Brand Royalty: How the World’s Top 100 Brands T… Matt Haig. Books In Hindi Summary

Brand Royalty: How the World’s Top 100 Brands T… Matt Haig इंट्रोडक्शन इस modern world में भेंडिंग, बिजनेस का एक बहुत ही अहम् हिस्सा बन गया है। मार्केट में बहुत सारे products हैं और आपको खुद को उन सब से अलग दिखाना होगा। चैंडिंग का पूरा मकसद ही है अपने प्रोडक्ट को unique बनाना। लेकिन वह क्या है जो एक ब्रैड को सक्सेसफुल बनाता है? क्या ऐसा कोई फार्मूला है जिसे फॉलो करके आप अपने बैंड को top पर पहुंचा सकते हैं? नहीं, असल में ऐसा कोई फार्मूला नहीं है। लेकिन इस बुक के ऑथर मैट ने top 100 ब्रैड्स की और वह top पर कैसे पहुंचे, इसकी कहानी इकट्ठी की हैं। इन brands ने कोईrules फॉलो नहीं किए बल्कि इन सभी ने अपनी सक्सेस का रास्ता खुद बनाया। इन सभी में एक फैक्टर कॉमन था और इस समरी के जरिए हम उसी चीज का पता लगाएंगे। ब्रैंड एक identity होती है यानी एक पहचान। इसलिए ब्रांडिंग identity बनाने और उसे मैनेज करने का अपना प्रोसेस होता है। जो top 100 ब्रैंड्स मैट ने चुने हैं, वह सबसे ज्यादा profitable brands में से नहीं हैं फ़िर भी मैट के वो सबसे सक्सेसफुल brands हैं क्योंकि सक्सेस का मतलब सिर्फ पैसे Tीं है। 44 ATT 10 ना। brands हैं क्योंकि सक्सेस का मतलब सिर्फ पैसे कमाना नहीं होता। हमें जल्दी ही समझ आ जाएगा कि नीचे बताए गए ब्रैंड्स क्यों पहचाने जाने के लायक हैं। Responsibility Brand : Ben & Jerry’s Ben Cohen 3R Jerry Greenfield Ben and Jerry’sके founderहैं। उनका मानना था कि बिजनेस सोसाइटी का सबसे पावरफुल फोर्स है। इसलिए इस पर सोसाइटी के हित और सलामती की भी बड़ी जिम्मेदारी आती है। Spiderman की तरह ही Ben & Jerry’s भी इस बात को मानते थे की “बड़ी ताकत के साथ बड़ी जिम्मेदारी भी आती है”। 1978 में यह कंपनी Ben & Jerry’s Homemade Ice Cream Scoop Shop के रूप में शुरू हुई। इसे एक रिपेयर किए गए gas station में शुरू किया गया। इसकी शुरुआत Ben और Jerry ने $12000 के investment से की और उन्होंने आइसक्रीम बनाने का $5 का कोर्स भी किया। उस समय दोनों दोस्त मिलकर सिर्फ पैसा कमाना और कुछ मस्ती करना चाहते थे। वो free movie festivalऔर free ice cream days जैसे events होस्ट करने के लिए जाने जाने लगे। 1980 में, Ben और Jerry अपने शहर के आसपास के grocery stores में थोड़ी-थोड़ी quantity में अपनी आइसक्रीमdistributकरने लगे। अगले साल उन्होंने अपनी पहली franchise store खोली और A < अपना आइसक्रामdistributकरन लग। अगल साल उन्होंने अपनी पहली franchise store खोली और अपने packing operationको एक बड़ी फैक्ट्री में ट्रांसफर किया। उनकी डिमांड लगातार तेजी से बढ़ रही थी। उसके अगले साल, Ben Cohen इस बात से परेशान हो गए कि कंपनी बहुत सक्सेसफुल हो रही है। उन्हें यह डर था कि इसके कारण कंपनी में बदलाव आएगा। Ben ने अपनी परेशानी अपने दोस्त से बांटी, उन्होंने कहा, “बिजनेस, अपने फायदे के लिए society, एनवायरनमेंट और एमप्लोयीज़ सबका का फायदा उठाती करता है।” Ben और Jerry ने यह डिसाइड किया कि वह अपनी कंपनी बेच देंगे और आगे बढ़ जाएंगे। लेकिन उनके दोस्त की सलाह ने उनका मन बदल दिया। Maurice Purpora, जो एक सनकी artist हैं, ने उनसे कहा, “तुम दोनों कंपनी के मालिक हो। अगर तुम्हें कंपनी में कोई चीज पसंद नहीं आ रही तो तुम उसे कभी भी बदल सकते हो।” Ben को यह बात जंची और उन्होंने Jery से कहा कि वह यह कंपनी नहीं बेचेंगे। इसके बदले उन्होंने “caring capitalism” नाम का कॉन्सेप्ट अपनाने का मन बनाया। उसके बाद से Ben & Jerry’s सिर्फ अपने लाजवाब ice cream औरलोगों को attract करने के लिए दिलचस्प ऑफर्स देने के लिए ही मशहूर नहीं हुए बल्कि Caring capitalism उनका ट्रेडमार्क बन गया। ” -4 A < नहीं हुए बल्कि Caring capitalism उनका ट्रेडमार्क बन गया। इस कंपनी के caring capitalism का एक example है, Ben & Jerry’s Foundation जिसकी शुरुआत 1985 में की गई थी। इस foundation का मकसद था community projects को फंड करना। हर साल कंपनी अपने annual profitका 7.5% इस fund में डालती है। हर साल $2 million से शुरू हुआ यह फाउंडेशन समय के साथ बढ़ रहा है। दूसरा example है 1 Percent for Peacel यह भी एक non-profit organization है जो, US defense budget का एक परसेंट peace projects को देने का aim करती है। इसके अलावा Ben & Jerry’s American Children’s Defense Fund से भी जुड़े हुए हैं। कंपनी ने अपने dairy farmers को भी subsidy दी है और food productमें bio-engineered growth hormones के इस्तेमाल के खिलाफ campaign चलाया है। Ben & Jerry’s अपने employees के साथ अच्छे व्यवहार के लिए भी जाने जाते हैं। Salary, benefitऔर ज़रूरतों या परेशानी पर employees की राय जानने के लिए कंपनी Employee Work Life Surveyकरती है। इस सर्वे के रिजल्ट का इस्तेमाल Management काम करने के माहौल को बेहतर बनाने के लिए करती है। A < यह भी एक non-profit organization है जो, US defense budget का एक परसेंट peace projects को देने का aim करती है। इसके अलावा Ben & Jerry’s American Children’s Defense Fund से भी जुड़े हुए हैं। कंपनी ने अपने dairy farmers को भी subsidy दी है और food productमें bio-engineered growth hormones के इस्तेमाल के खिलाफ campaign चलाया है। Ben & Jerry’s अपने employees के साथ अच्छे व्यवहार के लिए भी जाने जाते हैं। Salary, benefitऔर ज़रूरतों या परेशानी पर employees की राय जानने के लिए कंपनी Employee Work Life Surveyकरती है। इस सर्वे के रिजल्ट का इस्तेमाल Management काम करने के माहौल को बेहतर बनाने के लिए करती है। 2000 में, इस कंपनी को Unilever ने खरीद लिया था। लेकिन Ben &Jerry’s ने अभी भी caring capitalism के अपने value को संभालकर रखा है। उनके Customers और employees पहले की तरह आज भी उतने ही satis I Ben Jerry’s ने साबित कर दिया है कि एक बड़ी कंपनी होने का मतलब बुरा होना नहीं है। आप हमेशा अपने values को चुन सकते हैं और उनपर टिके रह सकते हैं। । Brand Royalty: How the World’s Top 100 Brands T… Matt Haig People बैंड : ओपरा Winfrey ओपरा को अपना पहला ब्रेक 1985 में Steven Spielberg की फिल्म The Colour Purple में मिला। जिसके लिए वह Oscar nominate भी हुईं। इसके बाद धीरे -धीरे उन्होंने अपनी reputation सबसे successful ब्रैंड्स में से एक के तौर पर बनाई। The ओपरा Winfrey Show mid-1980में शुरू हुआ। यह ओपरा के लिए अपनी पर्सनैलिटी शेयर करने का एक परफेक्ट प्लेटफार्म बना। इसके जरिए वह अपने studio guests और audience से interact भी कर पाईं। कई बार उन्होंने celebrities, psychologists, authorzite ऐसे लोगों को अपने शो पर बुलाया जिनकी personal problemवह शो में हल कर सकें। रियलिटी टीवी आने के काफ़ी पहले से ओपेरा रियलिटी शो कर रही थीं। उन्होंने अपने viewers को अपना घर दिखाया, उन्होंने अपने पति, chef और nutritionist से उन्हें introduce कराया। उन्होंने अपनी diet routine के बारे में बात की। ओपरा आम अमेरिकन फैमिली में तुरंत hit हो गईं। उनकी annual income मिलियंस में पहुंच गई —…., 770 —–… IA उनकी annual income मिलियंस में पहुंच गई और उनके show को 38 Emmy Awardमिले। ओपरा अपने show की producer खुद हैं। उनkकी जादुई और चार्मिंग personality के अलावा उनके show की एक और खास बात है कि वह अपने शो की हाई क्वालिटी मेंटेन करती हैं। वह कभी भी किसी और को कॉपी करने या अपना स्टाइल बदलने की कोशिश नहीं की। यहां तक की जब Jerry Springer जैसे showshit हो रहे थे तब भी उन्होंने अपनी originality कायम रखी। ओपरा ने अपने शो को social और political मुद्दोंको दिखाने और उन पर चर्चा करने के लिए इस्तेमाल किया। 1991 में उन्होंने US National Child Protection Act campaign चलाया। इसका aim था बच्चों का शशां करने वाले अपराधियों का एक national database बनाना। 2 साल के बाद इसे मंजूर किया गया और इसे कानून बना दिया गया। इसे ” ओपरा ‘s Law” के नाम से जाना जाने लगा। उन्होंने “Harpo” नाम से एक बड़ा business empire भी बनाया। इसका नाम ओपरा के नाम की उल्टी स्पेलिंग थी। यह कंपनी उनके TV show produce करती है, मैगजीन निकालती है और डिज्नी के साथ फिल्मों में पार्टनरशिप करती है। ओपरा का Book Club भी बहुत फेमस है। यहाँ वह अपने शो में अपनी पसंद की books को promote करती हैं। उन्हें feature करते ही यहाँ वह अपने शो में अपनी पसंद की books को promote करती हैं। उन्हें feature करते ही books तुरन्त best-sellers बन जाते हैं. हालांकि मीडिया में उनके प्रोजेक्ट लगातार बढ़ रहे हैं, ओपरा ब्रैड ने अपने values और सच्चाईको बनाए रखा है। इतने साल गुज़र जाने के बाद भी ऐसी कोई घटना नहीं हुई या कोई मामला सामने नहीं आया जिसमें ओपरा चर्चा का विषय बनी हों या उनके नाम पर दाग लगा हो जैसे Martha Stewart जैसे दूसरे टीवी होस्ट के साथ हुआ है। 49 की उम्र में ओपरा ऐसी पहली african-americanऔरत बनी, जिनका नाम Forbes magazine की rich list में शामिल किया हया। उनके पास कुल $1 billion की प्रॉपर्टी है। : Pioneer is: Heinz “Our market is the world.” मतलब “पूरी दुनिया हमारी मार्केट है”, यह founder Henry Heinz ने 1876 में कहा था, जब उन्होंने अपनी कंपनी शुरू की थी। उस समय बहुत कम बिजनेसमैन वर्ल्ड लेवल पर सोच रहे थे। USA, Pennsylvania से, Henry Heinz, Heinz products से भरे बक्सों से भरी बोट लेकर Europe गए। उनमें से एक tomato ketchup था जो Heinz के सबसे पहले products में से एक है। WO A Europe गए। उनम स एक LUITILO KELClup था जो Heinz के सबसे पहले products में से एक है। Henry लंदन पहुंचे और वहां कई storeऔर restaurantमें गए। उनमें से एक Fortnum and Mason store था जो कि लंदन का बहुत ही फेमस और सम्मानित storeहै। Henry उस स्टोर के grand hall में गए और बिना डरे या घबराए, उनके food purchaser से मिलने के लिए पूछा। Purchaser ने Heinz के products को चखा और उन्हें वो बेहद पसंद आया। उन्होंने कहा “Mr. Heinz मुझे लगता है, हम आपके सारे प्रोडक्ट खरीद लेंगे।” जल्दी ही Heinz के salesmen पूरी दुनिया में productबेचने लगे। वह सब Mr. Heinz की ओर वफादार थे क्योंकि Mr. Heinz हमेशा यह ध्यान रखते थे कि उनके employees का अच्छे से ख्याल रखा जाए। अक्सर पूरे अमेरिका से businessmen Heinz कारखानों के साफ़, सुरक्षितऔर friendly माहौल के बारे में सुनकर वहां आया करते थे। Henry Heinz 1916 में गुजर गए, लेकिन 1965 तक उस कंपनी का मैनेजमेंट उनके परिवार के हाथ में रहा। उनके बेटे Howard ने अपने पिता की जगह कंपनी को लीड किया और जल्दी ही उनके पोते Jack भी कंपनी से जुड़ गए। Howard और Jack, दोनों ने मिलकर Heinz को एक भरोसेमंद और high-quality ब्रैंड के तौर पर बरकरार रखा। Hoinzcht famouc clogan “57 Variatioc!! A . माहौल के बारे में सुनकर वहां आया करते थे। Henry Heinz 1916 में गुजर गए, लेकिन 1965 तक उस कंपनी का मैनेजमेंट उनके परिवार के हाथ में रहा। उनके बेटे Howard ने अपने पिता की जगह कंपनी को लीड किया और जल्दी ही उनके पोते Jack भी कंपनी से जुड़ गए। Howard और Jack, दोनों ने मिलकर Heinz को एक भरोसेमंद और high-quality ब्रैड के तौर पर बरकरार रखा। Heinz cht famous slogan “57 Varieties” Henry से आया था। यह बात अजीब थी क्योंकि उस समय Heinz के 60 अलग-अलग वैरायटी के productथे, लेकिन फिर भी 57 Variety साथ रह गई और आज भी साथ है, जब Heinz पास 5,000 variety के product हैं। Heinz सिर्फ ketchup ही नहीं, बल्कि beans, baby food और Soup भी बेचता है। 1946 में, Jack Heinz ने इस business को एक public company में बदल दिया था । : जब यह बुक लिखी जा रही थी तब William Johnson Heinz के CEO थे। वह कंपनी के 130 साल में छठे CEO हैं। इस कंपनी में 50,000 से ज्यादा employees हैं। Heinz एक global ब्रैड बन गया, जैसा कि इसके founder, Henry Heinz ने सपना देखा था। Brand Royalty: How the World’s Top 100 Brands T… Matt Haig Innovation As: Adidas Adidas नाम, उसके founder Adolph “Adi” Dasslerके नाम से आया है। उन्हें modern sports goods industry का pioneer माना जाता है। Adi World War ] के समय जर्मनी में पले-बढ़े थे । जब वह teenager थे, तब वो अपने परिवार की, बचे हुए military bagसे चप्पल बनाने में मदद करते थे। लेकिन Adiको sports से बहुत प्यार था, खासकर फुटबॉल से। 1920 में, उन्होंने sports shoes बनाना शुरू किया। Adia trainers, coacheszit doctor उनकी राय जानने के लिए बात की। उन्होंने एक athlete होने का अपना खुद का experience भी इसमें डाला। शुरू से ही उनका ध्यान हर तरह के sport के लिए अलग तरह के जूते बनाने पर था। उनका मानना था कि दौड़ने के लिए, फुटबॉल के लिए या टेनिस के लिए जूतों में अलग अलग चीजों की ज़रूरत होती है। उनका बैंड Adidas ज़बरदस्त research के लिए जाना जाने लगा और इसने जल्द ही Adiको एक international reputation दिलाई। 1928 पो 4 -+In+………….में A-l:-I.. → international reputation दिलाई। 1928 से ही athletes ने Olympics में Adidas को पहनना शुरू कर दिया था। Athletes का मानना है कि Adidas सच में उनके खेल को बेहतर बनाता है, और वे इन जूतों को पहनना पसंद करते हैं। 1936 में हुए Berlin Olympics में, Jesse Owens ने Adidas running shoes पहनकर चार gold medalजीते। Armin Haryने भी Adidas के जूते पहने थे। वह 10 सेकंड में 100 मीटर की sprintrace पूरी करने वाले पहले runner बने। Sport की demandको पूरा करने के लिए AdiDasslerने अपनी लगन औरinnovation को बनाए रखा। फुटबॉल का ही example ले लें। Adiने महसूस किया कि भीगे हुए मैदान में आम football boots effective नहीं होते और इसलिए, वह जूतों के नीचे studs लगाने का आइडिया लेकर आए, जो players के performance को बेहतर बनाता है। यह design बहुत अच्छा साबित हुआ क्योंकि 1954 के World Cup में जर्मन टीम चैंपियन बनी। उन्होंने studs लगे हुए जूते पहने थे। वो Adi ही थे, जिन्होंने track पर दौड़ने वाले athletes की grip यानी पकड़ को बेहतर करने के लिए running shoes के नीचे spikes लगाए थे । इससे भी बढ़कर, Adiने यह पक्का किया कि वह अपनी shoes के लिए जितना हो सके उतना अच्छे raw material का इस्तेमाल करें। उन्होंने ormul। एमाला पर अपनी shoes के लिए जितना हो सके उतना अच्छे raw material का इस्तेमाल करें। उन्होंने उन materials पर कई testकिए जो उनके productको बेहतर बना सकते थे। उन्होंने शार्क और कंगारु की skin पर भी experiment करने की कोशिश की। लेकिन आखिरकार, उनके सबसे successful experiment #nylon shoes बने। Adi सिर्फ एक अच्छे innovator ही नहीं थे। marketing में भी माहिर थे। उन्होंने महसूस किया कि क्योंकि Adidas के पास अलग-अलग sports के लिए अलग-अलग जूते हैं, इसलिए उनके सभी productमें कुछ ऐसा होना चाहिए जो उसे एक अलग पहचान दे सके और इसलिए, 1949 में, उन्होंने three-stripes यानी तीन पट्टियों वाला logo बनाया। उन्होंने इसे अपने जूतों के किनारों पर बनवाया ताकि लोग उन जूतों को देखते ही पहचान जाएँ कि यह Adidas ब्रैंड के हैं। 1996 में, यह तीन stripes कंपनी का official logo बन गया । अभी तक,सबसे अच्छे sports performance का नाम आने पर Adidas का नाम लिया जाता है। यह बँड अब sportswear भी बेचने लगा है। जिससे यह बँड अब सिर्फ एक sports बैंड ही नहीं, बल्कि एक फैशन ब्रैड भी बन गया है। 1986 में, hip-hop group Run DMC ने एक गाना रिलीज किया,”My Adidas”, जो पूरी दुनिया में hit हआ। इसके बाद hin-hon community की कोशिश की। लेकिन आखिरकार, उनके सबसे successful experiment nylon shoes बने। Adi सिर्फ एक अच्छे innovator ही नहीं थे। वह marketing में भी माहिर थे। उन्होंने महसूस किया कि क्योंकि Adidas के पास अलग-अलग sports के लिए अलग-अलग जूते हैं, इसलिए उनके सभी productमें कुछ ऐसा होना चाहिए जो उसे एक अलग पहचान दे सके और इसलिए, 1949 में, उन्होंने three-stripes यानी तीन पट्टियों वाला logo बनाया। उन्होंने इसे अपने जूतों के किनारों पर बनवाया ताकि लोग उन जूतों को देखते ही पहचान जाएँ कि यह Adidas बैंड के हैं। 1996 में, यह तीन stripes कंपनी का official logo बन गया । अभी तक,सबसे अच्छे sports performance का नाम आने पर Adidas का नाम लिया जाता है। यह बँड अब sportswear भी बेचने लगा है। जिससे यह ब्रैड अब सिर्फ एक sports ब्रैड ही नहीं, बल्कि एक फैशन ब्रैड भी बन गया है। 1986 में, hip-hop group Run DMC ने एक गाना रिलीज किया,”MyAdidas”, जो पूरी दुनिया में hit हुआ। इसके बाद hip-hop community ने इस बैंड को अपना लिया। Missy Elliot जैसे artistअक्सर Adidas पहनते हैं। od A Brand Royalty: How the World’s Top 100 Brands T… Matt Haig Distribution is: Domino’s Pizza Domino’s Pizza वह पहला pizza joint या restaurantथा जिसने लोगों के घर तक पिज़्ज़ा डिलीवर करने का ऑफर शुरू किया था। यह पहला home-delivery pizza का बैंड है। इसके founder Thomas Monaghan सिर्फ 23 साल के थे जब उन्होंने ये business शुरू किया था। 1960 में, उन्होंने एक पिज्जा स्टोर खरीदा, जिसका नाम Dominick’s Pizza था। उनका global बैंड बनाने का कोई इरादा नहीं था। टॉम बस इतना पैसा कमाना चाहते थे कि वो Michigan यूनिवर्सिटी में पढ़ाई कर सके। पैसों की तंगी और restaurant industry के बारे में कम जानकारी होने के बावजूद टॉम ने अपना काम जारी रखा। 1965 में उन्होंने इस बिजनेस का नाम बदलकर Domino’s Pizza रखा और marketing का एक unique तरीका खोजने लगे। उन्होंने कस्टमर से बात की और यह महसूस किया दाम कम करना या स्वाद बेहतर करना ही काफी नहीं है क्योंकि ऐसे बहुत से pizza restaurantहैं जो पहले से यह technique इस्तेमाल कर रहे हैं। तब टॉम को यह पता चला कि लोग असल में चाहते हैं कि ति TT TART से पीटा। टॉम को यह पता चला कि लोग असल में चाहते हैं कि पिज़्ज़ा सीधा उनके घर में डिलीवर हो जाए। अगले 2 सालों में टॉम ने pizza order करने का effective system और pizza को जल्दी बनाने का तरीका developकिया। उन्होंने गारंटी के साथ 30 मिनट में pizzaडिलीवरकरने की service शुरू की। यह तरीका Michigan यूनिवर्सिटी के पास के उनके नए स्टोर में हिट हो गया और इसके successful होने के कारण टॉम अपनी पहली franchise बेच पाए। लेकिन सक्सेसफुल होने के रास्ते में परेशानियां भी आईं। उनकी कंपनी के main office में आग लग गई। Business के लगातार बढ़ने के कारण इसमें पैसे को लेकर भी परेशानियां आईं। 1970 तक, Domino’s Pizza के 42 branchतो थे, लेकिन कंपनी पर $1.5 million का कर्ज भी था। कंपनी तब 1,500 से ज्यादा creditors के साथ 100 से ज्यादा केस का सामना कर रही थी। टॉम इससे डटकर लड़े। उनका strong point है उनके employees में उनका long-term investment|उन्होंने उन्हेंज़बरदस्त staff training दी है। Domino’s Pizza के लगभग सभी franchisees ने अपने career की शुरुआत कंपनी में वहाँ के सबसे नीचे level की job करके की है। 1981 में, टॉम ने business के काम को decentralizeकर दिया यानी कंपनी के कंट्रोल को की है। 1981 में, टॉम ने business के काम को decentralizeकर दिया यानी कंपनी के कंट्रोल को एक जगह रखने के बजाय उसे कई छोटे-छोटे हिस्सों में बाँट दिया। इससे बिजनेस में बहुत growth हुई। उस साल, Domino’s Pizza के पूरे अमेरिका में 582 branchखुल चुके थे। इसके अलावा, 1980में, यह ब्रैड international बन गया। Domino’s ने UK, Australia, Canada, South America, 31k Japan # अपने storeखोले। 1990 तक, Domino’s के 5,000 storeऔर 1,000 franchises हो चुके थे। टॉम Monaghan 1998 में retireहो गए, लेकिन कंपनी लगातार बढ़ती रही। पूरी दुनिया में इसकी annual sales $4 billion तक पहुंच गई। कंपनी इतने मुकदमों, भारी कर्ज और दूसरेchallenges के होते हुए भी कैसे कामयाब होती रही? बेशक, इसमें हम टॉम के पक्के इरादे और लगातार डटकर लगे रहने के जुनून को देख सकते थे। लेकिन यहाँ ऐसे दो factor हैं जो सच में Domino’s Pizza को सबसे अलग बनाते हैं। पहला factor है लोग। दूसरे fast-food chainसे अलग, यह कंपनी अपने एम्प्लाइज में बहुत ज्यादा invest करती है। जब business कर्ज में डूब रहा था तब भी टॉम employee training में जितनी जरूरत है उतने resources देते रहे। उन्होंने ܩܫ ܩ A . रहा था तब भी टाम employee training में जितनी जरूरत है उतने resources देते रहे। उन्होंने promote-from-within policy की भी शुरुआत की। ज्यादातर manager और franchisee ने कंपनी के सबसे नीचे के level से शुरुआत की थी इसलिए employees को यह विश्वास था कि Domino’s सिर्फ एक part-time job ना होकर, उनके लिए career का रास्ता भी है। इसलिए वो इस बैंड के लिए वफ़ादार और समर्पित थे और हमेशा high-quality service देते थे। Domino’s to success Til CHRT factor innovation है। 1960 के दशक में, यह कंपनी मजबूत और टिकाऊ pizza box का इस्तेमाल करने वाली पहली कंपनी थी। इसने pizza को गर्म बनाए रखा और उसे नम या गीला होने से भी बचाया। इसने Domino’s Pizza के freshness और delicious taste को बनाए रखा जिसका मज़ा लोग घर बैठे भी उठा सकते थे। इनका एक और innovation है जिसका नाम spoodle है। जैसा कि नाम से ही पता चलता है, spoodle एक spoon और एक ladle का combination होता हैयानी एक बड़ा सा हैंडल जिसके नीचे कप के आकार का हिस्सा जुड़ा होता है। Domino’s ने इसे 1985 में invent किया था। यह pizza sauce को डालना और फैलाना जल्दी और आसान बनाता है। Brand Royalty: How the World’s Top 100 Brands T… Matt Haig : Advertiser 5: Calvin Klein Calvin Klein Uch fashion designer और वह कपड़े बेचते हैं, sex नहीं। फिर भी, Calvin Klein बैंड को उनकी advertising के कारण sex के साथ जोड़ा जाता है। Calvin Klein के ad हमेशा ही विवाद का मुद्दा रहे हैं। Example के तौर पर, 1990s में, actor Mark Wahlberg ने इस बैंड को promote किया था। उन्होंने सिर्फ Calvin Klein boxer shorts पहनकर अपने six-pack abs दिखाते हुए मॉडलिंग की थी। Calvin Klein co sexy 3iR controversial ads ने बहुत ज्यादा publicity बटोरी । इसने कपड़ों के classic कम से कम design रखने को एक ख़तरनाक रूप भी दिया। एक designer ब्रैड के तौर पर Calvin Klein affordable यानी किफ़ायती है। अगर आप इसके कपड़े afford नहीं भी कर सकते, तो आप इसके perfumegt aftershave variety at afford कर ही सकते हैं। All Done? Finished कपड़ allOTO नहा भा कर सकत, ता आप इसक perfumed aftershave varietynt afford कर ही सकते हैं। Calvin Klein के adसिर्फ इसलिए successful नहीं हैं कि वो sexy होते हैं बल्कि वो सस्पेंस बनाकर कोई क्लियर मैसेज ना देने के कारण भी दिलचस्पी को जगाते हैं। इसका मतलब है कि Calvin Klein gender, sexuality, और age की line को धुंधला कर देता है। इस ब्रैंड की favorite models में से एक है, Kate Moss| वह अपने androgynous लुक के लिए famous हैंयानी उनके लुक्स में लड़के और लड़की दोनों की झलक दिखाई देती है | Calvin Klein सबसे पहला unisex perfume बेचने वाला ब्रैड भी है। “One” और “Be” परफ्यूम औरतों और आदमियों दोनों के ही द्वारा पसंद किया जाता है। एक बार, Calvin Klein पर child pornography का इल्जाम लगा था। ऐसा इसलिए नहीं था क्योंकि कंपनी बच्चों को abuse कर रही थी, बल्कि इसलिए था क्योंकि उन्हें models की उम्र को लेकर शक था। Gender, sexuality और age में क्लैरिटी नाहोने के कारण, Calvin Klein के market में हर तरह के customers हैं। इसका market एक तरह के A < vidiochuuilty luy.। ייייי के कारण, Calvin Klein के market में हर तरह के customers हैं। इसका market एक तरह के customer तक limited नहीं है और इसलिए, यह Calvin Klein को सबसे universal और successful designer ब्रैंड्स में से एक बनाता है। Conclusion तो आपने Ben & Jerry’s, ओपरा Winfrey, Heinz, Adidas, Domino’s Pizzaऔर Calvin Klein के बारे में जाना। आपने success के उनके अलग अलग रास्तों के बारे में जाना। अगर इन top ब्रैड्स में कोई एक common factor है, तो वह clarity है। इसका मतलब है कि आपका बैंड सबसे अलग क्यों है और वो क्या है जो इसे दूसरे बैंड्स से अलग बनाता है, इसका एक strong और clear message होना। आप जहां भी जाते हैं, वहां आपको अनगिनत adनज़र आते हैं. आप क्या खाना चाहते हैं, क्या पहनना या ख़रीदना चाहते हैं, इसके लिए आपके पास हज़ारों optionहोते हैं। तो इस भीड़ से ऊपर उठने के लिए, आपके बैंड को consistent और आसानी से नजर में आ जाने वाला होना चाहिए। A < आपके बैंड को consistent और आसानी से नजर में आ जाने वाला होना चाहिए। धैंडिंग कंपनी का बाहर की दुनिया से communicate करने का तरीका है। ब्रैडलंबी-लंबीmeeting, complex business decisionऔर भी कई चीजों का मिलाजुला result alation market #consumers बहुत busy होते हैं और वो products को कुछ second में ही चुन लेते हैं। इसलिए उन तक पहुंचने का इकलौता तरीका है, एक clear message का होना। Ben & Jerry’s अपने caring capitalism के लिए जाने जाते हैं। Adidas अलग अलग sports के लिए अलग तरह के जूते बनाने के लिए जाने गए। Domino’s Pizza को quick home delivery के लिए जाना जाने लगा। Calvin Klein एक sexy controversial ब्रैंड के रूप में जाना जाने लगा। आपका बैंड किसलिए जाना जाएगा? आप कस्टमर्स को क्या message देना चाहते हैं? अगर आप अपने ब्रैड की यूनिक पहचान बनाना चाहते हैं Clear और consistent बने रहने की कोशिश कीजिए। वो कौन सी ख़ासियत है जो आपके ब्रैंड को हटकर बना सकती + to A. result होता है लेकिन market में consumers बहुत busy होते हैं और वो products को कुछ second में ही चुन लेते हैं। इसलिए उन तक पहुंचने का इकलौता तरीका है, एक clearmessage का होना। Ben & Jerry’s अपने caring capitalism के लिए जाने जाते हैं। Adidas अलग अलग sports के लिए अलग तरह के जूते बनाने के लिए जाने गए। Domino’s Pizza को quick home delivery के लिए जाना जाने लगा। Calvin Klein एक sexy controversial ब्रैड के रूप में जाना जाने लगा। आपका ब्रैड किसलिए जाना जाएगा? आप कस्टमर्स को क्या message देना चाहते हैं? अगर आप अपने बैंड की यूनिक पहचान बनाना चाहते हैं Clear और consistent बने रहने की कोशिश कीजिए। वो कौन सी ख़ासियत है जो आपके ब्रैंड को हटकर बना सकती है, उसे ढूंढिए. चैंडिंग की पॉवर में invest कीजिए। बस इन सभी बातों का ध्यान रखिएगा और हम कामना करते हैं कि आपका ब्रैडभी आसमान की ऊँचाइयों को छूए।

Leave a Reply