो जाता है

कोई नया रेस्ट्रोरेन्ट हो या कोई ब्लॉग, लास्ट में क्लोज़ करना पड़ता है क्योंकि कोई कस्टमर ही नहीं मिलता. ये वाकई में दिल दुखाने वाली बात है क्योंकि ये सिर्फ एक बिजनेस नहीं है, ये किसी के ड्रीम्स और पैसन का सवाल भी है. जॉन और उसकी फेमिली बोर्ड गेम्स से भरे घर में रहे, सिर्फ इसलिए क्योंकि उन्हें अपने प्रोडक्ट लांच की एक्साईटमेंट थी मगर ये उनके लिए एक पेनफुल मेमोरी बनके रह गयी. जॉन समझ नहीं पा रहा था कि अब क्या करे.उसके सर पे कर्जा चढ़ गया था, जो प्रोडक्ट उसने बनाया वो बिक नहीं पा रहा था. उसे अपनी फेमिली को इस सिचुएशन से बाहर निकालने का कोई रास्ता नज़र नहीं आ रहा था. फिर जब उसे प्रोडक्ट लांच फार्मूला के बारे में पता चला तो सारी सिचुएशन ही बदल गयी. जॉन ने इस
फार्मूला को क्लोजली लर्न किया और उसे यकीन हो गया कि ये फार्मूला उसके बिजनेस को बचा सकता
है, इसे फॉलो करके उसे अपने प्रोडक्ट के री-लांच का नया प्लान मिला. उसे ज्यादा पैसे भी खर्च नहीं
करने पड़ रहे थे.उसने एक लैपटॉप उधार लिया और कम्यूनिटी लाइब्रेरी का फ्री इन्टरनेट यूज़ करके अपना
प्रोडक्ट ऑनलाइन लांच किया. जॉन ने ओपनिंग में ही $20,000 कमाए. उसने कुल 670 वाइल्डक्राफ्ट
सेट बेचे थे. अपनी पहले वाली लांच पार्टी के कम्प्येर में ये स्टेटीस्टिक्स इनक्रेडिबल था. आज जॉन अपने
बोर्ड गेम्स की 50,000 से ऊपर कोपिज़ बेच चूका है. उसके बाद उन्होंने और भी बहुत से प्रोडक्ट सक्सेसफुली लांच किये.

The Launch
Jeff Walker
मनी प्रिंट करने का लाइसेंस : आपकी लिस्ट लाइसेंस तो प्रिंट मनी: योर लिस्ट

जो आपका ऑनलाइन बिजनेस है उसके लिए आपके पास कोई इमेल लिस्ट तो होगी? क्योंकि अगर आपको एक पॉवरफुल लॉन्च चाहिए तो सबसे पहले अपने कस्टमर तक पहुंचना होगा. और इसके लिए कस्टमर्स की ईमेल लिस्ट की ज़रुरत पड़ेगी. अगर कस्टमर्स की इमेल् लिस्ट आपके पास होगी तो आप जब चाहे अपने लिए इनकम जेनेरेट कर पायेंगे. ये आपकी अपनी नोट छापने की मशीन की तरह है. अब ये जान ले कि इमेल लिस्ट तैयार कैसे होगी ? तो पहले आपको पता करना पड़ेगा कि आपके ड्रीम कस्टमर्स आखिर है कौन ? किन लोगो को आप अपना प्रोडक्ट या सर्विस देना चाहेंगे ? आपके माइंड में ये आईडिया क्लियर
होना चाहिए.इसके लिए इमेजिनेशन में एक अवतार क्रियेट करे. ये अवतार आपका टिपिकल कस्टमर है.
कैसा दिखता है वो? उसकी प्रेफेरेंस क्या है ? उसकी डिज़ायर क्या है? ऐसी क्या चीज़ है जो उन्हें रातो को
जगाये रखती है ? जब आप अपने अवतार की ये सारी बाते जान लेंगे तो उनके लिए आप एक ऑप्ट
इन ऑफर आसानी से क्रियेट कर पायेंगे. ये ऑप्ट इन ऑफर सेकेण्ड स्टेप है. ये “एथिकल ब्राइब” एक रीजन
है जो आपके अवतार को आपकी इमेल लिस्ट ज्वाइन करवाएगा.

इस ऑप्ट इन ऑफर में आप कोई स्पेशल डील रख सकते है या डेली अपडेट्स या कोई न्यूज़ लैटर. मतलब
ऐसी कोई भी वैल्यू जो आप अपने ड्रीम कस्टमर को देंना चाहते है. लेकिन ये ऑप्ट इन इंट्रेस्टिंग होना चाहिए
ताकि वे अपना इमेल एड्रेस टाइप करके आपकी इमेल लिस्ट को सब्सक्राइब कर ले. और थर्ड स्टेप है, अपनी वेबसाईट में एक स्क्वीज़ पेज क्रियेट करे. स्क्वीज़ पेज वो स्पेस होता है जहाँ आप कस्टमर्स को अपने ऑप्ट इन ऑफर के बारे में इन्फोर्मेशन देते है. अब जबी कोई कस्टमर इस स्क्वीज़ पेज में आएगा तो उसे दो ऑप्शन मिलेंगे. या तो वे अपना इमेल एड्रेस टाइप कर दे या चाहे तो पेज से एक्जिट कर सकते है. अब मान लो कि आपकी इमेल लिस्ट बन गयी. लेकिन ये कैसे श्योर होगा कि लोग आपकी इमेल पढेंगे? और पढ़कर उस लिंक में क्लिक करेंगे? और इस बात को कैसे श्योर करेंगे कि लोग आपसे कोई प्रोडक्ट या सर्विस खरीदे? एक रिस्पोंसिव इमेल लिस्ट का होना इस बात की गारंटी है कि आपके कस्टमर्स से आपका एक रिलेशनशिप बिल्ड होगा. इस ऑनलाइन बिजनेस की बदौलत जैफ वाकर फाइनली अपनी फेमिली को सपोर्ट करने में सक्सेसफुल रहे. लेकिन उन्हें अपनी वाइफ और बच्चो के लिए एक ड्रीम होम भी चाहिए था. साथ ही वो अपनी फेमिली के साथ किसी बढ़िया टाउन में शिफ्ट होना चाहता था और ये सब करने के लिए उसे $70,000 की डाउन पेमेंट की ज़रुरत थी. ऐसी हालत में ज्यादतर लोग बैंक से लोन लेने के बारे में सोचते या फिर फ्रेंड्स या रिलेटिव से उधार लेते है. लेकिन जैफ के माइंड में सबसे पहला आईडिया यही आया

कि वो अपने कस्टमर को कोई ऐसा प्रोडक्ट ऑफर करे जिससे वो क्विक्ली $70,000 कमा सके. जैफ
वाकर ने लोगो को समझाया कि एक इमेल लिस्ट एक लिस्ट से बढ़कर और भी बहुत कुछ है. ये आपके लिए किसी एस्सेट से कम नहीं है. ये वो मीडियम है जिससे आप जब चाहे तब पैसा कमा सकते है. ये एक तरह से आपके ऑनलाइन बिजनेस का ब्रेड एंड बटर है. बस यही आईडिया जैफ के माइंड में भी था. उसने अपनी इमेल लिस्ट चेक की. अपने कस्टमर्स का फीडबैक निकाला. कस्टमर को कैसा प्रोडक्ट चाहिए ये जानने के लिए जैफ ने उन फीडबैक स्टडी किया. उसने ऐसा प्रोडक्ट चूज़ किया जो वो कम से कम
टाइम में ईजिली क्रियेट कर सके. और प्रोडक्ट क्रियेट करने के बाद जैफ ने अपनी इमेल लिस्ट में जाकर बेस्ट लांच की प्लानिंग की. उसे पता था कि कैसे अपनी इमेल लिस्ट की पोटेंशियल को मेक्सिम किया जाये. उसका अपने कस्टमर्स के साथ इंटरएक्शन और वो उनसे अपनी पर्सनल लाइफ भी शेयर करता था. उसके कस्टमर्स भी उससे अपनी किसी लॉन्ग लॉस्ट फ्रेंड की तरह ही रेस्पोंड करते थे क्योंकि वे हमेशा ही उसके प्रोडक्ट को सपोर्ट करते थे. जैफ ने अपने इस नए लांच से सिर्फ वन वीक में $ 106,000 कमाए. इतना पैसा बहुत था उसके लिए कि वो अपनी फॅमिली के साथ अपने ड्रीम टाउन के ड्रीम होम में शिफ्ट हो सके.

The Launch
Jeff Walker

साइड वेज़ सेल्स लैटर : “सेल्सी” बने बगैर सेल कैसे करे
द साइडवेज़ सेल्स लैटर : हाउ टू सैल लिखे क्रेजी विदाउट बीइंग “सेल्सी
जब इन्टरनेट नहीं था तो बिजनेस कंपनीज़ अपने सेल्स लैटर्स लोगो को भेजा करते थे. सेल्स लैटर एक तरह का प्रिंट एड्वरटीज़मेंट है जिसे पर्सनल लैटर की तरह भेजा जाता था. ये सेल्स लैटर 8 से 12 या 24 पेजेस
के भी हुआ करते थे. लेकिन आजके टाइम में इन्टरनेट मार्केटिंग की वजह से कई सारे चेंजेस आ गए है अब
काफी सारे ऑनलाइन एड्वरटाइजमेंट देखने को मिलते है. लोग अब किसी भी तरह की सेल्स पिच को अवॉयड करते है. इसलिए अब 10 पेज का सेल्स लैटर सेंड करने के बजाये आपको चाहिए कि अपने साइडवेज़ सेल्स लैटर के लिए 10 दिन का टाइम रखे.इन साइड वेज़ सेल्स लैटर में आपको लोगो से डाइरेक्टली ये नहीं बोलना है कि वे आपका प्रोडक्ट खरीदे क्योंकि सीक्रेट यही है कि आप अपने कस्टमर को हमेशा ग्रेट वैल्यू दे. आप इन साइड वेज़ सेल्स लैटर्स में अपने प्रोडक्ट का प्रेलांच कंटेंट बताएँगे. अब आप पूछेगे कि ये प्रे लांच कंटेंट क्या है ? तो हम आपको बताते है कि ये आपके प्रोडक्ट का सैम्पल है जो आप कस्टमर्स को फ्री में देंगे. लेकिन ध्यान रहे कि ये वैल्यबल कंटेंट हो.

आपके पीएलसी से कस्टमर्स को ग्रेट वैल्यू मिले ये बहुत ज़रूरी है क्योंकि तभी उन्हें पता चलेगा कि आपका
बिजनेस उन्हें क्या ऑफर कर रहा है.लोगो का अटेंशन ग्रेब करने के लिए उन्हें फ्री में वैल्यूबल कंटेंट दे. लेकिन उनसे डाईरेक्ट ये ना बोले कि वे आपका प्रोडक्ट खरीद ले. आपका पीएलसी कोई वीडियो हो सकता है या फिर कोई इमेल या कोई ब्लॉग एंट्री. आमतौर पे प्रेलांच कंटेंट के 3 पीसेस होते है. इसे बैटर तरीके से समझने के लिए बैरी फ्रेडमेन की स्टोरी का एक्जाम्पल लेते है. बैरीं फ्रेडमेन एक बाज़ीगर था. ये उसका पैसन भी था और प्रोफेशन भी. वो इसमें इतना बढ़िया था कि टूनाईट शो में वो जॉनी कार्सन के साथ आया था. उसे व्हाईट हाउस में भी अपना शो दिखाने का मौका मिला था.बैरी ग्रेट एंटरटेनर है लेकिन साथ ही वो अपने प्रोफेशन के बिजनेस साइड को भी बहुत अच्छे से हैण्डल करता है.उसे हमेशा हाई पेईंग कोंट्रेक्ट मिलते है. कोर्पोरेट शोज़ के लिए उसकी बुकिंग फुल रहती है. बैरों को जो चीज़ करने में मज़ा आता है उसी से वो ढेर सारा पैसा भी कमा रहा है. मगर माउन्टेन बाइकिंग करते वक्त बैरी का खतरनाक एक्सीडेंट हुआ जिसमे उसका कालर बॉन और शोल्डर बुरी तरह फ्रेक्चर हो गए थे. उसे सर्जरी करवानी पड़ी. और जब वो हॉस्पिटल में एडमिट था तो उसे अपने फ्यूचर की टेंशन हो रही थी. बैरीं जानता था कि उसके जैसे एंटरटेनर्स तो बहुत
सारे है लेकिन वो सब उसकी तरह बिजनेस साइड के बारे में इतने अच्छे से नहीं जानते है उन्हें बैरी की तरह हाई पेईंग शोज़ नहीं मिलते है. बैरों को आईडिया आया

कि क्यों ना वो अपने जैसे परफ़ॉर्मर्स को अपनी तरह अमेजिंग टेलेंट दिखाकर पैसे कमाना सिखाये. बैरी
ने अपने इस नए प्रोडक्ट का नाम रखा” शोबिज़ ब्लू प्रिंट”. ये 10 वीक का कोचिंग प्रोग्राम है. उसने सिर्फ
15 लोगो के लिए एक एक्सक्लूसिव स्लॉट का ऑफर रखा. हर स्लॉट की फीस थी $2,000. बैरी ने 1,000
लोगो की एक कस्टमर इमेल लिस्ट बनाई. उसने अपने “शोबिज़ ब्लूप्रिंट” को प्रमोट करने के लिए सबको अपने साइडवेज़ सेल्स लैटर भेजे. प्रेलांच के लिए उसने अपने 3 वीडियोंज चूज़ किये. अपने पहले वीडियो में बैरों ने अपने फेलो एंटरटेनर्स के लिए दिल खोलकर अपनी फीलिंग्स दिखाई थी जो बर्थडे पार्टीज़ में शो किया करते थे या वो थे जो बेचारे इस काम से खुश नहीं थे मगर मन मारकर पैसे के लिए ये कर रहे थे.
वीडियो में बैरी ने अपनी स्टोरी भी शेयर की थी. वो अपने व्यूवर्स को ये बताना चाहता था कि फुल टाइम
परफॉर्मर बनके भी कोई फाईनेंशली सक्सेसुल बन सकता है. सेकेण्ड वीडियो में बैरी ने बेसिक प्रिंसिपल
शेयर किया कि कैसे एंटरटेनर्स खुद की अपनी एक मार्किट बना सकते है. थर्ड वीडियो में उसने एंटरटेनर्स
के लिए वेबसाइट्स का रिव्यू तैयार किया था जिसमे कुछ ऐसी मिस्टेक्स बताई गयी थी जो अक्सर एंटरटेनर कॉमनली करते है और उन मिस्टेक्स को ठीक करने का तरीका भी बताया गया था और लास्ट में उसने कोचिंग प्रोग्राम का एक पाइवोट भी बनाया था. ओवर आल बैरों के इस पीएलसी वीडियोज़ का मार्केटिंग पार्ट सिर्फ 25% था. उसने 6 दिन के अंदर ये वीडियोज़ अपलोड किये. जब उसने रजिस्ट्रेशन के लिए अपनी वेबसाईट ओपन की तो हाथो हाथ उसके 75 स्लॉट्स बिक चुके थे. हर लांच पे उसने टोटल $29,955 कमाए. एक इफेक्टिव साइडवेज़ सेल्स लैटर डिलीवर करने के लिए ये आपका ग्रेट सेल्समेन होना कोई शर्त नहीं है. बस आपको ये फोर्मेट याद रखना है. हर एंड पे अपना प्रोडक्ट पाइवोट करना है. अगर आप कस्टमर को अच्छा कंटेंट देना चाहते है तो आपको उनका इंटरेस्ट जगाना पड़ेगा ताकि वो आपका ग्रेट प्रोडक्ट खरीदने के लिए उतावले हो जाए. और ये कहने की भी ज़रूरत नहीं पड़ेगी कि “प्लीज़ मेरा प्रोडक्ट खरीद लो” नो नीड टू से “ बाई माय स्टफ”

The Launch
Jeff Walker

वीपन्स ऑफ़ मॉस इन्फ्लुयेंश: द मेंटल ट्रिगर्स मॉस इन्फ्लुयेंश का हथियार : द मेंटल ट्रिगर्स अब आपको पता है कि अपनी इमेल लिस्ट कैसे बनाये. आपको ये भी पता है कि साइडवेज़ सेल्स लैटर की
हेल्प से अपना प्रोडक्ट कैसे इंट्रोड्यूस करना है. अब इससे पहले कि आप लांच सिक्वेंस के लिए प्रोसीड करे
आपको मेंटल ट्रिगर्स की पॉवर के बारे में जान लेना चाहिए. मेंटल ट्रिगर्स होता क्या है ? ये वो चीज़ है जो
हमारे एक्श्न्स और डिसीजन्स को इन्फ्लुयेश करता है. ये बड़े बेसिक वे में हमारे ब्रेन को अफेक्ट करता है.ये
हमारे सबकोंशस में डीपली रूटेड रहते है. मेंटल ट्रिगर्स एक तरह से मॉस इन्फ्लुयेंश का वीपन यानी हथियार
है क्योंकि ये एक बड़े स्केल पर लोगो के एक्श्न्स और डिसीजन्स को अफेक्ट कर सकते है. ये किसी भी लांच का एक इम्पोर्टेन्ट पार्ट होते है. अगर आप इन मेंटल ट्रिगर्स को अपने कस्टमर्स पर यूज़ करेंगे तो गारंटी
से आपको अमेजिंग रिजल्ट मिल सकते है. इनमे से कुछ नीचे दिए गए है. फर्स्ट मेंटल ट्रिगर है रेसीप्रोसिटी
जिसका मतलब है कि आपने कुछ रिसीव किया तो आप बदले में कुछ देना चाहेगे. अपने प्रेलांच के लिए
आपको अपने कस्टमर्स को कुछ ना कुछ देना पड़ेगा. आप उन्हें हाई क्वालिटी का फ्री कंटेंट देते है तो बदले
में आप भी कछ पाएंगे. अब ये आपके प्रेलांच कंटेंट की वैल्यू पर डिपेंड करता है कि आपको बदले में क्या मिलेगा. सेकेण्ड मेंटल ट्रिगर्स है एंटीसिपेशन.

जब एक्सेसिव ऑनलाइन मार्केटिंग होती है तो उसे मार्केटिंग फोग बोलते है. लेकिन अगर आपके लांच में
एंटीसिपेशन है तो ये आपके कस्टमर्स को डाइरेक्टली आपके प्रोडक्ट तक लेकर आएगा. एंटीसिपेशन आपके कस्टमर्स का अटेंशन ग्रेब करता है और आपके हर लांच के लिए उन्हें एक्साइटेड बनाये रखता है. थर्ड
मेंटल ट्रिगर है लाइकेबिलिटी. आपको अपने कस्टमर्स को अपने जैसा ही बनाना होगा जिससे आप उन्हें
इन्फ्लुयेंश करके अपना प्रोडक्ट बेच सके. अपने कस्टमर्स के साथ कनेक्ट रहे, उन्हें अपने बारे में जानने
का मौका दे. उनसे इंटरएक्ट करते रहे. उनके कमेंट्स और मैसेजेस का रिप्लाई देना ना भूले. अगर आप ये
करते है तो आपके कस्टमर्स भी हमेशा आपको और आपके प्रोडक्ट्स को सपोर्ट करेगे. फोर्थ मेंटल ट्रिगर है, इवेंट्स. क्या आपने कभी नोटिस किया है कि एप्पल कैसे अपना हर नया प्रोडक्ट लांच करता है ? वो हमेशा इसे एक बड़े इवेंट की तरह रखता है. यही विक्टोरिया’स सीक्रेट भी अपने फैशन शोज़ में करता है. लोगो बड़े इवेंट्स से अट्रेक्ट होते है, उसे ज्वाइन करना चाहते है. इससे उन्हें किसी बड़ी चीज़ से जुड़े होने की फीलिंग आती है. आपको भी ठीक यही इफेक्ट अपने लांच में लाना है. आप भी चाहे तो अपने प्रेलांच के लांच इवेंट की एक डेट सेट कर सकते है.

अपनी वेब साईट में एक काउंटडाउन टाइमर भी रखे जिससे आपके कस्टमर्स को इसका बेसब्री से इंतज़ार
रहे. एक बार जब आपके ऑर्डर्स खुलेंगे तो वे तुरंत आपके प्रोडक्ट पर क्लिक करेंगे. फिफ्थ मेंटल ट्रिगर
है स्कारसिटी. आप अपने प्रोडक्ट की स्कारसिटी क्रियेट करके इसे और भी वैल्यूबल बना सकते है. लांच इवेंट पे अपने कस्टमर्स को कुछ डिस्काउंट या फ्रीबीज़ दे जो कस्टमर्स सिर्फ लांच तक की अवेल कर सके.
इस लिमिटेड ऑफर की अपोरच्युनिटी ग्रेब करने के लिए कस्टमर्स ललचायेंगे और तुरंत प्रोडक्ट खरीद
लेंगे. अगर आपको ज्यादा पॉवर फुल इफेक्ट चाहिए तो इन सब मेंटल ट्रिगर्स को साथ में कम्बाइन कर
ले. क्योंकि प्रोडक्ट लांच फार्मूला की हेल्प से आप मल्टीपल ट्रिगर्स भी क्रियेट कर सकते है. ज़रा इमेजिन
करके देखिये कि आप अपने प्रोडक्ट के लांच सिक्वेंस के लिए मेंटल ट्रिगर्स कैसे अप्लाई करेंगे?
द शॉट अक्रॉस द बो: योर प्री लांच टू शॉट अक्रॉस द बो एक नेवी टर्म है जिसका मतलब है दुसरे शिप्स को एक वार्निंग शॉट देना. ये कैप्टन का तरीका होता है दुसरे शिप्स की अटेंशन ग्रेब करने का बिना किसी फुल अटैक के. एक तरीके से ये आपका तरीका है जो आप प्री लांच में यूज़ करेंगे. आप अपने कस्टमर्स को एक टाइप की वार्निंग दे रहे है कि उनके लिए एक ग्रेट प्रोडक्ट आने वाला है. अभी आपने कुछ बेचा नहीं है फिर भी आप उनकी अटेंशन ग्रेब करना चाहते है.इन्फेक्ट इस स्टेज पे आपके पास बस एक प्रोडक्ट आईडिया ही है. प्री लांच बहुत ईजी और सिम्पल है. आपको बस एक या दो शोर्ट इमेल्स अपने कस्टमर्स को सेंड करनी है. इसके लिए कोई सोशल मिडिया पोस्ट सही रहेगी. या फिर अपनी इमेल लिस्ट के लिए आप कोई वीडियो या सर्वे भी क्रियेट कर सकते है. यहाँ हम 6 क्वेश्चन का एक सेट बताएँगे जो आपके प्री लांच में आपको गाइड करेगा. फर्स्ट क्वेश्चन है” लोगो को कोई भी प्रोडक्ट बेचने की कोशिश किये वगैर उन्हें कैसे अपने प्रोडक्ट की इन्फोर्मेशन दे”?

लोगो को अक्सर सेल्स पिच पसंद नहीं आती. इसलिए आपको कोई न कोई तरीका तो निकालना होगा
जिससे आपके कस्टमर्स का ट्रस्ट भी बना रहे और वो आपके प्रोडक्ट के बारे में जान भी ले. सेकेण्ड क्वेश्चन
है” कस्टमर्स की क्यूरियोसिटी कैसे बढाई जाये ?” क्यूरियोसिटी भी एक तरह का मेंटल ट्रिगर है. अगर
आपके कस्टमर्स क्यूरियस होंगे तभी तो आपके प्रोडक्ट के लिए उन्हें एक्साईटमेंट होगी और आने वाले लांच
का भी बेसब्री से इंतज़ार करेंगे. थर्ड क्वेश्चन है” अपना ये प्रोडक्ट क्रियेट करने के लिए उनकी हेल्प कैसे लूँ,
इसे कैसे कोलाब्रेटिव बना सकता हूँ?’ लोग जो चीज क्रियेट करने में हेल्प करते है उसे ज़रूर सपोर्ट करते है.
अपने कस्टमर्स को ये फील कराना बहुत ज़रूरी है कि उनकी हेल्प से ही आपका ये प्रोडक्ट क्रियेट हो पाया है. किसी भी तरीके से उनके साथ कोलाब्रेट करने की कोशिश करे.

फोर्थ क्वेश्चन है” इसमें फन और ह्यूमर का एलिमेंट कैसे डाला जाए जिससे ये लोगो को और भी ज्यादा
एक्साइटिंग लगे? अगर आपकी बात से लोगो के फेस पे स्माइल आ गयी या आपने उन्हें हंसा दिया फर्स्ट पीएलसी आपके लिए एक बड़ी अपोर्चुनिटी है. हर सिंगल प्रोडक्ट चेंज लाने की अपोर्म्युनिटी होती है. फिर चाहे प्रोडक्ट बॉडी शेवर हो या गिटार टूयूटोरियल. किसी की लाइफ में किसी भी प्रोडक्ट से चेंज आ सकता है. लेकिन उसके लिए सबसे पहले अपोचूँनिटी शो करानी ज़रूरी है. सेकेण्ड पीएलसी टीचिंग है. अपना वीडियो शो कराने के बाद ऑडियेश को आप क्या टिप्स देना चाहेगे जो वे अप्लाई कर सके? अपने प्रोडक्ट के बारे में कुछ टिप्स, कुछ बेसिक र्पिन्सिप्ल्स देना बढ़िया आईडिया होगा आप चाहे तो उन्हें कोई केस स्टडी भी बता सकते है जिससे आपने कुछ सीखा हो. थर्ड पीएलसी है जहाँ आप अपने एजेंडा को पाइवोट करते है. अब तक आपने गुड कंटेंट देकर अपने व्यूवर्स का दिल तो जीत ही लिया होगा. अब पीएलसी के लास्ट 25% पार्ट में आपको उन्हें बताएँगे कि कैसे अल्टीमेट चेंज लाया जा सकता है और ऑफ़ कोर्स ये चेज तभी आएगा जब वे आपका प्रोडक्ट खरीदेगे.

इमेजिन करे कि आप एक योगा टीचर है. अब आप योग सिखाते है तो आपका प्रोडक्ट योगा एक्सरसाइज़
वीडियोज हो सकता है. अपने पीएलसी # 1 के लिए आप अपने व्यूवर्स को योगा से ओवरआल हेल्थ चेंज
की अपोरच्यूनिटी दे सकते है. अपनी पीएलसी #2 के लिए आप उन्हें योगा के बेसिक प्रिंसिपल बता सकते
है.साथ ही उन्हें कुछ सैम्पल एक्सरसाइज़ भी बताये जो करने में ईजी हो.. अपने पीएलसी # 3 के लिए अपने
व्यवर्स के क्वेश्चन का आंसर दे दसकी एंडिंग से पहले अपने प्रोडक्ट को पाइवोट करे. इसके लिए अपनी हेल्प ऑफर करे ताकि वे अपनी लाइफस्टाइल और टोटल हेल्थ में ग्रेट चेंजेस ला सके. और ये चांस आप उन्हें योगा एक्सरसाइज़ प्रोवाइड करके दे सकते है.

शो मी द मनी : इट्स टाइम टू लांच
अब आप बिलकुल तैयार है. आप प्री-प्री लांच और प्री लांच में कस्टमर्स को अपने कंटेंट की ग्रेट वैल्यू दे
चुके है. और अब तक उनके साथ आपका एक स्ट्रोंग रिलेशनशिप भी बन गया होगा. ऑफ़ कोर्स अब वे
आपके बारे में बहुत कुछ जानते होंगे क्योंकि आप उन्हें लगातार इमेल्स, ब्लोग पोस्ट और वीडियोज के
श्रू कनेक्टेड रहे है. और आपके व्यूवर्स अब आपको मैसेजेस और कमेंट्स भी भेजते रहते होंगे. सबसे
इम्पोर्टेन्ट बात कि आपके रिस्पोंस देने की वजह से वे आपको और भी बैटर तरीके से समझते है. आपने
अपने प्री-प्री लांच और प्री लांच में जो मेंटल ट्रिगर्स यूज़ किये थे उसकी वजह से आपके कस्टमर क्यूरियस
और एंटीसीपेटेड हो गए होंगे. आपने उन्हें रेसीप्रोसिटी के लिए काफी मेटेरियल दे दिया है. अपना फ्री वैल्यूबल कंटेंट देकर आपने खुद को काफी लाइकेबल भी बना लिया है. तो अब टाइम आ गया है उस बिग इवेंट का जो है आपका ग्रेट लांच.. इस पॉइंट पर आकर आपको एक बडा इम्पोर्टेन्ट कोन्सेप्ट सीखने की जरुरत है जो है

ओपन कार्ट, क्लोज कार्ट और स्कारसिटी. अपने लांच वाले दिन आपको अपना ओपन कार्ट करना है. ये वही टाइम है जब आप अपनी वेबसाइट को ऑर्डर्स और रजिस्ट्रेशन के लिए ओपन करेंगे. आप लिस्ट को नोटीफाई करने के लिए एक शोर्ट इमेल भी सेंड कर सकते है. आपके इस इमेल में ये ज़रूर मेंशन हो कि आप ओपन कार्ट है और अपने कस्टमर को सेल्स पेज का लिंक भी प्रोवाइड करे. अब सेल्स पेज क्या है? ये आपकी वेबसाईट का पार्ट होगा जब कस्टमर अपने आर्डर पर क्लिक करेंगे. आपको “ओपन कार्ट इमेल” सेंड करने से पहले ये रिचैक करना होगा कि आपका सेल्स पेज लाइव हो. और भी कुछ चीज़े है जो आपको पहले से चैक करनी पड़ेगी. सेल्स पेज के सारे लिंक्स काम कर रहे है या नहीं ये चैक कर ले. आपका ऑर्डर फॉर्म भी रेडी होना चाहिए. आपको आर्डर प्रोसेस चैक कर लेना चाहिए कि ये स्मूदली काम करे. अब अगर कस्टमर ने आर्डर प्लेस कर दिया तो आगे क्या ? उनके आर्डर प्लेस करने पर आपको बैंक यूं का पेज रखना चाहिए और एक कन्फर्मेशन इमेल भी. एक बार जब सब ठीक से चल जाए तो आप अपने ओपन कार्ट के साथ प्रोसीड कर सकते है. एक लांच का यूजुअल टाइम वन वीक होता है जो ओपन कार्ट डे से लेकर क्लोज़ कार्ट डे तक होता है. लांच डे या ओपन कार्ट डे के दिन आपको टीपीकली 25% तक आर्डर मिल सकता है. और लास्ट डे

या क्लोजिंग डे वाले दिन आप 50% तक ऑर्डर्स मिल सकते है. बाकी के 25% इन बीच के 5 डेज़ में
डिस्ट्रीब्यूटेड किया जा सकता है. आपके लांच के पहले दिन का स्पाइक कस्टमर्स की एनटीसीपेशन की वजह से है. ये तभी बिल्ड हो गया था जब आपने कस्टमर्स को साइडवेज़ सेल्स लैटर सेंड किया था. और लास्ट डे का आर्डर इसलिए स्पाइक हुआ क्योंकि आपने अपने प्रोडक्ट की स्कारसिटी क्रियेट की थी. ज़रूरी नहीं कि आप अपने क्लोज कार्ट वाले दिन ही अपना प्रोडक्ट निकाले. बेशक आपको अपने लांच पीरियड को खत्म करना पड़ेगा. स्कारसिटी क्रियेट करने का यही एक तरीका है. अगर कस्टमर्स आपके क्लोज कार्ट से पहले या लांच एंड के बाद भी कुछ नहीं खरीदते है तो इसका नेगेटिव कोंसिक्वेसं होगा. पहला तो ये कि प्रोडक्ट का प्राइस बढ़ जाएगा, दूसरा ये कि कोई बोनस नहीं मिलेगा. और तीसरा वे अब कोई प्रोडक्ट अवेल नही कर पाएंगे. ज्यादा बढे इफेक्ट के लिए आप अपने लांच में एक से ज्यादा स्कारसिटी यूज़ कर सकते है. जिससे आपके कस्टमर्स प्रोक्रास्टीनेटिंग ना कर पाए. जैसे एक्जाम्पल के लिए आपका प्रोडक्ट ऑनलाइन गिटार लेसंस है तो आप अपने लांच पर गिटार क्लासेस के लिए रजिस्टर करने पर डिसकाउंट और बोनस देकर स्कारसिटी क्रियेट कर सकते है. अगर आप एडवान्सड लेसंस दे रहे है तो आप स्लॉट नंबर लिमिट कर सकते है. एक स्लॉट जब फिल हो जाए तो आपका कार्ट खुद क्लोज

The Launch
Jeff Walker

स्क्रेच से शुरूवात कैसे करे: द सीड लांच
हाउ टू स्टार्ट फ्रॉम स्क्रेच: द सीड लांच

ये कितनी अमेजिंग बात है कि 100 फीट लम्बा ओक ट्री एक छोटे से सीड से निकल कर इतना बड़ा
हो जाता है. इसीलिए सीड लांच को ये नाम मिला है. बिलकुल इसी तरह आपके ऑनलाइन बिजनेस
को भी सक्सेफुली ग्रो करना चाहिए बेशक उसकी शुरुवात कितनी भी छोटी क्यों ना हो. और ये होता है
सीड लांच करने से. सीड लांच में ऑनलाइन बिजनेस स्टार्ट करना पोसिबल है फिर चाहे आपके पास कोई
प्रोडक्ट या इमेल लिस्ट हो या ना हो. हालांकि ये उन्ही प्रोडक्ट्स पर अप्लाई होता है जो लर्निंग बेस्ड हो या
नोलेज बेस्ड. आप उन्हें अलोंग द वे क्रियेट कर सकते है. एक्जाम्पल के लिए कोई ऑनलाइन कोर्सेस या
ट्यूटोरियल. लेकिन आप ये फिजिकल प्रोडक्ट के साथ नहीं कर पायेंगे. सीड लांच के लिए जो आपको चाहिए वो है अपने पर्सनल इन्बोक्स से कुछ इमेल्स या सोशल मिडिया कॉन्टेक्ट्स. आप वहां से अपनी इमेल लिस्ट निकाल सकते है. एक बार अगर आपके पास प्रोडक्ट

Leave a Reply