Extreme Ownership: How U.S. Navy SEALs Lead an… Jocko Willink and Leif Babin Books In Hindi Summary

Extreme Ownership: How U.S. Navy SEALs Lead an… Jocko Willink and Leif Babin परिचय क्या आप जानना चाहते है कि अमेरिका के टॉप सोल्जर और वहाँ के नेवी सेल्स किस तरीके से सोचती है? वो अपनी रेशिप्नोशिबल्टीज को कैसे लेते है और एक छोटी सी गलती से क्या हो सकता है। अगर इसका जबाब हाँ है तो ये समरी आपको लिये ही है। पार्ट 1: विनिंग द वार विदीन (Part l: Winning the War Within) चैप्टर : एक्सट्रीम ओनरशिप (Chapter : Extreme Ownership) द मालाब डिस्ट्रिक्ट, रमादी, इराक: फोग ऑफ़ वॉर (The Ma’laab District, Ramadi, Irag: Fog of War वन अर्ली मोर्निंग (One early morning,) एक दिन बहुत सुबह: घने कोहरे की वजह से कुछ नज़र नहीं आ रहा था. रमादी में आज हमारा फर्स्ट मेजर ऑपरेशन है, और हर तरह अफरा-तफरी मची हुई है. इस ऑपरेशन के लिए मुज जिसे अमेरिकन मूज बोलते है, नाम की जगह चूज़ की गयी थी. दुश्मन फ़ोर्स खुद को मुजाहीदीन बोलता है, अरबी में मुजाहिदीन खुद को मुजाहीदीन बोलता है, अरबी में मुजाहिदीन का मतलब है जिहादी”.ये ऑपरेशन सूरज निकलने से पहले ही शुरू हो गया था, और अब सूरज हमारे सर के ऊपर था. चारो तरफ लोग शूटिंग कर रहे थे. लड़ाई के दौरान जो बुरी से बुरी चीज़ हो सकती है, वो अभी हो रही थी. ब्लू ओन ब्लू. ब्लू ओन ब्लू फ्रेंडली फायर है. हमारी टीम की एक आदमी के साथ फायर फाईट चल रही थी जिसके पास ए.के. -47 थी, बाद में पता चला वो हमारा ही आदमी था. hamaare soldiers ek gun fight me involve ho gaye hame laga vo dushman hai lekin jin se ham lad rhe the vo hamaare hi side the.और जब हमने बैक अप और रीएंफोर्समेंट के लिए कॉल किया तो जैसे तबाही मच गयी. इंसान लड़ाई में अगर जख्मी हो जाए या मारा जाए तो अफ़सोस होता है लेकिन एक्सीडेंटली मरना तो बहुत अनफॉरच्यूनेट होगा. ये हमारे लिए एक सबक था- वैसे बाकि ऑपरेशन सक्सेसफुल रहा. मुझे कुछ ठीक नहीं लग रहा था. मेरा एक आदमी बुरी तरह घायल था, एक ईराकी सोल्ज़र भी मारा गया था, बाकि कुछ और भी घायल हुए थे. ये लड़ाई मेरी कमांड में चल रही थी. मै ऑपरेशन सेंटर पहुंचा, जहाँ हायर हेडक्वार्टर्स से इमेल्स रिसीव करने के लिए मेरा लैपटॉप रखा हुआ था. ढेर सारी ई-मेल्स आई हुई थी. मैंने जल्दी जल्दी मेल पढनी शूरू की. मेरे कमांडिंग ऑफिसर की मेल थी लिखा था” शट डाउन, ऑपरेशन बंद कर दो. इन्वेस्टिगेटिंग ऑफिसर, कमांड मास्टर चीफ और मै इन्वेस्टिगेटिंग ऑफिसर, कमांड मास्टर चीफ और मै पहुँच रहे है”. मेरी सारी मेहनत और सॉलिड रेपूटेशन जो मैंने अब तक अर्न की थी, सब चली गयी. उन लोगो के आने से पहले मै सारी चीज़े अलग-अलग एंगल से रीव्यू कर चूका था. मै ये पता करने की कोशिश कर रहा था कि आखिर इस सबका जिम्मेदार कौन है. मै बहुत देर तक सोचता रहा कि तभी मुझे अचानक एक ख्याल आया. उन सारी मिस्टेक्स के बावजूद जो इंडीविजुअल्स लेवल पर या यूनिट्स और लीडर्स ने की थी, सिर्फ एक ही इंसान रीस्पोंसिब्ल था, और वो हूँ मै. और मुझे अपनी गलतियों की जिम्मेदारी लेनी ही पड़ेगी. और मै लूँगा चाहे इसके लिए मेरी जॉब ही क्यों ना चली जाए. मैंने डिसीजन ले लिया था. मै प्लाटून स्पेस में गया, सबको इकठ्ठा होने को बोला और सबके सामने अपनी मिस्टेक एक्सेप्ट की. मैंने घायल सील से माफ़ी मांगी. और फिर पूरे ऑपरेशन को एक्सप्लेन करके बताया कि हमसे कहाँ पर गलती हुई थी और कैसे उन गलतियों को अवॉयड किया जा सकता था. लेसन सिम्पल है, किसी भी ऑर्गेनाइजेशन या टीम में फेलर या सक्सेस की जिम्मेदारी सिर्फ लीडर की होती है. ये लीडर इ ड्यूटी है कि वो अपनी गलती माने और उसे ठीक करने का कोई और प्लान बनाये. चैप्टर 2: नो बेड टीम्स, ओनली लीडर्स (Chapter 2: No Bad Teams, Only Bad Leaders कोरोनोड़ो, कैलीफोर्निया: बेसिक अंडरवाटर डेमोलिशन/सील ट्रेनिंग (Coronado, चैप्टर 2: नो बेड टीम्स, ओनली लीडर्स (Chapter 2: No Bad Teams, Only Bad Leaders कोरोनोड़ो, कैलीफोर्निया: बेसिक अंडरवाटर डेमोलिशन/सील ट्रेनिंग (Coronado, California: Basic Underwater Demolition/Seal Training सील ट्रेनिंग के बदनाम हेल वीक की ये तीसरी रात थी. हेल वीक मुश्किल से एक फिटनेस टेस्ट था. बेशक इसमें एथलेटिक थोड़ी बहुत फ्लेक्सीबिलिटी की भी ज़रूरत होती है, लेकिन हेल वीक से पहले जितने भी स्टूडेंट्स बेसिक अंडरवाटर डेमोलिशन/सील ट्रेनिंग सर्वाइव कर लेते है, वो ग्रेजुएट होने के लिए आलरेडी काफी फिट हो चुके होते है. वैसे ये फिजिकल से ज्यादा मेंटल टेस्ट है, कई बार तो बेस्ट एथलीट स्टूडेंट्स भी हेल वीक में फेल हो जाते है. सक्सेस के लिए डीटरमिनेशन और मोटीवेशन चाहिए, लेकिन टीम के साथ कम्यूनिकेशन और इनोवेशन भी ज़रूरी है. मुझे अब जूनियर ट्रेनिंग कोर्स को इंस्ट्रक्ट करने असाईंन किया गया है -जो हमारा ऑफिशियल लीडरशिप प्रोग्राम है. और साथ ही मै हेल वीक का इंस्ट्रक्टर भी था. इस हफ्ते मुझे क्रू इंस्ट्रक्टर्स को भी देखना था जो ट्रेनिंग दे रहे थे. ये मेरे लिए एक नया एस्पिरियेश था. मैंने जो कुछ भी इस वीक में सीखा, उसमे एक बात ये भी थी कि किस भी टीम की परफोर्मेंस में लीडरशिप का बड़ा रोल होता है. आज जब मैं अपने हेल वीक के दिनों के Extreme Ownership: How U.S. Navy SEALs Lead an… Jocko Willink and Leif Babin चैप्टर 3: बिलीव (Chapter 3: Believe) शार्कबेस, कैंप रमादी, ईराक: क्वेशचनिंग द मिशन (Sharkbase. Camp Ramadi, Iraq: Questioning the Mission हायर कमांड का मिशन स्टेटमेंट पढने के बाद मै हैरान था. मुझे इन्फॉर्म किया गया कि टास्क यूनिट ब्रुइसेर को -जोकि बड़े ट्रेंड और मोटीवेटेड सोल्जेर्स है -उन्हें वर्ल्ड के सबसे वर्स्ट माने जाने वाले कॉम्बैट ट्रूप यानी ईराकी सोल्जेर्स के साथ मिलकर फाईट करननी होगी. ज़्याये ईराकी सोल्जेर्स ज्यदातर गरीब, अनएजुकेटेड होते है जो ज्यादा ट्रेंड नहीं होते और इनके अन्दर मोटिवेशन तो बिलकुल नहीं होती. कई बार तो ये लोग हार्ड सिचुएशन में मिशन भी अबोर्ट कर देते है. बाकि के मिलिट्री फ़ोर्सेस के मुकाबले इनका स्टैण्डर्ड काफी लो होता है. यही रीजन है कि ईराकी मिलिट्री किसी भी तरह के रेबेलेशन के आगे एकदम पॉवरलेस साबित होते है. और ऊपर से इन लोगो के पास ना तो कैम्पिंग ट्रिप्स के लिए सफीशीएंट इक्विपमेंट्स होते है और ना ही कॉम्बैट ऑपरेशन के लिए. इसलिए मिशन और ज्यादा मुश्किल हो जाता है. इन लोगो को ट्रेन करना भी एक तरह से इम्पॉसिबल है. इन लोगो के लिए रिस्क लेना एकदम वर्थलेस है मझे नहीं पता कि NA८ करना भी एक तरह से इम्पॉसिबल है. इन लोगो के लिए रिस्क लेना एकदम वर्थलेस है. मुझे नहीं पता कि ये मिशन कामयाब होगा भी या नहीं. मै पूरी तरह श्योर नहीं था. मुझे मालूम है कि मै टास्क यूनिट ब्रुइसेर का कमांडर हूँ इसलिए मेरे थौट्स और एक्शन मेरे ट्रूप्स को भी इफेक्ट कर सकते है. मुझे ऑर्डर्स मिले थे और मुझे इन्हें फोलो करना था. इसलिए मुझे यकीन करना ही होगा. और इसके लिए ये एनालाइज करना होगा कि ईराकी सोल्जेर्स शायद हमारे कुछ काम आ सके, और हमे टीम में उनकी ज़रूरत है तो क्यों है? और फाइनली मुझे समझ आ गया कि ये लोग हमारे लिए एक टिकेट की तरह है जो हमे बेस छोड़कर दुश्मन की टेरीटरी में घुसकर उन्हें खत्म करने में हेल्प कर सकते है. और यही चीज़ मैंने अपने ट्रूप्स को एक्सप्लेन की ताकि वो लोग भी मेरे पॉइंट ऑफ़ व्यू से इस मिशन को देख सके और समझ सके. अगर मिशन पूरा करना है और आप चाहते है कि आपकी टीम आपको फोलो करे तो लीडर को भी मिशन की कामयाबी पर पूरा यकीन होना चाहिए. हर लीडर को इमिडीएट टैक्टिकल मिशन से अलग ये सोचना है कि ये कैसे स्ट्रेटेजिक गोल्स को सूट करेगी. और जब लीडर्स को ऐसे ऑर्डर्स मिलते है जो उन्हें क्लियर नही होते तो उन्हें बैठ कर ऐनालाइज करना होगा कि हमे ये क्यों करना है. एक क्वालीफाईड लीडर के पास मिशन की पूरी जानकारी होती है जो वो अपनी टीम को देता है ताकि हर कोई उसके लिए मेंटली प्रीपेयर रहे.. चैप्टर 4:चेक द इगो (Chapter 4:Check the Ego कैंप कोरेंगिडर, रमादी, ईराक: वेलकम टू रमादी ‘ (Camp Corregidor, Ramadi, Iraq: Welcome to Ramadi हमारे कैंप पर अटैक हो गया था. ये इतना अचानक हुआ कि मुझे अपना बॉडी अर्मोर पहनने का भी टाइम नहीं मिला पाया. मैंने जल्दी से अपना हेलमेट और राइफल उठाई, अपना लोड बियरिंग इक्विपमेंट कंधे पर डाला और वहां से भागा. चारो तरफ शूटिंग चल रही थी, अफरा-तफरी मची हुई थी. ऐसा लगा रहा था कि शायद दुश्मन को उम्मीद नहीं थी कि हम लोग जवाबी फायर करेंगे. और फिर जल्दी ही दुश्मन के सिपाही एक-एक कर या तो मर रहे थे या घायल हो रहे थे. retreating. हम सब जान चुके थे कि ये जगह खतरे से खाली नहीं है. ये अलग टेरेटेरी थी. रमादी के मिलिटेंट्स उन लोगो से ज्यादा डेंजरस थे जिनके साथ हमारी पहले फाईट हुई थी. ये लोग यू.एस. आर्मी के उपर एक ही हफ्ते में कई बार टेरिबल अटैक कर चुके थे. हैरानी की बात तो ये थी कि ये सारे अटैक वेल प्लांड थे और पूरी तैयारी के साथ किये गए थे. हम लोग टास्क यूनिट ब्रुइसेर होने के नाते शायद थोड़े ओवर कॉफिडेंट थे. cocky, लेकिन मैंने टीम को पूरे कांफिडेंस में बनाये रखा ताकि हम लोगो की परफोर्मेंस इम्प्रूव होती रहे. लेकिन इस मिशन में मैंने एक सबक सीख लिया उपर एक ही हफ्ते में कई बार टेरिबल अटैक कर चुके थे. हैरानी की बात तो ये थी कि ये सारे अटैक वेल प्लांड थे और पूरी तैयारी के साथ किये गए थे. हम लोग टास्क यूनिट ब्रुइसेर होने के नाते शायद थोड़े ओवर कॉंफिडेंट थे. Cocky, लेकिन मैंने टीम को पूरे कांफिडेंस में बनाये रखा ताकि हम लोगो की परफोर्मेंस इम्प्रूव होती रहे. लेकिन इस मिशन में मैंने एक सबक सीख लिया था कि ईगो सब कुछ खत्म कर देता है: आपका प्लान, एडवाइस सुनने की हैबिट, क्रिटिसिज्म को एक्सेप्ट करने की क्वालिटी. थोडा बहुत ईगो सबके अंदर होता है, ये हमें मोटिवेट रखता है लेकिन जब यही ईगो हमारे सर चढ़ जाता है तो हमारी जजमेंट की पॉवर, सही-गलत को समझने की परख को खत्म कर देता है. ईगो हमारी आँखों पर एक पट्टी की तरह है जो हमे रियेल पिक्चर देखने से रोकता है. और यही चीज़ हम सील टीम्स में इम्प्लीमेंट करने की कोशिश करते है. यहाँ हम कॉफिडेंट बनने की ट्रेनिंग लेते है, ईगोइस्टिक बनने की नहीं. बेशक हमारे पास बेस्ट स्किल्स होंगी लेकिन हमे कभी भी दुशमन को इस पॉइंट तक कमज़ोर नहीं समझना चाहिए कि वो हमे कभी हरा नहीं पाएंगे. और यही वो पॉइंट है जब आपके लिए टीम के ईगो को कण्ट्रोल करना मोस्ट इम्पोर्टेट होता है. Extreme Ownership: How U.S. Navy SEALs Lead an… Jocko Willink and Leif Babin पार्ट ||: द लॉज़ ऑफ़ कॉम्बैट (Part II: The Laws of Combat चैप्टर 5: कवर एंड मूव (Chapter 5: Cover and Move साऊथ-सेंट्रल रमादी, ईराक: कवरिंग द फ्लेंक (South-Central Ramadi, Iraq: Covering the Flank मुझे याद है एक पर्टिकुलर ऑपरेशन के दौरान टीम के बुलडॉग(यू.एस. आर्मी ब्रावो कंपनी, |स्ट बटालियन, 37थ आर्मोर्ड रेजिमेंट (Team Bulldog (U.S. Army Bravo Company, 1st Battalion, 37th Armored Regiment) ने साउथ-सेंट्रल रमादी के खासतौर पर डेंजरस एरिया में लार्ज कोर्डोन और सर्च ऑपरेशन प्लान किया था. ये जगह एक कॉम्बैट आउटपोस्ट (सीओपी फाल्कन) यानी कि दुश्मन के एरिया के बीचो-बीच थी. इस टाइप के ऑपरेशन में ग्राउंड में कम से कम हंड्रेड सोल्जेर्स की ज़रूरत होती है, इसके अलावा बटालियन के एडिशनल फ़ोर्स की जिनके साथ टीम बुलडॉग हो. ऐसे बहुत से डेंजरस कॉम्बैट ऑपरेशन्स को साथ मिलकर अंजाम देने की वजह से यू.एस. सोल्जेर्स और टीम बुलडॉग के टेकर्स के बीच काफी अच्छा वर्किंग रिलेशनशिप बन गया था. चैप्टर 4:चेक द इगो (Chapter 4:Check the Ego कैंप कोरेंगिडर, रमादी, ईराक: वेलकम टू रमादी ‘ (Camp Corregidor, Ramadi, Iraq: Welcome to Ramadi हमारे कैंप पर अटैक हो गया था. ये इतना अचानक हुआ कि मुझे अपना बॉडी अर्मोर पहनने का भी टाइम नहीं मिला पाया. मैंने जल्दी से अपना हेलमेट और राइफल उठाई, अपना लोड बियरिंग इक्विपमेंट कंधे पर डाला और वहां से भागा. चारो तरफ शूटिंग चल रही थी, अफरा-तफरी मची हुई थी. ऐसा लगा रहा था कि शायद दुश्मन को उम्मीद नहीं थी कि हम लोग जवाबी फायर करेंगे. और फिर जल्दी ही दुश्मन के सिपाही एक-एक कर या तो मर रहे थे या घायल हो रहे थे. retreating. हम सब जान चुके थे कि ये जगह खतरे से खाली नहीं है. ये अलग टेरेटेरी थी. रमादी के मिलिटेंट्स उन लोगो से ज्यादा डेंजरस थे जिनके साथ हमारी पहले फाईट हुई थी. ये लोग यू.एस. आर्मी के उपर एक ही हफ्ते में कई बार टेरिबल अटैक कर चुके थे. हैरानी की बात तो ये थी कि ये सारे अटैक वेल प्लांड थे और पूरी तैयारी के साथ किये गए थे. हम लोग टास्क यूनिट ब्रुइसेर होने के नाते शायद थोड़े ओवर कॉफिडेंट थे. cocky, लेकिन मैंने टीम को पूरे कांफिडेंस में बनाये रखा ताकि हम लोगो की परफोर्मेंस इम्प्रूव होती रहे. लेकिन इस मिशन में मैंने एक सबक सीख लिया धीरे-धीरे आगे बढ़ रहे थे कि तभी जैसे तबाही मच गयी. बदकिस्मती से कुछ मिलिटेंट्स हमारे पीछे-पीछे आ रहे थे. उन्होंने मौका देखकर हम पर मशीन गन से अंधा-धुंध फायरिंग शुरू कर दी थी. हमने भी तुरंत जवाबी हमला किया जिससे दुश्मन को भी हमारी पॉवर का पता चल गया था, इसलिए हम एडिशनल कवरिंग के लिए स्ट्रीट कार्नर तक मूव करते रहे. कुछ मिनट के अंदर ही हम सीओपी तक का डिस्टेंस सेफली कवर कर गये हमारा प्लाटून चीफ हमारी वापसी पर खुश नहीं था. वो मुझे एक कोने में ले गया और एक सवाल पुछा और मै समझ गया कि मैंने कवर एंड मूव का रुल ब्रेक किया है. उसने पुछा” तुमने यहाँ तक अपनी मूवमेंट को कवर करने के लिए सील स्नाइपर ओवरवाच पोजीशन क्यों नहीं छोड़ी?तब मुझे समझ आया कि वो शायद ठीक बोल रहा है, उसका लोजिक एकदम सही है. मैंने कवर एंड मूव अपनी टीम के लिए यूज़ किया था, ओपी2 के लिए लेकिन मै ओपी2 को तो मै भूल ही गया था जोकि हमसे बैटर टीम थी और हमें काफी सपोर्ट कर सकती थी. और उस दिन के बाद से मैं अपने चीफ की गाइडेंस कभी नहीं भूला. टीम्स जो मिलकर काम करती है, एक दुसरे को सपोर्ट करती है वही सक्सेसफुल होती है. मैंने जो सबक सीखा था, उसे इम्प्लीमेंट करके डेफिनेटली हम कई जाने बचा पाए, और काफी हद तक कैजुअल्टी रिड्यूस कर पाए. चैप्टर 6: सिम्पल Chapter 6: Simple चैप्टर 6: सिम्पल Chapter 6: Simple कॉम्बैट आउटपोस्ट फाल्कन, रमादी, ईराक: इनटू द ] (Combat outpost Falcon, Ramadi, Iraq: Into The Fray लाइफ में बहुत सारी चीजों को तरह कॉम्बैट में भी कई तरह की कॉम्प्लेक्सीटीज है. प्लांस और आर्डर कई बार इतने ज्यादा कॉम्प्लीकेटेड हो जाते है कि लोग उन्हें अच्छे से समझ नहीं पाते. और कुछ गलत हो जाए तो जोकि हम अवॉयड नहीं कर सकते, कोम्प्लिकेटेड इश्यूज टोटल डिजास्टर बन जाते है. इसलिए ज़रूरी है कि प्लान्स और ऑर्डर्स सिम्पल और क्लियर तरीके से समझाये जाए. ये प्रिंसिपल सिर्फ बैटलफील्ड में ही नहीं बल्कि लाइफ में, बिजनेस वर्ल्ड में भी अप्लाई होता है जहाँ कई तरह की मुश्किलें आती है. इसलिए प्लान्स और कम्यूनिकेशन जितना पॉसिबल हो उतना सिंपल रखो. मिशन को सिम्प्लीफाई करने का अगर आपके पास कोई पोसिबल तरीका है तो आपके फेवर में होगा. जिस बिल्डिंग के अंदर मै बैठा था, उसमे एक बड़ा धमाका हुआ, कॉम्बैट आउटपोस्ट (सीओपी) फाल्कन के एकदम बीचो-बीच, मेरे अंदर जैसे गर्म लावा उबलने लगा. एक सेकंड बाद ही एक और धमाका हुआ. मिलिटेंट्स हम पर निशाना लगाकर अटैक कर रहे थे. मिलिट्री ट्रांजीशन टीम( टीम ऑफ़ यू.एस. सोल्जेर्स या मरीन्स बिल्ट एंड डिप्लॉयड टू ट्रेन एंड कॉम्बैट-एडवाइज ईराक सोल्जेर्स, जिन्हें एम्आईटीटीस बोला जाता है) से एक यू.एस. आर्मी ऑफिसर A कॉम्बैट-एडवाइज ईराक सोल्जेर्स, जिन्हें एम्आईटीटीस बोला जाता है) से एक यू.एस. आर्मी ऑफिसर ईराकी सोल्जेर्स के एक ग्रुप के साथ आगे बढ़ने की प्लानिंग कर रहा था. लेकिन ये बड़ा डेंजरस डिसीजन था, ये जानते हुए कि दुश्मन यहाँ पर पूरी तरह से डीटरमाइंड और वेल आर्ड है. एम्आईटीटी (MITT) यानीकि मरीन्स बिल्ट एंड डिप्लॉयड टू ट्रेन एंड कॉम्बैट-एडवाइज ईराक सोल्जेर्स के लीडर शायद उस खतरे को समझ नहीं पा रहा था जो हमारे रास्ते में था. तो मैंने उसे बोला कि बेशक ये सिर्फ एक पट्रोल है, लेकिन हालात को देखते हुए इसमें काफी खतरा हो सकता है. उसके प्लांड रूट बैटल स्पेस के श्रू पास होते थे, जो डिफरेंट अमेरिकन यूनिट्स के होते थे और हर एक का अलग रेडियो नेट्स के साथ एक यूनीक स्टैण्डर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर होता है. उनके श्रू पास होने का मतलब है कि प्लान्स सेट और लांच करने से पहले अगर कुछ भी गलत होता है तो उन सारी यूनिट्स के साथ कोर्डिनेट करना. ये बेहद कॉम्प्लेक्स चीज़ होती है और इसे रमादी में अप्लाई करना, वो भी दुश्मन के एरिया में, बिलकुल पागलपन माना जाएगा. हमने डिस्कस किया, मैंने उसे कन्विंस कर लिया कि हम इसे सिंपल वे में अंजाम देंगे. और हमने कर दिखाया, हमने बैटलफील्ड की मुश्किलें काफी हद तक रिड्यूस की. टीम बुलडॉग की बिल्डिंग में हमने गनफाईट जीत ली थी. Extreme Ownership: How U.S. Navy SEALs Lead an… Jocko Willink and Leif Babin चैप्टर 7: प्रायोरीटीज एंड एक्जीक्यूट (Chapter 7: Prioritize and Execute) लड़ाई के मैदान में अक्सर ऐसी कई सारी प्रोब्लम्स आती है, कुछ ऐसे चेलेन्जेस हमारे सामने आते है जो हमारी मुश्किलें बढ़ा देते है. लेकिन चाहे जो भी हो जाये, हालात कितने भी बदतर हो, एक लीडर को डिसीजन लेते वक्त हड़बड़ी नहीं करनी चाहिए, उसे एकदम शांत माइंड से सोचना चाहिए. और इसके लिए सील कॉम्बैट लीडर्स प्रायोरीटीज एंड एक्जीक्यूटप्रिंसिपल इम्प्लीमेंट करते है.:”रिलेक्स, लुक अराउंड, एंड मेक अ कॉल.”कोई ग्रेट लीडर भी अगर मल्टीपल प्रोब्लम्स एक साथ सोल्व करने की कोशिश करेगा तो घबरा जाएगा. कई सारी चीज़े एक साथ करने से गडबड तो होगी ही. इस प्रिंसिपल को आप किसी भी टीम में या बिजनेस में यूज़ करना चाहते है तो सबसे पहले आपको उस प्रोब्लम पर फोकस करना होगा जो हाई प्रायोरिटी है, जिस पर सबसे पहले एक्शन लेने की ज़रूरत है. फिर उसके बाद आप आपनी टीम को एफोर्ट के बारे में एक्सप्लेन कर सकते है या ऐसे सोल्यूशंन बता सकते है जो आगे बढ़ने के लिए ज़रूरी है. और उसके बाद आप अपना मिशन स्टार्ट करे एक चीज आपको फिर उसके बाद आप आपनी टीम को एफोर्ट्स के बारे में एक्सप्लेन कर सकते है या ऐसे सोल्यूशंन बता सकते है जो आगे बढ़ने के लिए ज़रूरी है. और उसके बाद आप अपना मिशन स्टार्ट करे. एक चीज़ आपको भूलनी नहीं चाहिए कि प्रायोरिटीज बहुत जल्दी शिफ्ट होती है और चेंज होती है. और अगर ऐसा है तो टीम को जरूर इन्फॉर्म करे ताकि एक जगह पर टारगेट फिक्सेसन अवॉयड किया जा सके. जब हाईएस्ट प्रायोरिटी चेंज होकर दूसरी कोई प्रायोरीटी आ जाती है तो आपकी टीम को इस बारे में पता होना चाहिये. ये लीडर की ड्यूटी है कि वो उन्हें इस एबिलिटी के बारे में बताये ताकि फेलर से बचा जा सके. मल्टीपल टास्क या प्रोब्लम्स को एक साथ अवॉयड करने का बेस्ट तरीका यही है कि रियल टाइम प्रोब्लम्स से एक दो स्टेप दूर ही रहा जाये और जॉब के बीच आने वाली हर प्रोब्लम के लिए पहले से रेडी रहा जाये. अगर आप इस फोर्मुले पर चलते है तो आपकी टीम के जीतने के पूरे-पूरे चांसेस है. चैप्टर 8: डीसेंट्रलाइज्ड कमांड (Chapter 8: Decentralized Command) साउथ सेंटर रमादी, ईराक: अ रेकोंगिंग (South-Central Ramadi, Iraq: A Reckoning) मेरी जॉब थर्टी से भी उपर सील्स और ईराकी सोल्जेर्स की टीम को कमांड और कण्ट्रोल करने की है. वैसे सच 71A TITAT 101.4. मेरी जॉब थर्टी से भी उपर सील्स और ईराकी सोल्जेर्स की टीम को कमांड और कण्ट्रोल करने की है. वैसे सच तो ये कि एक साथ 10 लोगो को भी संभालना मुश्किल है, तो इसके लिए हम डीसेंट्रलाइज्ड कमांड इम्प्लीमेंट करते है: एक इफेक्टिव वे में लीड करने का बस यही तरीका है. मेरे सबओर्डीनेट लीडर्स जानते है कि इतने महीनो की ट्रेनिंग के बाद मुझे उन पर पूरा ट्रस्ट है, क्योंकि मैंने उन्हें ट्रेनिंग दी है और उन्हें अपनी मिस्टेक से सबक सीखते हुए देखा है. रमादी में उन्हें खुद अपनी लड़ाई लड़नी होगी, मै उन्हें बैटलफील्ड में गाइड नहीं कर सकता. टास्क यूनिट के फ्रंटलाइन लीडर्स हमारी सक्सेस की चाबी होते है. और डीसेंट्रलाइज्ड कमांड के साथ, मुझे परमिशन थी कि मै एक कमांडर के तौर पर एक बड़ी पिक्चर अपने सामने रखू.: कोर्डिनेट फ्रेंडली एसेट्स एंड वाच एनिमी एक्टिविटी.डीसेंट्रलाइज्ड कमांड प्लान को समझने और यूटीलाइज करने में टाइम और एफर्ट्स दोनों परफेक्टली यूज़ होने चाहिए. जूनियर्स लीडर्स के पास एक्स्पिरियेंश की कमी होती है, इसीलिए लीडर उन पर ज्यादा ट्रस्ट नहीं कर पाते. वो उन्ही पर पूरा ट्रस्ट कर पाते है जो उनके स्ट्रेटेज़िक मिशन को समझ पाए. डीसेंट्लाइज्ड कमांड जूनियर लीडर्स या टीम मेंबर्स को ऑपरेशन की फुल रीस्पोंसेबिलिटी नहीं देते क्योंकि इससे काफी गड़बड़ हो सकती है. इसके बजाये जूनियर लीडर्स को समझना चाहिए कि उन्हें कब खुद डिसीजन लेना है और कब नहीं. और जूनियर लीडर्स को हमेशा अपने सीनियर्स के लड़ाई लड़नी होगी, मै उन्हें बैटलफील्ड में गाइड नहीं कर सकता. टास्क यूनिट के फ्रंटलाइन लीडर्स हमारी सक्सेस की चाबी होते है. और डीसेंट्रलाइज्ड कमांड के साथ, मुझे परमिशन थी कि मै एक कमांडर के तौर पर एक बड़ी पिक्चर अपने सामने रखू.: कोर्डिनेट फ्रेंडली एसेट्स एंड वाच एनिमी एक्टिविटी.डीसेंट्रलाइज्ड कमांड प्लान को समझने और यूटीलाइज करने में टाइम और एफर्ट्स दोनों परफेक्टली यूज़ होने चाहिए. जूनियर्स लीडर्स के पास एक्स्पिरियेंश की कमी होती है, इसीलिए लीडर उन पर ज्यादा ट्रस्ट नहीं कर पाते. वो उन्ही पर पूरा ट्रस्ट कर पाते है जो उनके स्ट्रेटेज़िक मिशन को समझ पाए. डीसेंट्लाइज्ड कमांड जूनियर लीडर्स या टीम मेंबर्स को ऑपरेशन की फुल रीस्पोंसेबिलिटी नहीं देते क्योंकि इससे काफी गड़बड़ हो सकती है. इसके बजाये जूनियर लीडर्स को समझना चाहिए कि उन्हें कब खुद डिसीजन लेना है और कब नहीं. और जूनियर लीडर्स को हमेशा अपने सीनियर्स के सुपरविजन में चलना होता है. बैटलफील्ड में सील लीडर्स को प्रोटेक्टिव होना चाहिए, रीएक्टिव नहीं. उन्हें अपने सीनियर से “ अब आप मुझसे क्या करवाना चाहते हो” ये कहने के बजाये अपनी हायर अथॉरिटी को ये बताना चाहिए कि अब वो उनका प्लान क्या होगा. Extreme Ownership: How U.S. Navy SEALs Lead an… Jocko Willink and Leif Babin पार्ट|||: ससटेनिंग विक्ट्री (Part IIl: Sustaining Victory चैप्टर 9:प्लान (Chapter 9: Plan रमादी, ईराक: होस्टेज रेस्क्यू (Ramadi, Iraq: Hostage Re cue इस बार हमे एक होस्टेज रेस्क्यू मिशन को अंजाम देना था. हाई स्टेक होस्टेज रेस्क्यू मिशन वैसे भी काफी डेंजरस होते है, क्रिमिल्न्स को मारकर किसी इनोसेंट को सही सलामत छुड़ाना काफी चेलेंजिक टास्क होता है. ये मिशन्स थोड़े रेयर थे लेकिन हम लोग किसी भी सिचुएशन को हैंडल करने के लिए पूरी तरह से ट्रेंड और रेडी थे. अल कायदा से जुड़े हुए एक टेरेरिस्ट ग्रुप ने ईराकी पोलिस कर्नल के भतीजे को किडनैप कर लिया था. हमारे पास टाइम बहुत कम था, किडनैपर्स ने धमकी दी थी कि अगर लड़के की फेमिली ने $50,000 नहीं दिए तो वो लोग उसे मार देंगे, लेकिन इन लोगो पर भरोसा करना बेवकूफी थी क्योंकि ये लोग अक्सर होस्टेज को वैसे भी मार डालते है. इसलिए हमे टाइम वेस्ट किये बिना तुरंत कोई एक्शन लेना था. इसलिए हमे एक प्लान बनाना था, ट्रूप्स को प्लान समझाना और जितनी जल्दी हो सके उस पर एक्शन लेना था. हमने एक सॉलिड प्लान बनाया. सील A८ २साला ५५ ५ पनाना पा, सपा न समझाना और जितनी जल्दी हो सके उस पर एक्शन लेना था. हमने एक सॉलिड प्लान बनाया. सील स्नाइपर्स की एक स्माल टीम जायेगी और पोजीशन लेगी. ये लोग टारगेट से कुछ मील की दूरी पर नज़र रखेंगे और असाल्ट फ़ोर्स को कवर करेंगे जब हम बिल्डिंग की तरफ मूव कर रहे होंगे. फिर हमारी असाल्ट फ़ोर्स बिल्डिंग के अंदर एंटर करेगी. सारे रूम्स क्लियर करेगी और होस्टेज को वहां से निकालेगी. और हम अपने मिशन पर निकल पड़े. हमे न्यूज़ मिल चुकी थी कि दुश्मन मशीन गन्स से हम पर अटैक करेगा और जमीन में आईईडी बिछा रखे है. लेकिन हम नहीं रुके, दुश्मन की गोलियों से बचते-बचाते हम आगे बढ़ते जा रहे थे. होस्टेज हमे मिल चूका था, हमने पहले उसे छुडाया. सारे टेरेरिस्ट्स हमारे कब्ज़े पर थे. सब कुछ वैसा ही हुआ जैसा हम चाहते थे क्योंकि हमने एक परफेक्ट प्लानिंग और सॉलिड एक्जिक्यूशन के साथ चले थे. हमने रिस्क लिया लेकिन उससे पहले हमे केयरफूली सारी केलकुलेश्न्स कर ली थी. मिशन को ऐनालाइज करना बहुत ज़रूरी है, टीम्स को टास्क असाइन करो, प्रोसेस को डीसेंट्रलाइज करो और फिर एक्शन लो. चैप्टर 10: लीडिंग अप एंड डाउन द चेन ऑफ़ CHIS (Chapter 10: Leading Up and Down the Chain of Command कैंप मार्क ली, रमादी, ईराक (Camp Marc Lee, Ramadi, Iraq चैप्टर 10: लीडिंग अप एंड डाउन द चेन ऑफ़ 27415 (Chapter 10: Leading Up and Down the Chain of Command कैंप मार्क ली, रमादी, ईराक (Camp Marc Lee, Ramadi, Iraq एक्सट्रीम ओनरशिप को एक्जीक्यूट करने वाले एक लीडर के तौर पर अगर आपकी टीम वो नहीं करती जो आप उनसे एक्स्पेक्ट करते है तो फिर आपको चाहिए कि आप सेल्फ रिलाएजेशन करो. अगर आपकी टीम स्ट्रेटेज़िक पिक्चर नहीं देख पा रही है तो उन्हें ब्लेम मत करो, बल्कि ये सोचो कि आप उन्हें कैसे और बैटर तरीके से अपनी बात समझा सकते है. चेन ऑफ़ कमांड को लीड करने का यही मतलब है कि आपका मैसेज क्लीयरली उन तक पहुंचे. लीडिंग अप द चैन ऑफ़ द कमांड के लिए आपकी टीम को मिशन अकोम्प्लिश करने और जीतने के लये हायर हेडक्वार्टर्स के साथ टैक्टफुल होना बहुत ज़रूरी है. तो आप चैन ऑफ़ कमांड को लीड अप एंड डाउन करोगे? इसके लिए कुछ फैक्टर्स आपको ध्यान में रखने होंगे: 1) जब आप सबको लीड कर रहे हो तो रीस्पोन्सेबिलिटी लो, 2) अगर कोई आपकी बात नहीं सुन रहा तो उन्हें ब्लेम करने के बजाये खुद के अंदर झांको फिर कोई तरीका सोचो कि आप उनसे कैसे बैटर वे में कम्यूनिकेट कर सकते हो. 3) अपने लीडर से ये मत पूछो कि आपको क्या करना है बल्कि उन्हें बताओ कि आप क्या करने वाले हो. रमादी में काम खत्म होने के बाद वापस कमांड को लीड अप एंड डाउन करोगे? इसके लिए कुछ फैक्टर्स आपको ध्यान में रखने होंगे: 1) जब आप सबको लीड कर रहे हो तो रीस्पोन्सेबिलिटी लो, 2) अगर कोई आपकी बात नहीं सुन रहा तो उन्हें ब्लेम करने के बजाये खुद के अंदर झांको फिर कोई तरीका सोचो कि आप उनसे कैसे बैटर वे में कम्यूनिकेट कर सकते हो. 3) अपने लीडर से ये मत पूछो कि आपको क्या करना है बल्कि उन्हें बताओ कि आप क्या करने वाले हो. रमादी में काम खत्म होने के बाद वापस लौटने पर सब कुछ एकदम अलग लग रहा था. कहाँ रमादी की सडको का वायोलेंस और खून-खराबा और कहाँ सेन डियागो, कैलीफोर्निया का शांत माहौल. अगर मै अपनी जर्नी को याद करूँ तो ये बड़ा सबक जो मैंने सीखा वो ये कि चैन ऑफ़ कमांड को लीड करते वक्त मै बैटर जॉब कर सकता था. मै ट्रूप्स को ग्रेटर ओनरशिप ऑफ़ प्लान्स दे सकता था -स्पेशिफिकली उन्हें जो ज्यादा कमिटेड नहीं थे. मै रेगूलली एक रूटीन स्ट्रेटेज़िक ओवरव्यू बनाकर अपने हायर हेडक्वार्टर्स को भेज सकता था ताकि उन्हें पता चलता कि अब तक हमारी प्रोग्रेस और अचीवमेंट्स क्या है. मुझे अपने टीम मेंबर्स के साथ और ज्यादा कम्यूनीकेशन करना चाहिए था. उन्हें मिशन को बैटर तरीके से समझने में हेल्प करनी चाहिए थी. ये सबक मेरे लिए काफी मुश्किल था लेकिन मै इसे कभी नहीं भूल सकता. de A Extreme Ownership: How U.S. Navy SEALs Lead an… Jocko Willink and Leif Babin चैप्टर 11: डीसीसिवनेस एमीड अनसटॅनिटी (Chapter 11: Decisiveness amid Uncertainty स्नाइपर ओवरवाच, रमादी ईराक: टेक द शॉट (Sniper Overwatch, Ramadi, Iraq: Take the Shot बुक्स, मूवीज और टेलीविजन में जो कुछ दिखाया जाता है वो सब सच नहीं होता. रियल लाइफ में एक कोम्बट को काफी प्रेशर झेलना पड़ता है. एक कॉम्बैट लीडर ऑलमोस्ट कभी भी फुल पिक्चर नहीं देख पाता और ना ही उसे दुश्मन के रिएक्शन पता होता है, फिर डिसीजन का कोनसिक्वेंस क्या होगा ये तो भूल ही जाओ. बैटलफील्ड में आपको धमाको की आवाजों से या फिर घायल सोल्जेर्स की चीखों से अटैक का पता चलता है. उस टाइम आपके माइंड सिर्फ यही सवाल होते है:: अटैक किस तरफ से हो रहा है? कितने दुश्मन है? मेरे कितने आदमी जख्मी हुए है? मुझे अब क्या एक्शन लेना है? लेकिन आपको कोई भी All Done? Finished दुश्मन है? मेरे कितने आदमी जख्मी हुए है? मुझे अब क्या एक्शन लेना है? लेकिन आपको कोई भी इमीडिएट आंसर नहीं मिल पाता. इसलिए एक लीडर को अनसर्टनिटी की हालत में डीसीसिव तरीके से एक्ट करना होता है. उसे जो भी इन्फोर्मेशन मिलती है उसके बेस पर उसे बेस्ट डिसीजन लेने होते है. एक कॉम्बैट लीडर के लिए ट्रेनिंग के दौरान ये रिएलाइजेशन सबसे बड़ा लेसन होता है.- आप कभी भी रियल पिक्चर नहीं देख सकते और ना ही आपके पास कोई डेफिनाइट राईट सोल्यूशन होता है. और इसलिए आपको इसकी आदत डालनी ही होगी. ये प्रिंसिपल सिर्फ लड़ाई के मैदान नहीं बल्कि हर एक इंसान की लाइफ में अप्लाई होता है. टॉप बेस्ट सोल्यूशन के चक्कर में आप कुछ भी अचीव नहीं कर पाओगे.और लाइफ ऐसे कई मौके आयेगें जब आप अनफेवरेबल सिचुएशन के बीच एक्शन लेने के लिए मजबूर हो जाओगे. चैप्टर 12: डिसप्लीन इक्वल्स फ्रीडम (Chapter 12: Discipline Equals Freedom-द डाईकोटोमी ऑफ़ लीडरशिप बग़दाद, ईराक: द डिस्प्लीन ट्रांसफोरमेशन (The Dichotomy of Leadership Dahdad Iran. Tha Nicoinline All Done? Finished चैप्टर 12: डिसप्लीन इक्वल्स फ्रीडम (Chapter 12: Discipline Equals Freedom-द डाईकोटोमी ऑफ़ लीडरशिप बग़दाद, ईराक: द डिस्प्लीन ट्रांसफोरमेशन (The Dichotomy of Leadership Baghdad, Iraq: The Discipline Transformation हर रोज़ सुबह अलार्म की पहली घंटी बजते है डिसप्लीन शुरू हो जाता है. मैंने पहली घंटी बोला क्योंकि हमारे पास तीन होती है: इलेक्ट्रिक, बैटरी पॉवरड और विंडअप. ताकि आपके ना उठने का कोई बहाना ना रहे. जिस टाइम पर अलार्म बंद होता है, वो फर्स्ट टेस्ट होता है और सबसे ईजी वाला भी: तब आप क्या बेड से उठते है या फिर से सो जाते है? अगर आपके अंदर बेड से उठने का डिसप्लीन है तो समझ लो कि आपने ये टेस्ट पास कर लिया है. अगर आप मेंटली वीक पड़ गए तो आप फेल हो गए. आपको ये बात मामूली सी लग रही होगी लेकिन हमारी यही वीकनेस हमारे सिग्नीफिकेंट डिसीजन पॉवर को अफेक्ट करती है. डिसप्लीन से मेरा मतलब सेल्फ डिसप्लीन से है -आपकी पर्सनल विल पॉवर. मै जितने भी बेस्ट सील वर्कर्स से मिला हूँ या उनके साथ काम All Done? Finished A < भी बेस्ट सील वर्कर्स से मिला हूँ या उनके साथ काम किया है, वो सबसे ज्यादा डिसप्लीन्ड लोग थे. मैं उन्हें अर्ली बर्ड्स बोलूँगा, वो मोर्निंग में जल्दी उठ जाते है, वर्क आउट करते है, स्टडी करते है, अपनी क्रिएटिव हॉबी की प्रेक्टिस करते है. ये लोग उस चीज़ के लिए टाइम निकाल लेते है जिन्हें करने का टाइम उन्हें अपने शेड्यूल में नहीं मिलता है. हालाँकि डिसप्लीन के लिए कण्ट्रोल चाहिए मगर इसका आउटकम फ्रीडम है. क्योंकि अगर आप सुबह जल्दी उठोगे तो आपके पास टाइम ही टाइम होगा. जब आपको अपने बॉडी अर्मोर के साथ चलने की आदत पड़ जायेगी तो आपको चलने में मुश्किल नहीं होगी, आप इन्हें पहने हुए फ्री मूव कर सकते हो. जितना आप वर्क आउट करोगे उतना ही आप खुद को लाईट महसूस करोगे. डिसप्लीन आपको एक फ्रीडम देती है लेकिन कुछ टीम्स इतनी स्ट्रिक्ट होती है कि वो अपने लीडर्स और टीम को डिसीजन लेने और फ्री होकर सोचने से रोकना चाहती है. और यही पर डाईकोटमी आती है यानि एक कंट्रास्ट सिचुएशन: डिसप्लीन ( स्ट्रिक्ट ऑर्डर्स, रेजिमेन, और कण्ट्रोल) Discipline (strict orders, regimen, and control) को बोलने, सोचने और फ्री एक्शन लेने के एकदम अपोजिट मान लिया जाता है. लेकिन असल में फ्रीडम All Done? Finished याान एक कट्रास्ट |सचुएशन: डिसप्लान (स्ट्रिक्ट ऑर्डर्स, रेजिमेन, और कण्ट्रोल) Discipline (strict orders, regimen, and control) को बोलने, सोचने और फ्री एक्शन लेने के एकदम अपोजिट मान लिया जाता है. लेकिन असल में फ्रीडम हासिल करने का रास्ता डिसप्लीन ही है. फाइनली हम बोलेंगे कि एक लीडर वही होता है जो लीडरशिप की डाईकोटोमीज जानता हो ताकि वो अपने कोर्स से भागे नहीं बल्कि उसे डिस्कवर करके उसे करेक्ट कर सके. Conclusion:- तो दोस्तो इस समरी में हमने देखा कि हमे हर चीज की 100% रेस्पॉन्सिबल्टी लेनी चाहिये । हम अपनी गलतिया दूसरो पर नह थोप सकते । इसके इलावा हमने बहुत यूजफुल कान्सेप्ट देखे जैसे की पहले चीजो को प्ररीओरटीय करें और बाद में एक्जीक्यूट. बिना सोचे समझे हर चीट को एक्जीक्यूट ना करने लग जाये। इसके इलावा हमने देखा कि कोई भी फतेह हासिल करने से पहले हमें खुद के अन्दर की फतेह हासिल करनी पडेगी। All Done? Finished

Leave a Reply